live cricket score, live score, live score cricket, india vs england live, india vs england live score, ind vs england live cricket score, india vs england 5th test match live, india vs england 5th test live, cricket live score, cricket score, cricket, live cricket streaming, live cricket video, live cricket, cricket live Chennai
आज से चेन्न्ई में खेला जाएगा भारत बनाम इंग्लैंड पांचवा टेस्ट। © AFP

भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच आज चेन्नई में खेला जाना है, भारतीय टीम इस सीरीज को 3-0 से जीत चुकी है लेकिन फिर भी विराट कोहली एंड कंपनी का इरादा इस मैच को हल्के में लेने का बिल्कुल नहीं है। राजकोट टेस्ट ड्रॉ होने से भले ही क्लीन स्वीप का मौका भारतीय टीम गंवा चुकी है लेकिन 4-0 से मिली जीत भी इंग्लैंड को 2012 दौरे का जवाब देने के लिए काफी होगी। विराट कोहली के बाद रविचंद्रन अश्विन भी यह कह चुके हैं कि भारत चेन्नई टेस्ट में जीत से कम कोई नतीजा नहीं चाहता। अगर बात करें चेन्नई टेस्ट के लिए भारतीय टीम के अंतिम 11 खिलाड़ियों की तो भारत को कोई खास बदलाव करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। भारत के पास अच्छा विनिंग कॉम्बिनेशन है और कोहली इसे बदला नहीं चाहेंगें। ये भी पढ़ें: चेन्नई में खेले जाने वाले पांचवें टेस्ट से बाहर हुए जेम्स एंडरसन

शीर्ष क्रम: भारतीय टीम ने आखिरकार काफी लंबे समय के बाद एक सलामी जोड़ी निश्चित की है और अब इसमे बदलाव करना सही नहीं होगा। न्यूजीलैंड के साथ सीरीज से लेकर अब तक इंजरी या दूसरे कारणों से मुरली विजय के जोड़ीदार बदलते रहे हैं। वानखेड़े टेस्ट में लोकेश राहुल ने चोट से उबर कर एक बार फिर ओपनिंग की अपनी जिम्मेदारी संभाल ली। अब चेन्नई टेस्ट में भी मुरली विजय और केएल राहुल ही भारतीय पारी की शुरूआत करेंगे। वहीं तीसरे स्थान पर भारत के बेहतरीन बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा तो रहेंगे ही।

मध्य क्रम: कप्तान विराट कोहली भारतीय मध्य क्रम के सबसे मजबूत बल्लेबाज है। वहीं अजिंक्य रहाणे के चोटिल होने के बाद वानखेड़े टेस्ट में युवा बल्लेबाज करूण नायर को उनकी जगह खेले थे और चेन्नई टेस्ट में भी वह पांचवे स्थान पर खेलते नज़र आएंगे। मध्य क्रम के आखिरी खिलाड़ी होंगे विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल। पटेल विकेट के पीछे और बल्लेबाजी दोनों में ही अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। रिद्धिमान साहा के चोटिल होने के बाद आठ साल बाद जब उन्हें टेस्ट टीम में खेलने का मौका मिला तो चयनसमिति के इस फैसले का काफी विरोध हुआ था लेकिन पटेल ने सभी को गलत साबित कर दिया।

निचला क्रम: भारतीय टीम की बल्लेबाजी के निचले अब टीम का सबसे मजबूत पक्ष बन गया है। एक समय ऐसा था जब भारतीय टीम ऑलराउंडर्स की कमी से जूझता था। लेकिन अब रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा और जयंत यादव जैसे बेहतरीन ऑलराउंडर भारत के पास हैं जो हर विपरीत परिस्थिती में टीम को जीत दिलाने का माद्दा रखते हैं।

स्पिन गेंदबाजी: वानखेड़े टेस्ट में भारतीय स्पिनर्स ने दोनों पारियों में कुल 19 विकेट लिए थे। रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा और जयंत यादव चेन्नई में भी भारतीय टीम का स्पिन मोर्चा संभालेंगे। जैसा कि अश्विन कह चुके हैं कि वानखेड़े पिच की तरह ही चेपॉक में भी स्पिन विनिंग फैक्टर साबित हो सकता है, ऐसे में भारत के लिए यह तीनों अहम भूमिका निभा सकते हैं।

तेज गेंदबाजी: भारत की ओर से तेज गेंदबाजी वानखेड़े टेस्ट में कुछ खास कमाल नहीं कर पाए थे लेकिन उनका प्रदर्शन अब तक बढ़िया रहा है। अब जबकि मोहम्मद शमी आखिरी टेस्ट के लिए पहले ही बाहर हो चुके हैं तो चेन्नई में भी भुवनेश्वर कुमार ही उमेश यादव के साथ मिलकर तेज गेंदबाजी करेंगे।

अंतिम एकादश कुछ इस प्रकार हो सकते हैं:
मुरली विजय, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), करूण नायर, पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), रविंचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, जयंत यादव, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव।