India may win the Test series by 3-2 against England
India batsman Shikhar Dhawan © Getty Images

भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड दौरे पर दुनिया की नंबर एक टीम का रुतबा लेकर पहुंची थी और सीरीज जीत की उम्मीद थी। पांच मैचों की सीरीज के खत्म होने से पहले विजेता का फैसला हो गया और अब भारत के लिए सिर्फ सम्मान की लड़ाई बच गई है।

टीम इंडिया को सीरीज के पहले दो मैच में ही हार का सामना करना पड़ा था। बर्मिंघम में खेले गए पहले ही मैच में दुनिया के नंबर एक टीम की बल्लेबाजी की पोल खुल गई। पहली पारी में 274 तो दूसरी में भारतीय टीम सिर्फ 162 रन पर सिमट गई। मुकाबले में 31 रन से हार का सामना करना पड़ा। दूसरे टेस्ट में भारतीय टीम पहली पारी में 107 जबकि दूसरी में 130 रन का स्कोर ही खड़ा कर पाई। नतीजा पारी और 159 रन की शर्मनाक हार मिली। सीरीज में पिछड़ने के बाद भारत ने तीसरा मुकाबला 203 रन से जीत लेकिन चौथे टेस्ट में हार के साथ ही सीरीज जीतने का सपना टूट गया।

हारी सीरीज में रिकॉर्ड बेहतर करने का मौका

पांचवें मैच में भारतीय टीम के सामने सीरीज का नतीजा 2-3 करने का मौका है। आखिरी टेस्ट में जीत से सीरीज के विजेता पर कोई फर्क तो नहीं पड़ेगा लेकिन टीम इंडिया को सम्मानजनक विदाई जरूर मिलेगी। अब तक भारत ने जो भी सीरीज हारी है उसमें एक भी मैच नहीं जीत पाई। साल 2014 में ही टीम एक मैच जीत पाई थी।

दूसरी बार हारे हुए सीरीज में मैच जीता

भारतीय टीम अब तक सिर्फ तीन बार इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतने में कामयाब रही है। हारे हुए सीरीज में अब तक स्कोर लाइन शून्य या एक ही रहा है। यह पहला मौका होगा जब भारतीय टीम सीरीज हारने के बाद भी दो मैच जीत सकती है। अब तक भारत को इंग्लैंड में खेले 13 सीरीज में हार मिली है जिसमें सिर्फ 2014 में स्कोर 3-1 का रहा था।