© Getty Images
© Getty Images

भारत और पाकिस्तान विश्व क्रिकेट के चिर- प्रतिद्वंदी हैं। जब इन दोनों पड़ोसियों का क्रिकेट के मैदान पर आमना- सामना होता है तो जमकर ड्रामा और एक्शन देखने को मिलता है। इस दौरान दोनों तरफ से बहुत कुछ दाव पर लगा होता है और इस तरह दोनों ओर से खिलाड़ियों के पास हार का कोई विकल्प ही नहीं होता। इस मैच में भावनाएं अपने चरम पर होती हैं। इसी के चलते कभी- कभार खिलाड़ियों के बीच तनातनी हो जाती है और ये तनातनी खिलाड़ियों के बीच बखेड़ा खड़ा कर देती है। क्रिकेट इतिहास इन बातों से भरा पड़ा है जब दोनों देशों के खिलाड़ी एक-दूसरे से मैदान में भिड़ पड़े। आज हम आपको ऐसे ही पांच झगड़ों के बारे में बताने जा रहे हैं।

5. कपिल देव बनाम मजीद खान:

साल 1978 में पाकिस्तान और भारत के बीच टेस्ट मैच खेला जा रहा था। भारतीय टीम को 25 ओवरों में 125 का स्कोर बचाना था ताकि मैच ड्रॉ हो सके। ऐसे में कप्तान बिशन सिंह बेदी ने गेंदबाजों को सुरक्षात्मक अंदाज में गेंदबाजी करने को कहा। कपिल गेंदों को लगतार लेग साइड में पिच करा रहे थे और इस वजह से बल्लेबाजी कर रहे मजीद खान खासे गुस्सा हो गए। उन्होंने लेग लेग स्टंप को उखाड़ा और उसे लेग स्टंप के बाईं ओर ले गए और कहा अब यहां डालो। वैसे कपिल ने उनकी इस बात का कोई जवाब नहीं दिया और बात यहीं थम गई। [ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले टीम इंडिया को मिला बड़ा तोहफा! देखें वीडियो]

4. किरन मोरे बनाम जावेद मियांदाद:

साल 1992 विश्व कप में भारत- पाकिस्तान मैच के दौरान जब पाकिस्तान के जावेद मियांदाद बल्लेबाजी कर रहे थे। तब भारतीय विकेटकीपर किरन मोरे उनके पीछे से जोर- जोर से अपील कर रहे थे। जिससे परेशान होकर जावेद ने उनसे कहा कि वह आवाज न निकालें। लेकिन मोरे नहीं माने और उन्होंने अपना काम जारी रखा। इस बीच एक रन लेने के दौरान जावेद क्रीज के भीतर पहुंच गए और मोरे ने उन्हें रन आउट करने का प्रयास किया लेकिन वह नॉट आउट रहे। मोरे को चिढ़ाने के लिए जावेद क्रीज के भीतर की कूदने लगे। बाद में अंपायर ने जावेद को शांत कराया और मामला रफा- दफा हुआ।

3. आमिर सोहेल बनाम और वैंकटेश प्रसाद का झगड़ा:

1996 विश्व कप की बात है। भारत बनाम पाकिस्तान मैच में पाकिस्तान की पारी का 15वां ओवर वेंकटेश प्रसाद कर रहे थे। ओवर की चौथी गेंद को सोहेल ने बाउंड्री लाइन के बाहर भेज दिया। सोहेल इतने पर ही नहीं रूके उन्होने प्रसाद की ओर देखकर इशारा किया कि तुम्हारी जगह बाउंड्री के बाहर ही है। प्रसाद बिना कुछ बोले ओवर की अंतिम गेंद फेंकने चले गए। आखिरी गेंद को भी सोहेल ने उसी अंदाज में बाहर भेजना चाहा लेकिन प्रसाद ने चतुराई दिखाते हुए गेंद की गेंद को अंदर की तरफ लाए जो सोहेल का ऑफ स्टंप ले उड़ी। सोहेल को आउट करने के बाद आमतौर पर शांत रहने वाले प्रसाद ने आमिर सोहेल को उनके अंदाज में ही जवाब देते हुए पवेलियन की ओर जाने का इशारा किया। इस जुबानी जंग की शुरूआत सोहेल ने की लेकिन इसका अंत प्रसाद ने किया।

2. गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी का झगड़ा:

यह बात साल 2007 की है। भारत-पाकिस्तान मैच के दौरान गंभीर ने गेंद को लेग साइड में खेला। इस दौरान वह सिंगल लेने को दौड़ पड़े और रन लेने के दौरान ही उनका कंधा अफरीदी से भिड़ गया जिसके बाद दोनों के बीच जमकर बहसबाजी हुई और दोनों ने एक-दूसरे को खूब गालियां भी दीं। अंततः अंपायरों को दोनों खिलाड़ियों को अलग- अलग करना पड़ा। इस घटना के बाद मैच रैफरी ने दोनों खिलाड़ियों पर फाइन लगा दिया था।

1. ईशांत शर्मा और कामरान अकमल का झगड़ा:

साल 2012 में भारत-पाकिस्तान टी20 मैच के दौरान ईशांत शर्मा की गेंद पर कामरान अकमल को धोनी ने लपक लिया था लेकिन वह नो बॉल के कारण बच गए। इसके बाद अगली गेंद पर फिर से ईशांत ने अकमल को बीट किया और दोनों के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई। दोनों खिलाड़ी एक दूसरे पर चिल्लाने लगे। बाद में खिलाड़ियों और अंपायरों ने दोनों को अलग-अलग किया। इस तरह दोनों का झगड़ा खत्म हुआ।