हार्दिक पांड्या ने अपने पहले वनडे में किया शानदार प्रदर्शन। © AFP
हार्दिक पांड्या ने अपने पहले वनडे में किया शानदार प्रदर्शन। © AFP

भारत बनाम न्यूजीलैंड पहला वनडे मैच भारतीय टीम ने जीत लिया। कल धर्मशाला में खेले गए वनडें में भारत ने मेहमान टीम को 6 विकेट से हरा दिया। भारत ने टॉस जीतकर न्यूजीलैंड को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। पहले बल्लबाजी करते हुए कीवी टीम 50 ओवर भी नहीं खेल सकी और 44वें ओवर की एक गेंद शेष रहते ऑल आउट हो गई। भारत की तरफ से अपना पहला वनडे मैच खेल रहे हार्दिक पांड्या ने 3 विकेट लेकर अपने चयन पर उठ रहे सवालों का जवाब दिया। रनों का पीछा करने में भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ पारी खेली विराट कोहली ने। विराट ने 81 गेंदों पर 85 रन बनाए और आखिरी छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई। इस मैच ने कई नए रिकॉर्ड बनें तो कई पुराने रिकॉर्ड तोड़े भी गए, आइये जानतें हैं किन खिलाड़ियों ने क्या रिकॉर्ड बनाए।

हार्दिक पांड्या– ये मैच पांड्या के लिए काफी खास रहा, पांड्या के लिए ये उनका पहला वनडे मैच था। इसी दिन भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक कपिल देव ने भारतीय क्रिकेट में पर्दापण किया था और उन्हीं के हाथों वनडे कैप पाना हार्दिक के लिए सपने के सच होने जैसा था। वनडे में टीम में पांड्या के सिलेक्शन को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे थे पर कप्तान एमएस धोनी ने हार्दिक पर पूरा भरोसा दिखाया, जिस वजह से हार्दिक अच्छा प्रदर्शन कर सके। हार्दिक ने अपने करियर में ए श्रेणी के मैचों में अब तक 2 या 2 से ज्यादा विकेट नहीं लिए थे लेकिन कल के मैच में हार्दिक ने अपना ये रिकॉर्ड तोड़ दिया। पांड्या ने 31 रन देकर 3 विकेट चटकाए और अपने पहले वनडे मैच में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले चौथे गेंदबाज बन गए। साथ ही पांड्या अपने पहले ही वनडे में मैन ऑफ द मैच पाने वाले चौथे भारतीय खिलाड़ी भी बन गए। उनसे पहले 1980 में संदीप पाटिल, 2013 में मोहित शर्मा और 2016 में केएल राहुल को पहले वनडे में मैन ऑफ द मैच का खिताब मिल चुका है।

टिम साउदी– न्यूजीलैंड के गेंदबाद टिम साउदी ने कल इस दौरे पर अपना पहला मैच खेला। टिम पहले टेस्ट टीम का हिस्सा भी बनने वाले थे लेकिन अभ्यास मैच में वह चोटिल हो गए। धर्मशाला वनडे में जब कीवी बल्लेबाज एक एक पवेलियन लौट रहे थे तब टिम ने पारी को संभाला। टिम ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतक लगाया। टिम ने कल अपना 100वां वनडे मैच खेला और 100वें वनडे में अर्धशतक लगाने वाले दूसरे कीवी बल्लेबाज बन गए। टिम से पहले काइल मिल्स ने 2009 में भारत के दौरे पर ही ऐसा किया था। वहीं इसी मैच में बनाया गया साउदी का 55 रनों का स्कोर 10 या 11 नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले किसी भी कीवी खिलाड़ी के सर्वाधिक हैं। इससे पहले काइल मिल्स का ही 44 रनों का स्कोर सबसे अधिक था। जो उन्होंने 2004 नें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था।

टॉम लेथम- भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जिस कीवी बल्लेबाज ने लगातार हर मैच में अच्छा प्रदर्शन किया वह हैं टॉम लेथम। धर्मशाला वनडे में आखिर तक खेलकर नॉट आउट रहे लेथम ने एक और कीर्तिमान अपने नाम कर लिया है। लेथम ऐसे नौवें बल्लेबाज हैं जिन्होंने पूरी वनडे पारी खेली और बिना आउट हुए पवेलियन लौटे। वहीं ऐसा करने वाले वह पहले कीवी बल्लेबाज हैं।

एमएस धोनी- भारत के कप्तान कल के मैच में 21 रन बनाकर रन आउट हो गए थे, जिससे उनके फैन्स काफी निराश हुए। वहीं धोनी ने भी कल के मैच में एक रिकॉर्ड अपने नाम किया। हालांकि इस रिकॉर्ड पर धोनी को ज्यादा खुशी नहीं होगी। धर्मशाला वनडे में रन आउट होकर धोनी वनडे में 14 बार रन आउट होने वाले एशिआई खिलाड़ी बन गए। पूर्व कप्तान राहुव द्रविड़ का नाम उनसे ऊपर है, द्रविड़ कुल 15 बार वनडे में रन आउट हो चुके हैं। वहीं धोनी वनडे में सबसे ज्यादा बार रन आउट होने वाले चौथे खिलाड़ी बन गए हैं। साथ ही धर्मशाला वनडे में धोनी ने अपने करियर की 10013वीं गेदं खेली और वनडे में 10,000 से ज्यादा गेंदे खेलने वाले 24वें खिलाड़ी बन गए।

विराट कोहली- इस मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले विराट कोहली का नाम भी एक रिकॉर्ड लिस्ट में दर्ज हो गया है। कोहली ने इस मैच में 85 रन बनाए और रनों का पीछा करते हुए कोहली ने अपने 3360 रन पूरे किए। इसके साथ ही रनों का पीछा करते हुए सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों में कोहली छठवें स्थान पर आ गए।

अमित मिश्रा- मिश्रा ने इस मैच में अपने 50 वनडे विकेट पूरे किए, 32 मैचों मे उन्होंने ये कीर्तिमान हासिल किया। अमित मिश्रा सबसे तेज 50 वनडे विकेट लेने वाले पहले भारतीय बनें और विश्वस्तर पर चौथे गेंदबाज।

भारतीय टीम- इस मैच में अपने पहले ही ओवर मे विकेट लेकर पांड्या ऐसा करने वाले चौथे भारतीय गेंदबाज बन गए। उनसे पहले अविशंकर रवि, आशीष नेहरा और भुवनेश्वर कुमार को ये उपलब्धि मिल चुकी हैं। साथ ही धर्मशाला वनडे रनों का पीछा करते हुए भारतीय टीम का पांचवा लगातार जीता गया वनडे मैच है।

न्यूजीलैंड टीम- इस मैच में कीवी टीम ने 48 रनों पर ही पांच विकेट खो दिए थे। ऐसा दूसरी बार है जब किसी टीम ने भारत के खिलाफ 50 रन बनाने से पहले ही 5 विकेट खो दिए हो। इससे पहले 1987 में मुंबई में खेल गए मैच में जिम्बांबे ने 47 रनों पर ही 5 विकेट खो दिए थे। वहीं कीवी टीम के सात विकेट भी 65 रन पर ही गिर गए थे। जो कि भारत के खिलाफ सात विकेट पर बनाया गया सबसे कम स्कोर है, 1987 के मैच में जिम्बांबे ने ही 67 रन पर सात विकेट खो दिए थे। आखिरी तीन विकेटों के लिए न्यूजीलैंड टीम ने कुल 125 रन जोड़े जो कि किसी भी टीम के बनाए दूसरे सबसे ज्यादा रन हैं। इससे पहले 2015 में अफगानिस्तान ने जिम्बांबे के खिलाफ आखिरी तीन विकेट के लिए 126 रन बनाए थे।