India vs South Africa, 3rd Test: Visitors have to fight hard to avoid series whitewash
भारतीय टेस्ट टीम @Getty Images

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 0-2 से टेस्ट सीरीज हार चुकी टीम इंडिया कल सीरीज का तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच खेलने उतरेगी। केपटाउन में पहला टेस्ट 72 रन से और सेंचुरियन में दूसरा टेस्ट 135 रन से जीतने के बाद भारत के पास अपना आत्मसम्मा बचाने का ये आखिरी मौका है। बता दें कि विराट कोहली की कप्तानी में विदेशी सरजमीं पर भारत की ये पहली टेस्ट सीरीज हार है। इसी के साथ भारत का 2015 से चला आ रहा लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीतने का सिलसिला भी टूट गया। वैसे फैंस के लिए अच्छी बात ये है कि भारतीय टीम अगर 3-0 से भी हारती है तो भी नंबर एक टेस्ट रैंकिंग नहीं गंवाएगी।

प्लेइंग इलेवन के चयन को लेकर लगातार आलोचनाएं झेलने के बाद भारतीय टीम मैनेजमेंट ने आखिरकार भुवनेश्वर कुमार को तीसरे टेस्ट में उतारने का फैसला किया गया है। पहले दोनों टेस्ट में अपने चयन से चौंकाने वाले जसप्रीत बुमराह बाहर रहेंगे। वांडरर्स स्टेडियम में आयोजित नेट सेशन में पांचों तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर, ईशांत शर्मा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी ने अभ्यास किया। इसके अलावा भारतीय कप्तान कल एक और बदलाव कर सकते हैं।

कोहली ने लगातार 34 टेस्ट में कभी भी एक एकादश नहीं उतारी है। इस मैच में भी बदलाव देखने को मिलेंगे। सोमवार को आर अश्विन ने नेट पर बल्लेबाजी नहीं की जबकि रविंद्र जडेजा ने लंबा अभ्यास किया। भारत अगर एक स्पिनर को लेकर उतारता है तो जडेजा को मौका मिल सकता है। बिना स्पिनर के छह बल्लेबाजों को लेकर उतरने पर कोहली हरफनमौला तेज गेंदबाज के रूप में हार्दिक पांड्या को उतार सकते हैं। पार्थिव पटेल का खराब फार्म के बावजूद खेलना तय है।

जब से टीम जोहान्सबर्ग पहुंची है, तब से अजिंक्य रहाणे लगातार नेट पर अभ्यास कर रहे हैं। पिछले दो दिन में उन्होंने चार लंबे अभ्यास सेशन में भाग लिया है। इसे देखते हुए उनका कल खेलना तय लग रहा है। रहाणे की वापसी के बावजूद यह तय नहीं है कि रोहित बाहर होंगे। भारत छह बल्लेबाजों और एक तेज गेंदबाज हरफनमौला को लेकर भी उतर सकता है।

वैसे वांडरर्स पर भारत का रिकार्ड अच्छा रहा है। भारत ने इस मैदान पर चार टेस्ट ( नवंबर 1992 , जनवरी 1997, दिसंबर 2006 और दिसंबर 2013 ) खेले हैं और एक भी मैच नहीं हारा है। भारत ने यहां 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टेस्ट जीता था जिसमें श्रीसंत ने 99 रन देकर आठ विकेट लिये थे। 11 बरस बाद भारतीय टीम उसी हरी भरी और उछाल भरी पिच पर खेलेगी। पिच क्यूरेटर ने रविवार को पीटीआई से बातचीत में कहा था कि अब पिच पर से घास नहीं हटाई जाएगी।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज हारने के बाद टीम इंडिया की क्लास लगाएगी सीओए!
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज हारने के बाद टीम इंडिया की क्लास लगाएगी सीओए!

दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीका टीम पूरी तरह मजबूत है। सलामी बल्लेबाज एडन मारक्रम दूसरे टेस्ट में लगी चोट के बाद लौटेंगे। वैसे दक्षिण अफ्रीका सीरीज तो जीत ही चुकी है, ऐसे में आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले फाफ ड्यु प्लेसी अपनी बेंच स्ट्रेंथ को भी आजमा सकते हैं। वैसे सेंचुरियन टेस्ट के बाद दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ने संकेत दिए थे कि उनकी नजरें नंबर एक रैंकिंग पर है। इसके लिये उन्हें भारत को 3-0 से हराने के बाद ऑस्ट्रेलिया को भी 2-0 से मात देनी होगी। ऐसे में वे समान प्लेइंग इलेवन को भी उतार सकते हैं।

भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन: विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, रोहित शर्मा,  अजिंक्य रहाणे, पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी।

दक्षिण अफ्रीका की संभावित प्लेइंग इलेवन: फाफ डु प्लेसिस ( कप्तान ), डील एगर, एडन मारक्रम, हाशिम अमला, एबी डी विलियर्स, क्विंटन डी कॉक, केशव महाराज, मॉर्नी मॉर्केल, वेर्नोन फिलैंडर, कगिसो रबाडा, लुंगी एंगिडि।