India vs Australia: 3 Indian bowlers most wickets against Australia in Tests: भारतीय क्रिकेट टीम आईपीएल 2020 के बाद ऑस्ट्रेलिया पहुंच चुकी है जहां मेजबान टीम के खिलाफ उसे 3 वनडे, 3 टी20 और 4 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है. सीरीज की शुरुआत 27 नवंबर से वनडे मैच से होगी.

इस सीरीज के जरिए कोरोनाकाल (Coronavirus Pandemic) में लगभग 9 महीने बाद टीम इंडिया इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करेगी.  पिछली बार विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती थी.  ऐसा पहली बार हुआ था जब भारतीय टीम कंगारूओं की सरजमीं पर मेजबान को मात देकर टेस्ट सीरीज अपने नाम किया था.

इस बार ऑस्ट्रेलियाई टीम पिछली हार का बदला लेने के इरादे से मैदान में उतरेगी. स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वॉर्नर (David Warner) की वापसी से ऑस्ट्रेलियाई टीम को मजबूती मिलेगी.  पिछली सीरीज में ये दोनों खिलाड़ी बैन की वजह से नहीं खेले थे.

आइए जानते हैं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में भारत की ओर से सबसे अधिक विकेट चटकाने वाले टॉप 5 गेंदबाजों पर नजर:-

अनिल कुंबले

भारतीय टेस्ट टीम के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 टेस्ट मैचों में कुल 111 विकेट चटकाए हैं.  ये किसी भारतीय गेंदबाज का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में सर्वाधिक विकेट है.  कुंबले ने वैसे तो 132 टेस्ट मैच अपने करियर में खेले हैं जिसमें उनके नाम 619 विकेट दर्ज हैं.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुंबले ने 10 बार 5 विकेट चटकाए हैं.

हरभजन सिंह

भारतीय क्रिकेट टीम से दरकिनार किए गए अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने अपने टेस्ट करियर में 103 टेस्ट मैचों में कुल 407 विकेट चटकाए हैं.  17 साल के अपने क्रिकेट करियर में भज्जी ने कई बार अपनी शानदार गेंदबाजी से टीम इंडिया को जीत दिलाई है.

टर्बनेटर के नाम से फेमस भज्जी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले 18 टेस्ट मैचों में कुल 95 विकेट झटके हैं.  भज्जी ने इस दौरान 7 बार 5 विकेट हॉल अपने नाम किया है.  हरभजन की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 2001 में 84 रन देकर 8 विकेट है.  भज्जी ने ये कारनामा एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए टेस्ट की दूसरी पारी में किया था.

कपिल देव

साल 1983 में अपनी कप्तानी में भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलाने वाले पूर्व ऑलराउंडर कपिल देव (Kapil Dev) ने अपने करियर में 131 टेस्ट मैच खेले जिसमें उनके नाम 434 विकेट दर्ज हैं.  कपिल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 टेस्ट मैचों में कुल 79 विकेट झटके.  इस दौरान उनकी गेंदबाजी औसत 25.35 रही.  16 साल के टेस्ट करियर में कपिल देव ने कई उपलब्धियां अपने नाम दर्ज की.  भारत की ओर से कपिल के बाद कोई भी तेज गेंदबाज टेस्ट में अब तक 400 का आंकड़ा नहीं छू पाया है.