इंग्लैंड को क्लीन स्वीप करने उतरेगी भारतीय टीम।© Getty Images
इंग्लैंड को क्लीन स्वीप करने उतरेगी भारतीय टीम।© Getty Images

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा और आखिरी वनडे कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला जाना है। टीम इंडिया सीरीज पर तो कब्जा कर ही चुकी हैं और इंग्लैंड को क्लीन स्वीप करने के लिए भारत को यह आखिरी मैच भी जीतना होगा। भारतीय टीम के सभी खिलाड़ी अच्छी फॉर्म में हैं इसलिए टीम किसी भी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं हैं। कटक वनडे में विराट कोहली के आउट होने के बाद इंग्लैंड टीम को जीत दिखने लगी थी लेकिन युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी ने शतकीय पारियां खेलकर टीम को जीत दिलाई। वहीं भारतीय टीम की एक परेशानी जो दोनों ही मैचों में बरकरार रही वह है सलामी जोड़ी। इस पक्ष पर भी कप्तान कोहली को ध्यान देना होगा। आइए जानते हैं कि तीसरे वनडे में किन खिलाड़ियों को टीम में जगह मिलेगी और कौन अंतिम एकादश से बाहर होगा। ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड तीसरे वनडे में होंगे ये रोमांचक मुकाबले

शीर्ष क्रम: सलामी जोड़ी ने टीम को दोनों मैचों में काफी निराश किया था। वहीं शिखर धवन के तीसरे वनडे से पहले अस्पताल जाने के बात सामने आई हैं जिसके बाद मुमकिन है कि वह तीसरे वनडे से बाहर रहें। हालांकि के एल राहुल भी अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे थे लेकिन सलामी बल्लेबाज के लिए टीम में ज्यादा विकल्प नहीं है। हो सकता है कि कोलकाता वनडे में अजिंक्य रहाणे भारतीय पारी की शुरुआत करते दिखें। अब रहाणे की टीम में जगह बनाने के लिए धवन और राहुल में से किसी एक को बाहर रहना होगा और ज्यादा उम्मीद धवन के बाहर जाने की ही है। वहीं भारतीय शीर्ष क्रम की सबसे मजबूत कड़ी कप्तान विराट कोहली तो हैं ही हर मुश्किल स्थिति में टीम के लिए रन बनाने को तैयार। ये भी पढ़ें: जब 414 रन बनाकर भी केवल तीन रन से जीती थी टीम इंडिया

मध्य क्रम: भारतीय टीम का मध्य क्रम लाजवाब है  महेंद्र सिंह धोनी युवराज सिंह और केदार जाधव के साथ यह एक अभेद दुर्ग है। पहले वनडे में जहां जाधव ने शतकीय पारी खेली थी वहीं कटक में भारतीय टीम के दो सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों ने जमकर रन बरसाए। युवराज और धोनी की 256 रनों की साझेदारी की मदद से भारत ने 381 रन बनाए। इसलिए यहां बदलाव की न गुंजाइश है न ही जरूरत।चौथे नंबर पर सिक्सर किंग युवराज बल्लेबाजी करेंगे। पांचवें स्थान पर खेलेंगे दुनिया के सबसे बड़े फिनिशर यानि कि धोनी और छठें नंबर की जिम्मेदारी संभालेंगे जाधव। अगर ये तीनों खिलाड़ी तीसरे वनडे में चल जाते हैं तो ईडन गार्डन के मैदान पर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन होगा।

निचला क्रम: निचले मध्यक्रम में भारतीय टीम में हार्दिक पांड्या और रवींद्र जडेजा खेलते नजर आ सकते हैं। हार्दिक पांड्या और जडेजा दोनों ही ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। पहले मुकाबले में पांड्या ने शानदार बल्लेबाजी भी की थी तो दूसरे वनडे में दोनों ने मिलकर आखिरी ओवरों में चौके-छक्के जड़े थे। दोनों ही वनडे ऑल राउंडर हैं और तेज खेलना जानते हैं। ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड तीसरे वनडे में बन सकते हैं यह बड़े रिकॉर्ड

तेज गेंदबाजी: पहले और दूसरे वनडे के विनिंग कॉम्बिनेशन को भारत तीसरे वनडे में भी दोहराएगा। तेज गेंदबाजी खेमें में जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या और भुवनेश्वकर कुमार फिर से नज़र आएंगे। हम यहां उमेश यादव को इसलिए जगह नही दे रहे क्योंकि पहले वनडे में वह फ्लॉप रहे थे वहीं उनकी जगह टीम में शामिल हुए भुवी ने शुरुआती और आखिरी ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की। बुमराह की तरह वह भी डेथ ओवरों में सफल गेंदबाज हैं इसलिए उन्हें एक और मौका देने में कोई बुराई नहीं है।

स्पिन गेंदबाजी: इस बात पर तो शायद ही सवाल पूछा जाना चाहिए। टीम इंडिया में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा जैसे विश्वस्तरीय स्पिनर्स हैं तो फिर स्पिन गेंदबाजी की चिंता क्या करनी। कोलकाता के मैदान पर ये स्पिन जोड़ी एक बार फिर विपक्षी टीम पर प्रहार करेगी।

भारतीय टीम की अंतिम एकादश कुछ इस प्रकार हो सकती है: अजिंक्य रहाणे, लोकेश राहुल, विराट कोहली (कप्तान), युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह