विराट कोहली © AFP (File Photo)
विराट कोहली © AFP (File Photo)

विराट कोहली ने वैसे तो कई मौकों पर भारतीय टीम को अपने बल्ले से जीत दिलाई है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक बड़े मुकाबले में मुश्किल छड़ों में कोहली ने जिस तरह का साहस दिखाया उसने उनका औहदा क्रिकेट बिरादरी में और ऊंचा बढ़ा दिया है। कोहली की इस बेहतरीन पारी की ही बदौलत एक सांसे थाम देने वाले मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 6 विकटों से हरा दिया। भारतीय टीम ने एक समय अपने चार विकेट महज 94 रनों पर गंवा दिए थे और टीम इंडिया को आखिरी पांच ओवरों में 59 रनों की जरूरत थी जो कतई आसान नजर नहीं आ रहे थे, लेकिन कोहली ने जैसे जीत को ऑस्ट्रेलिया के जबड़े से छीन कर भारतीय टीम के कदमों  में डाल दिया। शेन वॉटसन पारी का 17वां ओवर फेंकने आए और उन्होंने अपनी विविधता भरी गेंदों के आगे दोनों बल्लेबाजों को रन बनाने से रोके रखा और कुल 8 रन खर्च किए और अब  टीम इंडिया को 3 ओवरों में 39 रनों की जरूरत थी। ALSO READ: भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया मैच का फुल स्कोरकार्ड

कोहली ने फॉकनर को लिया आड़े हाथों: नए गेंदबाज फॉकनर पारी का 18वां ओवर फेंकने आए जो अपने कोटे का तीसरा ओवर फेंक रहे थे। फॉकनर ने इस ओवर के पहले दो ओवरों में महज 12 रन दिए थे। लेकिन इस ओवर की पहली ही गेंद पर कोहली ने स्कवेयर लेग का चौका जड़कर टीम इंडिया को ढाढस बंधाया। इसकी अगली ही गेंद पर कोहली  ने  प्वाइंट के बगल से खेलते हुए एक बार फिर से गेंद को बाउंड्री लाइन के बाहर पहुंचा दिया। तीसरी गेंद में इससे पहले की फॉकनर संभलते कोहली ने लॉन्ग ऑफ का जबरदस्त छक्का जड़ दिया और टीम इंडिया की लगभग इस सांस रोक देने वाले मुकाबले में वापसी करवा दी। इससे बाद अंतिम तीन गेंदों में दोनों बल्लेबाजों ने विकटों के बीच अच्छी दौड़ लगाते हुए पांच रन बटोरे। इस ओवर से कुल 19 रन बने और अब भारतीय टीम को अंतिम दो ओवरों में महज 20 रनों की दरकार थी। इस तरह फॉकनर का गेंदबाजी विश्लेषण बुरी तरह से बिगड़ गया और उन्होंने 3 ओवरों में 31 रन दे डाले। गौरतलब है कि एक बार कोहली ने फॉकनर की स्लेजिंग का जवाब देते हुए कहा था कि मैंने अपनी जिंदगी में तुम्हारी गेंदों पर खूब रन बरसाए हैं और उसका जीतता जागता नमूना कोहली ने एक बार फिर से प्रस्तुत कर दिया। ALSO READ: लाइव क्रिकेट अपडेट जानने के लिए क्लिक करें…

कूल्टर नाइल को जब कोहली ने दिखाए दिन में तारे: वक्त की नजाकत को देखते हुए कप्तान स्टीवन स्मिथ ने अपने मुख्य गेंदबाज कूल्टर नाइल को आक्रमण में लगाया। लेकिन कोहली ने पहली ही गेंद पर उन पर प्रहार करना चाहा लेकिन वे चूक गए। इसके बाद उन्होंने  दूसरी, तीसरी गेंद और चौथी गेंदों पर  लगातार तीन चौके जड़ते हुए  एक समय दूर नजर आ रही जीत को दबोच लिया और स्टीवन स्मिथ की योजना को फेल कर दिया। इस ओवर से 16 रन आए और अब टीम इंडिया को अंतिम 6 गेंदों में जीतने के लिए 4 रन चाहिए थे जिसकी कसर धोनी ने पहली गेंद पर चौका लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाकर पूरी कर दी। इस तरह विराट कोहली की विराट 51 गेंदों में 82  रनों की पारी की बदौलत टीम इंडिया ने विश्व कप टी20 2016 के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। भारत 31 मार्च को वेस्टइंडीज के विरुद्ध सेमीफाइनल में भिड़ेगा।