रविंद्र जडेजा © Getty Images
रविंद्र जडेजा © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए चौथे टेस्ट की पहली पारी में रविंद्र जडेजा ने बेहतरीन बल्लेबाजी की। जडेजा ने भारत को दबाव से निकाला और मजबूत स्थिति पर पहुंचा दिया। जडेजा ने साहा के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 96 रनों की साझेदारी की और उन्होंने आउट होने से पहले 63 रनों की बहुमूल्य पारी खेली। जडेजा की ये पारी भारत के लिए बेहद अहम साबित हुई और टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया पर बढ़त हासिल कर ली। जडेजा ने अपनी पारी में 4 चौके और 4 छक्के जड़े। इसके साथ ही उन्होंने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। आइए नजर डालते हैं जडेजा की इस खास पारी में बने बड़े रिकॉर्डों पर।

किसी भी सत्र में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज: रविंद्र जडेजा ने चौथे टेस्ट की पहली पारी में 63 रन बनाए और इस दौरान उन्होंने 4 छक्के जड़े। इसके साथ ही वह अब भारत की तरफ से किसी भी सत्र में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। जडेजा 2016-17 में अब तक 21 छक्के जड़ चुके हैं। वहीं वह इस मामले में दुनिया के छठे बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे आगे एडम गिलक्रिस्ट (2004-05 में 26 छक्के), ब्रेंडन मैकलम (2014-15 में 24 छक्के), मैथ्यू हेडन (2003-04 में 21 छक्के), क्रिस क्रेन्स (1999-00 में 20 छक्के) और शाहिद अफरीदी (2005-06 में 20 छक्के) ही हैं। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया धर्मशाला टेस्ट का पूरा स्कोरकार्ड यहां देखें]

1000 रन और 100 विकेट झटकने वाले 10वें भारतीय: रविंद्र जडेजा ने चौथे टेस्ट में बल्ले और गेंद दोनों से ही जलवा दिखाया। इसके साथ ही उन्होंने एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम कर ली। जडेजा ने अपने करियर में 1000 टेस्ट रन और 100 विकेट हासिल किए। और ऐसा करने वाले वह भारत के कुल 10वें खिलाड़ी बन गए। जडेजा से पहले ये कारनामा वीनू मांकड़, कपिल देव, रवि शास्त्री, अनिल कुंबले, जवागल श्रीनाथ, हरभजन सिंह, जहीर खान, इरफान पठान और आर अश्विन ने ही किया था। इसके साथ ही जडेजा (1000 रन और 100 विकेट) ऐसा करने वाले दुनिया के कुल 63वें क्रिकेटर बन गए।

एक सत्र में 500 रन और 50 विकेट हासिल करने वाले तीसरे खिलाड़ी: रविंद्र जडेजा जिस तरह से खेल रहे हैं वह लगातार कई कीर्तिमान अपने नाम करते जा रहे हैं। इसी क्रम में उन्होंने एक और कीर्तिमान हासिल कर लिया। जडेजा ने एक सत्र में 500 से ज्यादा रन बनाए हैं और 50 से ज्यादा विकेट झटके हैं। इसके साथ ही एक सत्र में 500 रन और 50 विकेट का डबल पूरा करने वाले वह दुनिया के केवल तीसरे खिलाड़ी बन गए हैं। जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट में इस कारनामे को अंजाम दिया। जडेजा से पहले सिर्फ कपिल देव (1979-80 में 535 रन और 63 विकेट), मिचेल जॉनसन (2008-09 में 527 रन और 60 विकेट) ने ही इस मुकाम को हासिल किया था। अब जडेजा ने भी इस खास उपलब्धि को अपने नाम कर लिया है। जडेजा इस सत्र में अब (556 रन और पहली पारी तक 68 विकेट) हासिल कर लिए हैं। आंकड़ों से साफ है कि जडेजा एक सत्र में रन बनाने और विकेट लेने के मामले में बाकी दोनों खिलाड़ियों से काफी आगे हैं। ये भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं स्टीवन स्मिथ: ब्रैड हॉज

2016-17 सत्र में विकेट लेने और अर्धशतक जड़ने के मामले में संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर: 2016-17 में भारतीय टीम ने गजब का प्रदर्शन किया है। इस प्रदर्शन में रविंद्र जडेजा का भी अहम योगदान रहा है। जडेजा ने इस सत्र में अब तक 68 विकेट झटके हैं और इसके अलावा उन्होंने बल्लेबाजी में भी दम दिखाते हुए 6 अर्धशतक लगाए हैं। इसके साथ ही वह एक सत्र में सबसे ज्यादा विकेट और सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने के मामले में दूसरे स्थान पर आ गए हैं। विकेट लेने की बात करें तो उनसे आगे सिर्फ अश्विन (79) ही हैं। वहीं अर्धशतक लगाने के मामले में वह सिर्फ पुजारा (12) से पीछे हैं। वहीं कोहली, विजय और राहुल ने उनके बराबर (6) ही अर्धशतक लगाए हैं।

जडेजा ने की धोनी और कपिल देव की बराबरी: इस उपलब्धि को भी रविंद्र जडेजा ने अपने नाम कर लिया। जडेजा ने इस सत्र में सातवें या इससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए अब तक 6 अर्धशतक लगाए हैं। जडेजा ने इस मामले में एमएस धोनी और कपिल सरीखे खिलाड़ियों की बराबरी कर ली है। धोनी ने 2008-09 में 6 अर्धशतक लगाए थे, तो वहीं कपिल देव ने भी 1986-87 में 6 अर्धशतक ठोके थे। इस लिहाज से जडेजा ने एक सत्र में सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने के मामले में धोनी और कपिल देव की बराबरी कर ली है।