जसप्रीत बुमराह © AFP
जसप्रीत बुमराह © AFP

भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए पहले वनडे मैच में मेजबान टीम ने परचम लहराया और भारत को 7 विकेट से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली। श्रीलंका की इस जीत ने और भारत की हार ने कई बड़े रिकॉर्ड बनाए। श्रीलंका की बात करें तो टीम को लगातार 12 मैचों में हार के बाद पहली जीत मिली है। तो वहीं, भारत अपने घर पर तीसरे सबसे कम स्कोर पर ऑलआउट हुआ। आइए आपको बताते हैं कि मैच में कौन-कौन से बड़े रिकॉर्ड बने।

भारत में गेंदों के हिसाब से सबसे बड़ी जीत: श्रीलंका ने पहले वनडे को 20.4 ओवरों में जीत लिया। इस लिहाज से टीम के पास अभी भी 176 गेंदें बची थीं। गेंदों के बचने के लिहाज से श्रीलंका की भारत में ये अब तक की सबसे बड़ी जीत है। श्रीलंका से पहले ये रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के नाम था। ऑस्ट्रेलिया ने साल 2007 में वडोदरा में 145 गेंद शेष रहते मैच को अपने नाम कर लिया था। लेकिन अब श्रीलंका ने उस रिकॉर्ड को पीछे छोड़कर गेंदों के बचने के लिहाज से भारत में सबसे बड़ी जीत हासिल करने का रिकॉर्ड बना डाला है।

इसके अलावा भारत के खिलाफ गेंदों के बचने के लिहाज से श्रीलंका की ये तीसरी सबसे बड़ी जीत है। श्रीलंका ने इससे पहले साल 2010 में दांबुला में 209 गेंद शेष रहते और 2012 में हंबनटोटा में 181 गेंद शेष रहते मैच हराया था।

8 साल भारत में मिली पहली जीत: धर्मशाला वनडे में भारत के खिलाफ जीत, श्रीलंका की भारत में 8 साल के बाद पहली जीत है। इससे पहले श्रीलंका ने भारत को आखिरी बार किसी भी वनडे मैच में 18 दिसंबर, 2009 को नागपुर में हराया था। वहीं, भारत के खिलाफ लगातार 5 हार के बाद श्रीलंका को किसी वनडे मैच में जीत मिली है। इसके अलावा श्रीलंका ने 12 वनडे मैचों के बाद पहली जीत हासिल की है।

भारत के खिलाफ फेंके सबसे ज्यादा मेडन: श्रीलंका की टीम ने भारत के खिलाफ कुल 13 मेडन ओवर फेंके जो कि भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा मेडन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड है। भारत के खिलाफ इससे पहले सबसे ज्यादा मेडन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड 1975 में लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड और 1981 में ऑकलैंड के मैदान पर न्यूजीलैंड के नाम था। दोनों टीनों ने 12-12 मेडन ओवर फेंके थे। धर्मशाला वनडे में श्रीलंका के गेंदबाजों ने कुल 13 मेडन ओवर फेंके।

बतौर कप्तान पहले ही मैच में हार के बाद रोहित शर्मा ने दिया बड़ा बयान
बतौर कप्तान पहले ही मैच में हार के बाद रोहित शर्मा ने दिया बड़ा बयान

घर पर भारत का तीसरा सबसे कम स्कोर: धर्मशाला में श्रीलंका के खिलाफ 112 रन अपने घर पर भारत का तीसरा सबसे कम स्कोर है। इससे पहले भारतीय टीम पने घर पर 1986 में कानपुर के मैदान पर 76 और 1993 में अहमदाबाद के मैदान पर 100 रनों पर ऑलआउट हो गई थी। अब श्रीलंका के खिलाफ धर्मशाला में टीम 112 रनों पर ऑलआउट हो गई जो कि अपने घर पर तीसरा सबसे स्कोर पर ऑलआउट होने का रिकॉर्ड है।