भारतीय टीम © Getty Images
भारतीय टीम © Getty Images

भारत और इंग्लैंड के बीच कटक के बाराबती स्टेडियम में दूसरा वनडे मैच खेला जाना है। भारतीय टीम सीरीज का पहला मैच जीत चुकी है और अब दूसरे मुकाबले को जीतकर सीरीज पर कब्जा जमाना चाहेगी। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने पहले मुकाबले में 350 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए साल की शुरुआत धमाकेदार अंदाज में की। लेकिन अब कोहली की निगाहें दूसरे वनडे को जीत सीरीज जीतने पर होंगी। तो दूसरे वनडे में किन खिलाड़ियों को टीम में जगह मिल सकती है और कौन हो सकता है बाहर, आइए जानते हैं।

सलामी बल्लेबाजी: पहले वनडे की बात करें तो सलामी जोड़ी ने टीम को काफी निराश किया था और 12 साल बाद सबसे घटिया प्रदर्शन किया था। पहले वनडे में शिखर धवन और के एल राहुल ने सलामी जोड़ी की भूमिका निभाई थी और अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे थे। लेकिन टीम ने पहले वनडे को जीत लिया था और कोई भी कप्तान विनिंग कॉम्बिनेशन से छेड़छाड़ करना पसंद नहीं करता। वहीं शिखर धवन ने भारत को कई वनडे मैचों में जीत दिलाई है ऐसे में उन्हें नजरअंदाज करना ठीक नहीं होगा। रोहित शर्मा के चोटिल होने पर टीम में शामिल किए गए शिखर के लिए खुद को साबित करने का एक मौका मिलना तय है।

वहीं दूसरी तरफ के एल राहुल काफी समय के बाद वनडे मैच खेलने उतरे थे और एक बेहतरीन गेंद पर वह बोल्ड हो गए थे। लेकिन इसमें कोई दोराए नहीं है कि राहुल बेहद ही प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं और उन्हें ज्यादा देर तक खामोश रखना आसान नहीं होगा। राहुल ने टेस्ट मैचों में बेहतरीन खेल दिखाया था जिसके बाद उन्हें वनडे मैचों में भी खेलने का मौका दिया गया। ऐसे में राहुल अपने टेस्ट के प्रदर्शन को वनडे में भी जारी रखने की भरपूर कोशिश करेंगे। तो कह सकते हैं कि ससामी जोड़ी में कोहली कोई फेरबदल नहीं करेंगे और एक बार फिर से धवन-राहुल की जोड़ी भारत के लिए ओपन करती नजर आएगी। ये भी पढ़ें: कटक के बाराबती स्टेडियम में खेले जाने वाले दूसरे वनडे के लिए सुरक्षा कड़ी

मध्यक्रम बल्लेबाजी: कागज पर दुनिया का सबसे मजबूत नजर आने वाला मध्यक्रम पहले वनडे में धराशाई हो गया था। वो तो कप्तान विराट कोहली ने एक छोर संभाले रखा नहीं तो मैच का नतीजा भारत के खिलाफ भी हो सकता था। न्यूजीलैंड के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी ने कहा था कि वह चौथे नंबर पर खेलने उतरेंगे, लेकिन सभी को तब बहुत हैरानी हुई जब उनसे पहले युवराज सिंह खेलने उतरे। लेकिन दूसरे वनडे की बात करें तो तीसरे नंबर पर दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज विराट कोहली खेलेंगे। कोहली ने पहले वनडे में ताबड़तोड़ और सोच समझकर बल्लेबाजी की थी जिसकी वजह से टीम ने पहले मुकाबले को जीत लिया था।

वहीं चौथे नंबर पर पहले वनडे की ही तरह युवराज सिंह बल्लेबाजी कर सकते हैं, भले ही पहले वनडे में युवराज का बल्ला ना चला हो लेकिन उन्होंने आते ही शॉट खेलना शुरू कर दिया था और वह उस समय अच्छी लय में दिख रहे थे। युवराज से भारत को दूसरे वनडे में काफी अपेक्षाएं होंगी। वहीं पांचवें नंबर पर धोनी का खेलना तय है। हालांकि पहले वनडे में धोनी ने सभी को निराश किया था और अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे थे। लेकिन बड़े खिलाड़ी ज्यादा देर तक खामोश नहीं रहते। धोनी भी दूसरे वनडे में वापसी करने की पूरी कोशिश करेंगे। वहीं छठें नंबर पर पहले मैच के हीरो केदार जाधव खेलेंगे। जाधव ने पहले वनडे में जिस तरह की शानदार बल्लेबाजी की थी उससे उन्होंने सभी का दिल जीत लिया था। ऐसे में कोहली को एक बार फिर उनसे शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

निचला मध्यक्रम: निचले मध्यक्रम में भारतीय टीम में हार्दिक पांड्या और रवींद्र जडेजा खेलते नजर आ सकते हैं। हार्दिक पांड्या और जडेजा दोनों ही ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं और पहले मुकाबले में पांड्या ने शानदार बल्लेबाजी भी की थी। पांड्या ने विजयी छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत तक पहुंचाया था। वहीं जडेजा भी निचले क्रम में काफी प्रभावी साबित हो सकते हैं।  ये भी पढ़ें: आईसीसी ने जारी की टेस्ट रैंकिंग, विराट कोहली दूसरे स्थान पर कायम

तेज गेंदबाजी: पहले वनडे की ही तर्ज पर भारतीय टीम दूसरे वनडे में भी 2 मुख्य तेज गेंदबाजों को टीम में जगह दे सकता है। वहीं हार्दिक को तीसरे तेज गेंदबाज के रूप में उपयोग में लाया जाएगा। वहीं टीम फिर से जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव पर भरोसा कर सकती है। हालांकि पहले मैच में उमेश यादव ने कुछ खास नहीं किया था लेकिन उनकी तेजी भारत के काम आ सकती है। वहीं बुमराह भी पहले वनडे में कुछ खास नहीं कर सके थे, लेकिन उनकी यॉर्कर अंतिम ओवर्स में काफी कारगर साबित होतीं हैं। ऐसे में दोनों तेज गेंदबाजों का खेलना लगभग तय है।

स्पिन गेंदबाजी: काफी लंबे समय बाद हमें वनडे में भी टेस्ट जोड़ी देखने को मिली। लेकिन दोनों ही फिरकी गेंदबाजों का प्रदर्शन टेस्ट की तरह नहीं था। लेकिन अश्विन और जडेजा दोनों ही बेहद खतरनाक गेंदबाज हैं और किसी भी समय विरोधी टीम की बखिया उधेड़ने का माद्दा रखते हैं। ऐसे में एक बार फिर से दूसरे वनडे में अश्विन-जडेजा की जोड़ी देखी जा सकती है।

भारतीय टीम की अंतिम एकादश कुछ इस प्रकार हो सकती है: शिखर धवन, लोकेश राहुल, विराट कोहली (कप्तान), युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह