भारतीय टीम को अपने अगले मुकाबले में बांग्लादेश की चुनौती से निपटना होगा © Getty Images
भारतीय टीम को अपने अगले मुकाबले में बांग्लादेश की चुनौती से निपटना होगा © Getty Images

भारतीय टीम विश्व कप के अपने अगले मुकाबले में बांग्लादेश के साथ भिड़ेगी। भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ जीत हासिल कर जीत की पटरी पर लौट चुकी है जो मुश्किल दौर से गुजर बांग्लादेश के लिए बुरी खबर है। भारतीय टीम ने अपने पिछले मैच में पाकिस्तान को करारी शिकस्त दी थी। ऐसे में भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ जीत हासिल कर जीत सेमीफाइनल के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करना चाहेगी। भारत ना सिर्फ इस मैच को जीतना चाहेगी बल्कि बड़े अंतर से जीतना चाहेगी ताकि उसका रन रेट बेहतर हो सके। भारत ने अभी तक अपने दो मैचों में एक हार और एक जीत हासिल की है जबकि बांग्लादेश को पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोनों मुकाबलों में मुंह की खानी पड़ी है। बांग्लादेश अगर भारत से हार जाता है तो उसके लिए विश्व कप में अंतिम चार में जगह बनाने का सपना टूट जाएगा। ALSO READ: लक्ष्य का पीछा करने का मास्टर: विराट कोहली

बात करें भारतीय टीम की तो पिछले मैच में विराट कोहली और युवराज सिंह ने टीम को जीत दिलाई थी। दोनों सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और रोहित शर्मा के बल्ले से रन नहीं निकले हैं। जबकि मध्य क्रम में सुरेश रैना का लगातार फ्लॉप होना कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की चिंता का कारण है। धोनी इस मैच में युवराज को रैना से पहले नंबर चार पर बल्लेबाजी करने भेज सकते हैं जोकि रैना की खराब फॉर्म को देखते हुए सही फैसला भी होगा। कप्तान धोनी को अपने बल्ले की ताकत दिखाने का मौका अभी तक नहीं मिल सका है। ALSO READ: सुरेश रैना की खराब फॉर्म बनी भारतीय टीम की चिंता का सबब

भारत के लिए फील्डिंग और गेंदबाजी प्लस प्वाइंट हैं। भारतीय टीम की फील्डिंग में जहां मैच दर मैच सुधार देखने को मिल रहा है तो दूसरी तरफ भारतीय गेंदबाजी लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही है। तेज गेंदबाजी में आशीष नेहरा और जसप्रीत बुमराह अपनी जिम्मेदारियों को पूरी शिद्दत से निभा रहे है तो स्पिन गेंदबाजी की बागडोर को अश्विन ने बखूबी संभाला है। रवीन्द्र जडेजा और हार्दिक पांड्या सहयोगी गेंदबाज की भूमिका को अच्छे से निभा रहे है। फिलहाल धोनी को गेंदबाजी की कोई चिंता नहीं है।

दूसरी ओर बांग्लादेश की बात करें तो मुस्तफिजुर की वापसी बांग्लादेश के लिए अच्छी खबर है लेकिन तस्कीन की कमी बांग्लादेश को खलेगी। तमीम इकबाल भी भारत के साथ होने वाले मुकाबले तक फिट हो सकते है। अगर तमीम भारत के खिलाफ वापसी करते हैं तो बांग्लादेश की बल्लेबाजी को मजबूती मिल जाएगी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ साकिब अल हसन और मेहम्मदुल्लाह ने अच्छी बल्लेबाजी की थी। टॉप ऑर्डर में सौम्य सरकार का फ्लॉप होना बांग्लादेश के लिए चिंता का कारण है।

तेज गेंदबाजी की कमान एक बार फिर से मुस्ताफिजुर और अल अमीन के कंधों पर होगी। मशरफे मुर्तजा तीसरे तेज की भूमिका निभा सकते हैं। स्पिन गेंदबाजी की कमान साकिब के कंधों पर होगी सकलेन साजीब और मेहम्मदुल्लाह सहयोगी स्पिनर की भूमिका निभाएंगे।

दोनों टीमें इस प्रकार है:
भारत:
रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, युवराज सिंह, सुरेश रैना, महेन्द्र सिंह धोनी(कप्तान), हार्दिक पांड्या, रवीन्द्र जडेजा, रविचन्द्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, आशीष नेहरा, मोहम्मद शमी, अजिंक्य रहाणे, पवन नेगी, हरभजन सिंह, भुवनेश्वर कुमार।

बांग्लादेश:
तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, शब्बीर रहमान, साकिब अल हसन, मेहम्मदुल्लाह, शुवागाता, मुशफिकुर रहीम(विकेटकीपर), सकलेन साजीब, मशरफे मुर्तजा(कप्तान), अल अमीन, मुस्ताफिजुर रहमान, नासिर हुसैन, मोहम्मद मिथुन, अबू हैदर, नुरूल हसन।