prieview-blog-hindi-vs

भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें पांच मैचों की वनडे सीरीज का पहला मैच खेलने के लिए चेन्नई पहुंच चुकी हैं। दोनों ही टीमें इस मैच के साथ विजयी आगाज करना चाहेंगी। इस सीरीज में लंबे अंतर की जीत दर्ज करने के साथ दोनों ही टीमों की निगाहें दक्षिण अफ्रीका को पछाड़ते हुए नंबर 1 वनडे टीम बनने पर होंगी। मौजूदा समय में दक्षिण अफ्रीका 119 रेटिंग अंकों के साथ शीर्ष पर है वहीं ऑस्ट्रेलिया और भारत 117-117 रेटिंग अंकों के साथ क्रमशः दूसरे और तीसरे पायदान पर हैं।

अगर इन दोनों टीमों में से कोई एक 4-1 से जीत दर्ज करने में सफल हो जाता है तो उसके 120 अंक हो जाएंगे और नंबर 1 का ताज उनके सिर पर होगा। जैसा कि दोनों ही टीमें अपने फन में माहिर हैं। ऐसे में मुकाबला दिलचस्प होने की पूरी-पूरी उम्मीद है।

पिछले दौरे में ऑस्ट्रेलिया को मुंह की खानी पड़ी थी: ऑस्ट्रेलिया ने पिछली बार भारतीय सरजमी पर द्विपक्षीय वनडे सीरीज साल 2013 में खेली थी। इस दौरान दोनों टीमों के बीच कुल 6 मैच खेले गए थे, जिसमें एक अनिर्णित रहा था। भारत ने सीरीज को 3-2 से अपने नाम किया था। अच्छी बात ये रही थी कि लगभग सभी मैच इस सीरीज में हाई-स्कोरिंग रहे थे जिसने दर्शकों को खूब इंटरटेन किया था। उम्मीद है कि वैसी ही टक्कर इस सीरीज में भी देखने को मिलेगी।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आखिरी वनडे साल 2016 में सिडनी में खेला गया था जिसमें भारत ने जीत दर्ज की थी लेकिन पिछले 6 वनडे मैचों के रिकॉर्ड को खंगालें तो टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के हाथों 5 मैच हारे हैं और उसे सिर्फ एक में ही जीत मिली है। जाहिर है कि टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया से अपनी हार का बदला जरूर लेना चाहेगी। [ये भी पढ़ें: ये बल्लेबाज करेगा रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग, कोहली ने किया खुलासा!]

भारतीय टीम: जैसा कि टीम इंडिया के नियमित ओपनर शिखर धवन ने शुरुआती मैचों से अपना नाम वापस ले लिया है। ऐसे में उनकी जगह ओपनिंग कौन करेगा इसको लेकर सवाल खड़े हो रहे थे। वैसे कप्तान कोहली ने मैच की संध्या पर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह साफ कर दिया कि अजिंक्य रहाणे ही रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करते नजर आएंगे। तीसरे नंबर पर विराट कोहली कमान संभालेंगे। वहीं चौथे नंबर पर केएल राहुल व मनीष पांडे में से किसी एक को जगह मिल सकती है।

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में राहुल लगातार असफल हुए थे। वहीं पांडे ने नाबाद अर्धशतक लगाया था। इसे देखते हुए पांडे को चौथे नंबर पर मौका मिल सकता है। पांचवें नंबर पर केदार जाधव अपनी भूमिका निभाते हुए नजर आएंगे। उन्होंने आखिरी मैच में शानदार अर्धशतक लगाया था। जाहिर है कि वह अपनी फॉर्म को यहां भी बरकरार रखना चाहेंगे। छठवें नंबर पर एमएस धोनी मुस्तैद रहेंगे। वहीं हार्दिक पांड्या सातवें नंबर पर अपनी भूमिका निभाएंगे।

जैसा कि कोहली ने साफ कर दिया है कि वह मैच में दो ऑलराउंडर और तीन गेंदबाजों के साथ उतरेंगे। इस लिहाज से तीन गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव हो सकते हैं। वहीं दो ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या हो सकते हैं। उल्लेखनीय है कि जडेजा को चोटिल अक्षर पटेल की जगह टीम इंडिया में शामिल किया गया है।

टीम इंडिया की संभावित प्लेइंग इलेवन: रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल/ मनीष पांडे, एमएस धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, रविंद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव।

पिछले पांच मैचों में टीम इंडिया का प्रदर्शन: पिछले पांच मैचों में टीम इंडिया के प्रदर्शन की बात करें तो यह जानदार रहा है। टीम इंडिया ने अपनी पिछली सीरीज में श्रीलंका को उसी की सरजमीं पर 5-0 से हराया है। ऐसे में उसके हौसले बुलंद हैं।

ऑस्ट्रेलिया टीम: ऑस्ट्रेलिया टीम के ओपनर एरन फिंच चोट के कारण शुरुआती मैचों से बाहर हो गए हैं। उनकी जगह टीम में पीटर हैंड्सकॉम्ब को लाया गया है। वैसे ये साफ नहीं है कि हैंड्सकॉम्ब को अंतिम एकादश में जगह मिलेगी कि नहीं। ओपनिंग में ट्रैविस हेड, डेविड वॉर्नर के साथ हाथ आजमाते हुए नजर आ सकते हैं। इस बात का संकेत खुद कप्तान स्टीवन स्मिथ ने दिया है। इन दोनों की जोड़ी पिछले सालों के दौरान खासी हिट रही थी।

तीसरे नंबर पर स्टीवन स्मिथ अपनी कमान संभालेंगे। वह भारत के खिलाफ खासे सफल रहे हैं और वह एक बार फिर से अपनी सफलता को दोहराना चाहेंगे। चौथे नंबर पर ताबड़तोड़ बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार होंगे।

अभ्यास मैच में बेहतरीन बल्लेबाजी को अंजाम देने वाले मार्क्स स्टोइनिस को टीम में जगह मिलने की संभावनाएं हैं। स्टोइनिस एक ऑलराउंडर हैं। दूसरे ऑलराउंडर के रूप में जेम्स फॉकनर जगह लेंगे। विकेटकीपर बल्लेबाज मैथ्यू वेड, भारतीय दौरे पर अपने बैट से कमाल दिखाने के लिए उत्सुक होंगे क्योंकि उनकी खराब बल्लेबाजी को लेकर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं।

एक अतिरिक्त बल्लेबाज के रूप में पीटर हैंड्सकॉम्ब या हिल्टन कार्टराइट में से किसी एक को जगह दी जा सकती है। वैसे हैंड्सकॉम्ब का दावा मजबूत है। गेंदबाजों में नाथन कूल्टर नाइल और पैट कमिंस तेज गेंदबाजी की अगुआई करेंगे। वहीं स्पिन विभाग की जिम्मेदारी एडम जांपा के कंधों पर होगी। उन्हें दूसरे छोर से सहयोग ग्लेन मैक्सवेल के रूप में मिलेगा। वहीं अन्य तेज गेंदबाजों की भूमिका फॉकनर और स्टोइनिस निभाएंगे।

ऑस्ट्रेलिया की संभावित अंतिम एकादश: डेविड वार्नर, ट्रैविस हेड, स्टीवन स्मिथ (कप्तान), ग्लेन मैक्सवेल, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), पीटर हैंड्सकॉम्ब, जेम्स फॉकनर, मार्क्स स्टोइनिस, एश्टन एगर, पैट कमिंस, एडम जांपा।

पिछले पांच मैचों में ऑस्ट्रेलिया का प्रदर्शन: ऑस्ट्रेलिया ने पिछले 5 मैचों में 2 जीते हैं और 3 हारे हैं। इस लिहाज से ऑस्ट्रेलिया का पिछले कुछ दिनों से प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है और वे इस सीरीज के साथ उस प्रदर्शन में सुधार करना चाहेंगे।