टीम इंडिया © AFP
टीम इंडिया © AFP

बुधवार को बैंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में शुरू से अंत तक टीम इंडिया की ही धूम देखने को मिली। अंततः,  टीम इंडिया ने इंग्लैंड को तीसरे टी20I में 75 रनों के विशाल अंतर से हराकर टी20I सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने निर्धारित 20 ओवरों में 5 विकेट पर 202 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया था। जवाब में इंग्लैंड की पूरी टीम 16.3 ओवरों में ही 127 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। टीम इंडिया की ओर से युजवेंद्र चहल ने 25 रन देकर 6 विकेट निकाले और इंग्लैंड की पारी को ढहाने में अहम भूमिका निभाई। उनके अतिरिक्त जसप्रीत बुमराह ने 14 रन देकर 3 विकेट लिए। वहीं जब टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी तो सुरेश रैना ने 63 और एमएस धोनी ने 56 रनों की पारी खेली। और कौन सी खास बातें रहीं मैच में आइए जानते हैं।

एम एस धोनी का टी20 में पहला अर्धशतक: आपको यह जानकर ताज्जुब होगा कि इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टी20I से पहले भारत के इस धुरंधर खिलाड़ी के नाम एक भी अर्धशतक नहीं था और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 48 रन था। लकिन महेंद्र सिंह धोनी ने तीसरे मैच में बेहतरीन पारी खेली और अपने करियर का पहला अर्धशतक ठोक दिया। 77 मैचों में धोनी के द्वारा लगाया गया ये पहला अर्धशतक है। इसके साथ ही सबसे ज्यादा पारियों में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड भी धोनी के ही नाम है। धोनी ने 66 पारियों में पहला अर्धशतक लगाया है। तो वहीं उनसे नीचे गैरी विल्सन (42 पारी), मोहम्मद नबी (38 पारी), डेविड मिलर (34 पारी) हैं। धोनी ने तीसरे मैच में 36 गेंदों में 56 रन बनाए। धोनी ने अपनी पारी में 5 चौके और 2 छक्के जड़े।  [मैच रिपोर्ट: तीसरे टी20I में भारत ने इंग्लैंड को 75 रनों से हराया, 2-1 से जीती टी20I सीरीज]

यजुवेंद्र चहल 5 या इससे ज्यादा विकेट लेने वाले पहले भारतीय बने: तीसरे मैच में अगर किसी खिलाड़ी ने भारतीय टीम की जीत में सबसे बड़ा किरदार निभाया है तो वह हैं यजुवेंद्र चहल। चहल ने टिक चुके ऑइन मोर्गन और जो रूट को लगातार दो गेंदों पर आउट कर इंग्लैंड की जीत की उम्मीदों को खत्म कर दिया। चहल यहीं नहीं रुके और उन्होंने मैच में कुच 6 विकेट झटक डाले। चहल के गेंदबाजी आंकड़े (4-0-25-6) इस प्रकार रहे। साथ ही चहल भारत की तरफ से किसी भी टी20I में 5 या इससे ज्यादा विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बन गए हैं। वहीं तीसरे मैच में चहल के गेंदबाजी आंकड़े अंतरराष्ट्रीय टी20 में तीसरे सबसे बेहतरीन हैं। चहल से अच्छे आंकड़े सिर्फ मेंडिस (6-8 और 6-16) ही हैं।

38 पारियों के बाद सुरेश रैना ने ठोका अर्धशतक: इंग्लैंड के खिलाफ सुरेश रैना का अर्धशतक 38 पारियों में लगाया गया पहला अर्धशतक है। रैना इससे पहले पिछली 37 पारियों में एक बार भी अर्धशतक नहीं लगा सके थे। वहीं रैना ने अपनी शुरुआती 17 पारियों में कुल 4 बार 50 या इससे ज्यादा का स्कोर किया था। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए रैना ने शानदार बल्लेबाजी की और 45 गेंदों में 63 रनों की शानदार पारी खेली। रैना ने अपनी पारी में 2 चौके और 5 गगनचुंबी छक्के जड़े।

भारत की तरफ से टी20I में पदार्पण करने वाले सबसे कम उम्र के क्रिकेटर बने ऋषभ पंत: घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्श करने वाले ऋषभ पंत भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय टी20 में पदार्पण करने वाले सबसे कम उम्र के क्रिकेटर बन गए। पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे मैच में अपने अंतरराष्ट्रीय टी20 करियर का आगाज किया और इस दौरान उनकी उम्र 19 साल और 120 दिन थी। चहल से पहले ये रिकॉर्ड ईशांत शर्मा के नाम था। जिन्होंने 19 साल 152 दिनों की उम्र में अपने टी20I करियर का आगाज किया था। आपको बता दें कि पंत ने तीसरे मैच में 3 गेंदों में नाबाद 5 रन बनाए और उन्होंने एक चौका भी जड़ा था।

रोहित शर्मा के बाद टी20 में 250 छक्के जड़ने वाले दूसरे भारतीय बने सुरेश रैना: सुरेश रैना ने अपने नाम एक और उपलब्धि करते हुए टी20 क्रिकेट में 250 लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए। रैना के अलावा रोहित शर्मा अपने टी20 करियर में अब तक 254 छक्के लगा चुके हैं। वहीं इस सूची में जगह बनाने वाले रैना भारत के सिर्फ दूसरे ही बल्लेबाज हैं। आपको बता दें रैना ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टी20I में कुल 5 छक्के जड़े थे।

3 मौकों पर पहला मैच हारने के बाद सीरीज जीतने वाला पहला देश बना भारत: भारतीय टीम ने जैसे ही इंग्लैंड को हराया वैसे ही उसने वह मुकाम हासिल कर लिया जो टी20I क्रिकेट में कोई भी टीम नहीं कर सकी है। दरअसल, भारत ने 3 मौकों पर पहला मैच हारने के बाद सीरीज अपने नाम की है। और ऐसा करने वाली टीम इंडिया दुनिया की पहली टीम बन गई है। भारत ने इससे पहले जिम्बाब्वे के खिलाफ 3 मैचों की सीरीज का पहला मैच गंवाने के बाद श्रृंखला जीती थी। तो वहीं इसके बाद श्रीलंका के खिलाफ भी पहला मैच हारने के बाद सीरीज अपने नाम की थी। वहीं अब भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ भी पहला मैच हारने के बाद सीरीज में जीत दर्ज की है। वहीं भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया ने ऐसा कारनामा 2 बार किया है।

भारत की तरफ से टी20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने अमित मिश्रा: अमित मिश्रा ने जैसे ही जेसन रॉय का विकेट लिया, वैसे ही वह भारत की तरफ से टी20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए। अमित मिश्रा टी20 में अब तक 201 विकेट झटक चुके हैं और उन्होंने रविचंद्रन अश्विन (200) को पछाड़कर ये मुकाम हासिल किया। मिश्रा ने इंग्लैड के खिलाफ तीसरे टी20I में बेहद ही किफायती गेंदबाजी करते हुए 4 ओवरों में 23 रन दिए और एक विकेट हासिल किया।

इंग्लैंड के 8 रनों पर गिरे 8 विकेट: भारत द्वारा दिए गए 203 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम एक समय पर मजबूत स्थिति में थी। लेकिन जैसे ही मोर्गन आउट हुए वैसे ही टीम का बल्लेबाजी क्रम ध्वस्त हो गया। और टीम ने अपने आखिरी 8 विकेट 8 रनों पर गंवा दिए। जब मोर्गन आउट हुए तो टीम का स्कोर 119 रनों पर 3 विकेट था और उसके बाद पूरी टीम सिर्फ 127 रनों पर ही सिमट गई।