इंग्लैंड क्लीन स्वीप से बचने के लिए कोलकाता के मैदान पर उतरेगी। © Getty Images
इंग्लैंड क्लीन स्वीप से बचने के लिए कोलकाता के मैदान पर उतरेगी। © Getty Images

भारत बनाम इंग्लैंड तीसरा वनडे आज कोलकाता के ईडन गार्डन स्टेडियम में खेला जाना है। भारत पहले ही कटक वनडे जीतकर सीरीज पर 2-0 से कब्जा कर चुका है और आखिरी वनडे में विराट सेना इंग्लैंड को क्लीन स्वीप करने के इरादे से उतरेगी। वहीं इंग्लैंड टीम का प्रदर्शन कटक वनडे में बेहतरीन रहा था। वह केवल 15 रन के अंतर से हारे। अब आखिरी वनडे में इंग्लैंड टीम क्लीन स्वीप के खतरे को टालने के लिए उतरेगी। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि इयॉन मॉर्गन कोलकाता वनडे के लिए किन खिलाड़ियों को अंतिम एकादश में शामिल कर सकते हैं। ये भी पढ़े: एलेक्स हेल्स की जगह जॉनी बेयरेस्टा इंग्लैंड की टी20 टीम में

शीर्ष क्रम: इंग्लैंड के दोनों ही सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय और एलेक्स हेल्स का प्रदर्शन अब तक शानदार रहा है इसलिए बदलाव की कोई गुंजाइश नहीं थी। लेकिन मैच से ठीक पहले एलेक्स को दाएं हाथ में लगी चोट के कारण टीम से बाहर होना पड़ा। वह भारत दौरे पर आगे भी हिस्सा नहीं ले पाएंगे और स्वदेश वापस लौटेंगे। कटक वनडे में फील्डिग के दौरान उन्हें यह चोट लगी थी जो बाद में काफी गंभीर हो गई। इंग्लैंड टीम के पास विकल्प के तौर पर लियाम डॉसन, जॉनी बियरस्टो और सैम बिलिंग्स हैं लेकिन कोई भी पूर्ण सलामी बल्लेबाज नहीं है ऐसे में मॉर्गन को बल्लेबाजी क्रम में कई फेर बदल करने होंगे। वैसे इन तीनों बल्लेबाजों में से अनुभव के आधार पर बियरस्टो का टीम में शामिल होना मुमकिन है। हालांकि तीसरे स्थान पर जो रूट की जगह पक्की रहेगी। ये भी पढ़े: भारत बनाम इंग्लैंड तीसरे वनडे में होंगे यह रोमांचक मुकाबले

मध्य क्रम: इंग्लैंड टीम का मध्य क्रम काफी मजबूत है। चौथे स्थान पर कप्तान मॉर्गन स्वंय बल्लेबाजी करते हैं। जिनका प्रदर्शन दोनों मैचों में लाजवाब रहा था। वहीं पांचवें स्थान पर हैं बेन स्टोक्स जैसे बेहतरीन ऑल राउंडर। वहीं छठें नंबर की जिम्मेदारी संभालेंगे जॉस बटलर जो कि वनडे से सफल बल्लेबाज हैं। हालांकि कटक वनडे में बटलर कुछ खास नहीं कर पाए थे लेकिन इससे उनकी योग्यता कम नहीं होती।

निचला क्रम: इंग्लैंड टीम कटक में 381 रन का पीछा करते हुए जीत के इतना करीब आ सकी तो उसका सबसे बड़ा कारण यह है कि इस टीम का बल्लेबाजी क्रम काफी लंबा है। जिस प्रकार आजकल वनडे मैचों में 350-400 रन बनने लगें हैं निचले क्रम के बल्लेबाजों की अहमियत काफी बढ़ गई हैं। इंग्लैंड के लिए यह भूमिका निभाते हैं मोइन अली और क्रिस वोक्स। दोनों ही खिलाड़ी गजब के ऑल राउंडर हैं।

गेंदबाजी: कोलकाता के मैदान पर यूं तो स्पिन का दबदबा माना जाता है लेकिन अच्छी लेंथ पर गेंद कराने वाले तेज गेंदबाज भी विकेट चटका लेते हैं। इंग्लैंड के पास मोइन अली हैं वहीं जो रूट भी कई बार अपनी टीम के लिए गेंदबाजी कर चुके हैं। वहीं क्रिस वोक्स, जेक बॉल और बेन स्टोक्स के टीम में रहने से इंग्लैंड का गेंदबाजी पक्ष काफी मजबूत है। साथ ही डेविड विली और लियाम प्लंकेट भी विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।

इंग्लैंड की संभावित एकादश कुछ इस प्रकार हो सकती है: इयॉन मोर्गन (कप्तान), जेसन रॉय, जो रूट, मोईन अली, जॉनी बियरस्टो, बेन स्टोक्स, जॉस बटलर, डेलिड विली, क्रिस वोक्स, जेक बॉल, लियाम प्लंकेट।