भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे सीरीज के दूसरे मुकाबले में छह विकेट चटकाए। पहली पारी में शमी को एक भी विकेट नहीं मिला था जबकि दूसरी पारी में उन्होंने करियर की बेस्ट गेंदबाजी करते हुए 6 विकेट हासिल किए।

भारत औऱ ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली रही टेस्ट सीरीज के दूसरे मुकाबले में भारतीय तेज गेदबाज मोहम्मद शमी ने दूसरी पारी में छह कंगारू बल्लेबाजों को आउट किया। शमी ने दूसरी पारी में 24 ओवर की गेंदबाजी कर 56 रन दिए और छह विकेट चटकाए।

हैट्रिक से चूके शमी

मोहम्मद शमी ने चौथे दिन 37 रन के स्कोर पर कप्तान टिम पेन का विकेट हासिल किए और उसके ठीक बाद पहले दिन चोटिल हुए ओपनर एरोन फिंच को आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। ऑस्ट्रेलियन पारी की 78.5 गेंद पर शमी ने पेन जबकि 78.6 गेंद पर फिंच का आउट किया। नए ओवर की पहली गेंद पर विकेट लेकर उनके पास हैट्रिक बनाने का मौका था लेकिन वह चूक गए।

शमी निकले मैक्ग्रा और ब्रेट ली से आगे

यह शमी के करियर का टेस्ट में बेस्ट प्रदर्शन है। इसी के साथ उन्होने दोनों देशों के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज में एक पारी में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ग्रेन मैक्ग्रा और ब्रेट ली को पीछे छोड़ दिया है। दोनों देशों के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज में मैक्ग्रा और ब्रेट ली ने एक पारी में सबसे ज्यादा 5 विकेट ही हासिल किए हैं जबकि शमी ने छह विकेट लेने का करानामा कर दिखाया।

चौथे सफल भारतीय गेंदबाज

पूर्व कप्तान कपिल देव, अनिल कुंबले और भागवत चंद्रशेखर के बाद मोहम्मद शमी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ छह या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले चौथे गेंदबाज बन गए हैं। कपिल देव ने ने 106 रन देकर 8 विकेट जबकि अनिल कुंबले ने 141 रन देकर 8 विकेट हासिल किए थे। चंद्रशेखर ने 52 रन देकर 6 विकेट चटकाए थे जबकि शमी ने 56 रन देकर 6 विकेट लेने का कारनामा किया है।