India vs England 2018: Virat Kohli completes 10 years in International Cricket
Virat Kohli (File Photo) © Getty Images

भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली ने शनिवार को नॉटिंघम टेस्‍ट में उतरने के साथ ही एक नया कीर्तिमान अपने नाम किया। विराट कोहली ने 18 अगस्‍त को 2008 को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में अपना डेब्‍यू किया था। आज उन्‍हें अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में पूरे 10 साल का वक्‍त हो गया है।

भारत को दिलाया अंडर-19 विश्‍व कप

इन 10 सालों के दौरान विराट कोहली ने अपने जीवन में कई नई ऊंचाईयां छूई। 18 अगस्‍त 2008 को विराट कोहली ने श्रीलंका के दांबुला में टेस्‍ट मैच में अपना डेब्‍यू किया था। हालांकि वो इस मैच में कुछ खास नहीं कर सके। इसी साल आईसीसी अंडर-19 विश्‍वकप में विराट कोहली की कप्‍तानी में भारतीय टीम ने दूसरी बार भारत को टाइटल दिलाया। जिसके बाद वो सुर्खियों में आ गए।

सभी फॉर्मेट में खेलते हैं विराट कोहली

अपने चौथे अंतरराष्‍ट्रीय मैच में विराट ने अर्धशतक लगाया। शतक तक पहुंचने के लिए उन्‍हें 10वीं पारी तक इंतजार करना पड़ा। इसके बाद विराट कोहली ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में नए कीर्तिमान बनाए। मौजूदा समय में वो भारतीय क्रिकेट में एकलौते खिलाड़ी हैं जो सभी फॉर्मेट में खेलते हैं। मौजूदा टेस्‍ट सीरीज में विराट कोहली ने इंग्‍लैंड में अपना पहला टेस्‍ट शतक बनाया। इससे पहले तक इंग्‍लैंड में उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा था।

शतकों का शतक बनाने के दावेदार

क्रिकेट के इतिहास में केवल सचिन तेंदुलकर एकलौते खिलाड़ी हैं जो शतकों का शतक बना पाए हैं। मौजूदा समय के खिलाड़ियों पर नजर डाले तो केवल विराट कोहली ही एक ऐसे बल्‍लेबाज नजर आते हैं जो सचिन के रिकॉर्ड को तोड़ने की रेस में नजर आते हैं। विराट अभी 29 साल के हैं और वो टेस्‍ट में 22 व वनडे में 35 शतक बना चुके हैं।

सबसे तेज आठ हजार रन

विराट कोहली ने साल 2013 में महज 52 गेंद पर शतक लगाया था। इसके अलावा वनडे में सबसे तेज आठ हजार और नौ हजार रन पूरा करने का रिकॉर्ड भी विराट कोहली के ही नाम है। विराट वनडे में 10 हजार रन पूरे करने के काफी करीब हैं। वो 211 वनडे में 58.20 की औसत से अबतक 9,779 रन बना चुके हैं।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाए 500 से ज्‍यादा रन

विराट कोहली ने इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में 558 रन बनाए थे। छह मैचों की सीरीज के दौरान विराट शानदार फॉर्म में थे। वो वनडे सीरीज के दौरान किसी भी द्विपक्षीय सीरीज में सबसे तेजी से 500 रन बनाने वाले खिलाड़ी बने।