भारत बनाम इंग्लैंड  © AFP
भारत बनाम इंग्लैंड © AFP

भारत के हाथों टेस्ट और वनडे सीरीज गंवाने के बाद, इंग्लैंड ने आखिरकार टी20I सीरीज की शुरुआत जीत से की है। कानपुर में खेले गए पहले टी20I में ऑइन मॉर्गन की अगुआई वाली इंग्लैंड टीम ने टीम इंडिया पर इतना करारा हमला किया कि कहीं से भी संभलने का मौका नहीं मिला और अंततः 8 विकेट से शिकस्त का सामना करना पड़ा। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड ने टी20I सीरीज में 1-0 से बढ़त ले ली है। ये बढ़त इंग्लैंड के लिए महत्वपूर्ण इसलिए भी है क्योंकि छोटी सीरीज में जब भी कोई टीम बढ़त ले लेती है तो उससे हमेशा उन्हें मदद मिलती है। इस लिहाज से इंग्लैंड टीम के पास मौका है कि वह टी20 सीरीज जीतते हुए इस निराशाभरे दौरे का अंत जीत के साथ करे। वहीं दूसरी ओर टीम इंडिया जाहिर तौर पर पिछले कदमों पर होगी। अगर टीम इंडिया दूसरा मैच हार जाती है तो विराट कोहली का सभी फॉर्मेटों में बतौर कप्तान सीरीज न हारने का सिलसिला टूट जाएगा। नागपुर टी20I में जब टीम इंडिया उतरेगी तो कप्तान कोहली को टॉस से ज्यादा ओपनिंग जोड़ी की चिंता सता रही होगी।

बात करें केएल राहुल की तो वह अब तक आउट ऑफ फॉर्म नजर आए हैं। वह अपनी अंतिम चार पारियों में 8, 11, 5 और 8 का स्कोर बना पाए हैं। इतने खराब प्रदर्शन के बावजूद भी ऐसा लगता है कि कोहली का राहुल से मोह भंग नहीं हुआ है। उन्होंने कहा था कि टीम प्रबंधन ओपनरों का लगातार बचाव करता रहेगा क्योंकि उन्होंने टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया है। वैसे टीम इंडिया की चिंता ओपनिंग पर ही आकर नहीं रुक जाती, क्योंकि टीम के तेज गेंदबाज भी आजकल बेरंग चल रहे हैं। जसप्रीत बुमराह जो वनडे सीरीज में खूब रन लुटाते हुए नजर आए थे। उनका वही हाल पहले टी20 में भी देखने को मिला। वहीं आशीष नेहरा वापसी में रंग में नहीं दिखे। दूसरे टी20I मैच के लिए कोहली को टीम में कुछ परिवर्तन करने पड़ सकते हैं। यह इसलिए भी क्योंकि इस मैच में जीत बेहद जरूरी है। वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड अपनी अंतिम एकादश में कोई परिवर्तन नहीं करना चाहेगी। तो आइए नजर डालते। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड, दूसरा टी20I, नागपुर(प्रिव्यू): मेजबान टीम के लिए करो य मरो का होगा मुकाबला]

शीर्ष क्रम: जैसा कि चोटिल होने के कारण रोहित शर्मा टीम से बाहर चल रहे हैं। इसलिए टीम इंडिया को ओपनिंग विभाग में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कोहली को कोई विकल्प न होने के कारण पहले मैच में ओपनिंग करनी पड़ी थी। यही भूमिका वह दूसरे मैच में भी अदा कर सकते हैं। हां ये हो सकता है कि केएल राहुल की जगह उनका पार्टनर कोई और हो। राहुल अब तक रन बनाने में नाकामयब रहे हैं। ऐसे में उनकी रिषभ पंत या मंदीप सिंह को टीम में मौका दिया जा सकता है। मंदीप सिंह अब तक टीम इंडिया की ओर से कुल तीन टी20I मैच खेल चुके हैं और इन तीनों मौकों पर उन्होंने ओपनिंग की है। हालांकि, अभ्यास मैच में मंदीप कुछ खास नहीं कर सके थे इसलिए रिषभ के मौके ज्यादा बन रहे हैं। नंबर तीन पर सुरेश रैना एक बार फिर से अपना दम दिखाने को तैयार होंगे। उन्होंने पहले मैच में 23 गेंदों में 34 रन जड़े थे। इस मैच में वह अपने स्कोर को 50 से ऊपर ले जाने को आतुर होंगे। वहीं इंग्लैंड की बात करें तो वह अपनी ओपनिंग जोड़ी के साथ छेड़खानी नहीं करना चाहेंगे। जेसन रॉय ने हालिया वनडे सीरीज में धमाकेदार प्रदर्शन किया था। वहीं सैम बिलिंग्स ने कानपुर टी20 में इंग्लैंड को तूफानी शुरुआत दी थी। इसलिए एक बार फिर से ये दोनों मेहमान टीम की ओपनिंग जोड़ी का भार उठाते नजर आएंगे। वहीं, इंग्लैंड के स्टार बल्लेबाज जो रूट तीसरे क्रम पर अपनी जिम्मेदारी उठाएंगे।

मध्यक्रम: पहले टी20I में जब टीम इंडिया का मध्यक्रम भरभराने लगा तो केदार जाधव सबको याद आए। लेकिन उनके बार में बातचीत करना फिजूल होगी क्योंकि वह टीम इंडिया की टी20I टीम के सदस्य ही नहीं हैं। नंबर चार और नंबर पांच पर टीम इंडिया के दो दिग्गज खिलाड़ी धोनी औ युवराज नजर आएंगे। धोनी पहले टी20I में 36* रन बनाकर टीम इंडिया की ओर से सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले खिलाड़ी रहे थे। लेकिन वह इस दौरान आक्रामक स्ट्रोक नहीं लगा सके। ये एक ऐसा क्षेत्र है जिसपर एमएस को कार्य करने की जरूरत है। मनीष पांडे जिनका 7, टी20I के बाद औसत 14 का है। वह इस फॉर्मेट में अब तक अपने मौकों का फायदा नहीं उठा सके हैं। अगर उन्हें नागपुर में मौका मिलता है तो वह इस मौके को जरूर भुनाना चाहेंगे। हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या नंबर सात पर बल्लेबाजी करते हुए नजर आएंगे। इंग्लैंड के मध्यक्रम को पहले मैच में परीक्षा ही नहीं देनी पड़ी क्योंकि उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका ही नहीं मिला। वैसे उनका मध्यक्रम काफी बढ़िया नजर आता है। कप्तान ऑइन मॉर्गन ने आउट होने से पहले 51 रनों की पारी खेली थी। उनके अलावा जोस बटलर, मोईन अली, बेन स्टोक्स को कानपुर टी20I में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला। लेकिन मॉर्गन और इन तीनों के साथ इंग्लैंड का मध्यक्रम बेहतरीन दिखाई देता है।

गेंदबाजी विभाग: पहले टी20I में रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन की अनुपस्थिति में भारतीय स्पिनरों यजुवेंद्र चहल और परवेज रसूल ने बढ़िया काम किया था। मुख्य रूप से चहल अपनी गेंदों में विविधताओं के कारण ज्यादा असरकारी नजर आए थे। उन्होंने अंततः दो विकेट ले डाले और दूसरे मैच के लिए अपनी टीम में जगह पक्की कर ली। चहल की सफलता को देखते हुए शायद की कोहली अमित मिश्रा को खिलाने की सोचें। हां, हो सकता है कि कोहली रसूल की जगह मिश्रा को जगह दें। तेज गेंदबाजी विभाग में दोनों नेहरा और बुमराह आम गेंदबाज नजर आए हैं। ऐसे में दोनों में से किसी एक की जगह भुवनेश्वर कुमार को अंतिम एकादश में जगह दी जा सकती है। इंग्लैंड के लिए गेंदबाजी विभाग में किसी भी प्रकार से चिंता करने की जरूरत नहीं है। जो पांच गेंदबाज उन्होंने पहले मैच में इस्तेमाल किए सभी ने विकेट लिए। खासतौर पर प्लेयर ऑफ द मैच रहे मोईन अली, टाइमन मिल्स और क्रिस जॉर्डन ने टीम इंडिया के बल्लेबाजों को खूब परेशान किया। ऐसे में शायद ही इंग्लैंड टीम अपने गेंदबाजी विभाग में परिवर्तन करेगी।

दूसरे टी20I के लिए टीम इंडिया की संभावित अंतिम एकादश: ऋषभ पंत, विराट कोहली(कप्तान), सुरेश रैना, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), मनीष पांडे, हार्दिक पंड्या, अमित मिश्रा, यजुवेंद्र चहल, आशीष नेहरा, भुवनेश्वर कुमार।

दूसरे टी20I के लिए इंग्लैंड की संभावित अंतिम एकादश: जेसन रॉय, सैम बिलिंग्स, जो रूट, ऑइन मोर्गन(कप्तान), जोस बटलर(विकेटकीपर), बेन स्टोक्स, मोइन अली, लियाम प्लंकेट, टाइमल मिल्स, आदिल रशीद, क्रिस जॉर्डन।