India vs Australia: Another top-order collapse hurts India in an away Test

भारतीय क्रिकेट टीम के टॉप ऑर्डर की नाकामी का दौर बदस्तूर जारी है। दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड के बाद ऑस्ट्रेलिया में भी उपरी क्रम के बल्लेबाजों ने तेज उछाल भरी पिच पर घुटने टेक दिए। एडिलेड टेस्ट के पहले दिन घंटे भर के भीतर भारतीय टॉप ऑर्डर पवेलियन में बैठा था।

वेस्टइंडीज के खिलाफ घर पर एक के बाद एक शतक जड़ रनों का पहाड़ लगाने वाले भारतीय धुरंधर ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर आते ही खामोश हो गए। एडिलेड टेस्ट के पहले दिन के खेल के 1 घंटे के अंतर केएल राहुल (2), मुरली विजय (11), विराट कोहली (3), अजिंक्य रहाणे (13) आउट होकर वापस लौट चुके थे। लंच तक भारत का स्कोर 4 विकेट पर 56 रन था।

इंग्लैंड में टॉप ऑर्डर ने टेके घुटने

पांच मैचों की सीरीज में 1-4 से हारकर लौटी भारतीय टीम की बल्लेबाजी बुरी तरह से नाकाम रही। बर्मिंघम टेस्ट की पहली पारी में 50 रन पर भारत का पहला विकेट गिरा था दूसरा 54 और 59 तक तीन विकेट गिर चुके थे। दूसरी पारी में 19, 22, 46, और 63 तक भारतीय टीम को चार झटके लग चुके थे।

पढ़ें:  भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में तय होगा, किसकी बल्लेबाजी बेहतर

लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में टीम का हाल और भी बुरा था। शून्य पर पहला विकेट गिरने के बाद 10, 15, 49 पर टीम के टॉप चार बल्लेबाज आउट हो चुके थे। दूसरी पारी में हाल ऐसा ही था शून्य पर पहला विकेट गिरा 13 पर दूसरा तो 35, 50 रन पर चार बल्लेबाज पवेलियन में बैठे थे।

तीसरे टेस्ट की पहली पारी में 60, 65, 82 रन पर तीन विकेट गिरे। दूसरी पारी में टीम का प्रदर्शन अच्छा रहा। चौथे टेस्ट की पहली पारी में सधी हुई बल्लेबाजी के बाद दूसरी पारी में हाल पहले जैसा नजर आया। 4, 17, 22 रन पर टॉप के तीन बल्लेबाज आउट होकर वापस लौट गए। आखिरी टेस्ट की पहली पारी में 6, 70, 101 रन पर तीन विकेट गिरे तो दूसरी पारी में 2 रन बनाते बनाते टॉप ऑर्डर निपट गया।

दक्षिण अफ्रीका में टॉप ऑर्डर फेल

केप टाउन टेस्ट की पहली पारी में टॉप के चार बल्लेबाजों ने जोड़े 57 रन तो दूसरी पारी में 71 रन के स्कोर तक चार बल्लेबाज आउट हो चुके थे। दूसरे टेस्ट में टॉप के चार बल्लबाजों ने जोड़े 132 रन दूसरी पारी की बात करें तो 49 रन बनाते बनाते भारत ने चारों टॉप ऑर्डर बल्लेबाज का विकेट गंवा दिया था।

पढ़ें:  ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के सामने बिखरा भारतीय टॉप ऑर्डर

तीसरा टेस्ट जहां भारतीय टीम ने जीत हासिल की इसकी पहली पारी में 113 रन पर भारत के चार विकेट गिर चुके थे जबकि दूसरी पारी में टॉप चार बल्लेबाजो ने जुटाए कुल 100 रन।

भारतीय बल्लेबाज घर पर भले ही शेर हो लेकिन विदेशी दौरों पर जाते ही उनके बल्ले पर लगाम लग जाती है। कोहली और शास्त्री का दावा है कि हमने पिछली गलतियों से सीखा है लेकिन प्रदर्शन तो कुछ और ही कह रहा है।