live cricket score, live score, live score cricket, india vs england live, india vs england live score, ind vs england live cricket score, india vs england 5th test match live, india vs england 5th test live, cricket live score, cricket score, cricket, live cricket streaming, live cricket video, live cricket, cricket live Chennai
आज से चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में खेला जाएगा भारत बनाम इंग्लैंड पांचवा टेस्ट। © Getty Images

इंग्लैंड टीम वानखेड़े मैच हारने के साथ ही टेस्ट सीरीज भी 3-0 से हार चुकी है लेकिन फिर भी पांचवे और आखिरी टेस्ट में दोनों टीमों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि वानखेड़े मैच के बाद एंडरसन-अश्विन के बीच हुए विवाद ने इस एकतरफा सीरीज को एक बार फिर रुचिकर बना दिया है। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने वानखेड़े टेस्ट से पहले विराट कोहली की बल्लेबाजी को लेकर बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि घरेलू पिचें कोहली के कमियों को छुपा देती है। रविचंद्रन अश्विन ने  इस बात को लेकर एंडरसन से मैच के बीच में ही अपनी नाराजगी व्यक्त की, जिसे लेकर विवाद बढ़ गया। ये भी पढ़ें: पांचवें टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन और विराट कोहली के निशाने पर रहेंगे ये बड़े रिकॉर्ड्स

1-विराट कोहली बनाम मोइन अली- चेन्नई में खेले जाने वाले पांचवे टेस्ट का सबसे बड़ा मुकाबला होगा भारतीय कप्तान विराट कोहली और इंग्लैंड के स्पिनर मोइन अली के बीच। इस सीरीज में कोहली अब तक तीन बार स्पिन के विरूद्ध आउट हो चुके हैं हालांकि इसमें से एक बार वह हिट विकेट रहे थे। अब तक इंग्लैंड टीम कोहली की कोई भी कमजोरी नहीं ढूंढ पाई है, शायद इसका कारण घरेलू पिच हैं जैसा कि जेम्स एंडरसन ने कहा था। आपको यह भी बता दें कि एंडरसन पांचवे टेस्ट से बाहर हो गए। इस आखिरी मैच में इंग्लैंड टीम को जीत दर्ज कर अपनी नाक बचानी होगी। इस सीरीज में अब तक एक भी मैच न जीत पाई इंग्लैंड की टीम मैदान के बाहर बयानबाजी पर उतर आई है। बेहतर यह होगा कि वह मैदान के अंदर कुछ कमाल दिखाएं। 2012 के इंग्लैंड दौरे पर ग्रीम स्वॉन और मोंटी पनेसर की स्पिन जोड़ी ने भारतीय बल्लेबाजी क्रम को घुटनों पर ला दिया था। कोहली उस दौरे पर लगभग हर बार स्पिन का शिकार बनें थे। ऐसा ही कुछ अली को भी करना होगा और अपनी टीम को जीत दिलानी होगी। ये भी पढ़ें: चेन्नई टेस्ट में जीत हासिल कर टीम इंडिया हासिल कर लेगी ये बड़ा कार्तिमान

2-रवींद्र जडेजा बनाम एलिस्टेयर कुक- भारतीय टीम के रॉकस्टार यानि कि रवींद्र जडेजा ने इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक को इस सीरीज में अपना ‘बनी’ बना लिया है। इस सीरीज के चार मैचों में जडेजा अब तक कुक को चार बार आउट कर चुके हैं। जडेजा ने हर बार कुक को गेंद के उछाल से मात दी है, वहीं कुक बाएं हाथ के स्पिनर के खिलाफ कुक के आंकड़े के खिलाफ काफी अच्छे हैं लेकिन फिर भी जडेजा उन्हें आउट करने में कामयाब रहे हैं। चेन्नई टेस्ट में भी कुक और जडेजा का यह मुकाबला देखने को मिलेगा क्योंकि चेपॉक की पिच में भी वानखेड़े की तरह ही उछाल रहेगा। उम्मीद है कुक इस बार जडेजा के खिलाफ अच्छी तैयारी करके आएगें ताकि दर्शकों को एक बेहतरीन मुकाबला देखने मिलेगा। जडेजा ने वानखेडे़ टेस्ट में कुक का विकेट लेकर 100 टेस्ट विकेट क्लब में इंट्री पा ली है और अब वह अपने इस प्रदर्शन को चेन्नई में जारी रखना चाहेंगे। ये भी पढ़ें: अभी बाकी है विराट कोहली की अग्निपरीक्षा

3-रविचंद्रन अश्विन बनाम जो रूट- इंग्लैंड के भारत दौरे से पहले बल्लेबाज जो रूट को लेकर काफी बातें की जा रही थी। कोहली और रूट के बीच आंकड़ों और प्रदर्शन को लेकर चर्चाएं हो रही थी लेकिन रूट राजकोट में खेले गए पहले मैच में बनाए 124 रनों के बाद कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाए। हालांकि रूट की तकनीक और तरीके में कोई भी कमी नहीं हैं, वह टेस्ट फॉर्मेट के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक हैं लेकिन इस दौरे पर उनका करिश्मा अब तक नज़र नहीं आया है। वहीं अगर अश्विन की बात करें तो यह सीरीज ही नहीं बल्कि यह साल भी उनके लिए कमाल का रहा है। पहले न्यूजीलैंड सीरीज और इंग्लैंड के खिलाफ भी वह गेंद और बल्ले दोनों से विपक्षी टीम पर कहर ढा रहे हैं। जो रूट इस सीरीज के चार मैचों में छह बार स्पिनर के खिलाफ आउट हुए हैं जिसमें से दो बार अश्विन ने उन्हें अपना शिकार बनाया है। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि रूट इस सीरीड का अंत किस तरह करते हैं। क्या वह एक यादगार पारी खेलेंगे या एक बार फिर स्पिन के विरूद्ध फ्लॉप हो जाएंगें। ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के साथ क्रिकट खेलने से बीसीसीआई को रोक रही है भारत सरकार: पीसीबी

4-चेतेश्वर पुजारा बनाम आदिल राशिद- भारतीय टीम की बल्लेबाजी क्रम की रीढ़ कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा भी इंग्लिश स्पिनर के खिलाफ संघर्ष करते नज़र आए हैं। पुजारा इस सीरीज में चार बार आदिल राशिद की गेंद पर आउट हुए हैं और हर बार वह 50 से नीचे से स्कोर पर खेल रहे थे। राशिद ने पुजारा को क्रीज पर टिकने से पहले पवेलियन भेजा है। राशिद और पुजारा का यह मुकाबला चेन्नई टेस्ट का रोमांच बढ़ाएगा क्योंकि भारतीय सलामी जोडी हर मैच में फेल रही है और मुरली विजय के साथ पुजारा को ही हर बार पारी को संभालना पड़ा है। अगर इंग्लैंड पुजारा को जल्दी आउट कर लेते हैं तो यह एक बड़ी सफलता होगी मेहनाम टीम के लिए। ये भी पढ़ें: तीन ऐसे मौके जब टेस्ट मैच में भारतीय बल्लेबाज के 200 रन बनाने पर गेंदबाज ने लिए दस से ज्यादा विकेट

5-मुरली विजय बनाम क्रिस वोक्स- भारत के सलामी बल्लेबाज या यूं कहें कि स्थाई सलामी बल्लेबाज मुरली विजय इस टेस्ट सीरीज में शॉर्ट गेंदों के आगे असफल रहे हैं और हर बार तेज गेंदबाज का शिकार बनें हैं। विजय इस सीरीज में चार बार तेज गेंदबाजी के सामने आउट हुए हैं। अब जबकि जेम्स एंडरसन आखिरी टेस्ट से बाहर हो चुके हैं और स्टुअर्ट ब्रॉड भी चोटिल हैं तो ऐसे में ऑल राउंडर क्रिस वोक्स विजय के खिलाफ इंग्लैंड का सबसे कामायाब हथियार बन सकते हैं। विजय इस सीरीज में वानखेड़े टेस्ट से पहले तक एक बड़ी पारी के लिए तरस रहे थे। चौथे टेस्ट में विजय ने शानदार 136 रन बनाए और अपनी यह पारी अपने दोस्त के दिवंगत पिता को समर्पित की। इस सीरीज के खत्म होने के बाद भारतीय टीम 23 फरवरी से ऑस्ट्रेलिया के साथ बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ही टेस्ट खेल पाएगी इसलिए विजय आखिरी टेस्ट में एक और बड़ी पारी खेल कर इस सत्र को बढ़िया समाप्ति देना चाहेंगे। अब तो यह चेन्नई टेस्ट में देखने को मिलेगा कि विजय और वोक्स में से कौन यह मुकाबला जीतेगा।