इंग्लैंड के खिलाफ मोटेरा में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में जीत हासिल कर भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने पूर्व दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के घरेलू मैदान पर सर्वाधिक टेस्ट मैच जीतने का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

अहमदाबाद में खेले जा रहे मैच के दूसरे दिन इंग्लैंड को 10 विकेट से हराकर कोहली ने घरेलू जमीन पर 22वां टेस्ट जीता। जिसके साथ ही वो धोनी के 21 घरेलू टेस्ट मैच जीतने के कीर्तिमान से आगे निकल गए। यानि कि कोहली अब टेस्ट क्रिकेट में घरेलू मैदान पर टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान हैं।

टेस्ट में दूसरी बार भारत ने दूसरी बार इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया

मोटेरा टेस्ट में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को टेस्ट क्रिकेट इतिहास में दूसरी बार 10 विकेट से अंतर से हराया। इससे पहले भारत ने दिसंबर 2001 में मोहाली में भी इंग्लैंड को 10 विकेट से मात दी थी। भारत ने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में अब तक कुल नौवीं बार 10 विकेटों से जीत दर्ज की। भारत ने इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ अब तक दो-दो बार टेस्ट क्रिकेट में 10 विकेट से जीत दर्ज की है। इसके अलावा उसने बांग्लादेश, वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे के खिलाफ एक-एक बार टेस्ट में 10 विकेट से जीत हासिल की है।

दूसरी बार 2 दिन में खत्म हुआ टीम इंडिया का कोई टेस्ट मैच

भारत ने इससे पहले जून 2018 में अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच दो दिन में जीता था। जब टीम ने बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में अफगानिस्तान की टीम को पारी और 262 रनों से हराया था।

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में दो दिन में सबसे ज्यादा बार टेस्ट मैच जीतने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के ही नाम है, जिसने अब तक नौ बार दो दिन में टेस्ट मैच को जीता है। दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया टीम है, जिसने अब तक आठ बार दो दिन में टेस्ट मैच जीता है। इसके अलावा न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका भी एक-एक मैच दो दिन में ही जीत चुकी है।

अश्विन ने बनाया टेस्ट में स्टोक्स को सबसे ज्यादा बार आउट करने का रिकॉर्ड, हासिल किए 400 विकेट

मोटेरा टेस्ट में भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 400 टेस्ट विकेट पूरे करने के साथ इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को सबसे ज्यादा बार आउट किया है। अश्विन ने 77 टेस्ट मैचों के करियर में स्टोक्स को 11वीं बार अपना शिकार बनाया है। इसके अलावा उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर को 10 बार आउट किया है। अश्विन इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलेस्टेयर कुक को नौ बार और ऑस्ट्रेलिया के एड कॉवेन और जेम्स एंडसरन को सात-सात बार अपना शिकार बना चुके हैं।

इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ अपना न्यूनतम टेस्ट स्कोर बनाया

भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में इंग्लैंड टीम 81 रनों पर ढेर हो गई, जोकि भारत के खिलाफ इंग्लैंड का अब तक का ये सबसे न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले भारत के खिलाफ इंग्लैंड का सबसे कम टेस्ट स्कोर 101 रन था जो इस टीम ने 1971 में द ओवल में बनाया था।