भारतीय टीम © IANS (File Photo)
भारतीय टीम © IANS (File Photo)

नागपुर में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत टेस्ट इतिहास की अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल करने से सिर्फ एक रन से चूक गया। इस मैच में भारत ने श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से हराया और अपने टेस्ट इतिहास की संयुक्त रूप से सबसे बड़ी जीत हासिल की। इससे पहले भी भारत ने साल 2007 में बांग्लादेश को एक पारी और 239 रनों से ही हराया था। हालांकि अगर भारत श्रीलंका को एक रन पहले ऑल आउट कर देता तो ये जीत भारत की अब तक की सबसे बड़ी जीत होती। इसके अलावा भी भारत ने कई रिकॉर्ड बनाए। आइए जानते हैं मैच में भारत ने क्या रिकॉर्ड बनाए।

भारत में अब तक की सबसे बड़ी जीत: भारत ने श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से हराते ही भारत में अब तक की सबसे बड़ी जीत हासिल करने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। अपनी धरती पर इससे पहले भारत की सबसे बड़ी जीत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ साल 1998 में थी। उस मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को एक पारी और 219 रनों से हराया था।

2017 में आर अश्विन के 50 विकेट पूरे, बना डाले 2 बड़े कीर्तिमान
2017 में आर अश्विन के 50 विकेट पूरे, बना डाले 2 बड़े कीर्तिमान

श्रीलंका के खिलाफ भारत की सबसे बड़ी जीत: इसके अलावा भारत की ये जीत श्रीलंका के खिलाफ भी अब तक की सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले श्रीलंका पर टीम इंडिया की सबसे बड़ी साल 2017 में पलेकेले में थी। पलेकेले में टीम इंडिया ने श्रीलंका को एक पारी और 171 रनों से हराया था। अब भारत ने उस जीत को पीछे छोड़ते हुए नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

साल 2017 में सबसे ज्यादा जीत का रिकॉर्ड: भारत ने श्रीलंका को हराते ही इस साल तीनों फॉर्मेट को मिलाकर कुल 32 जीत हासिल कर ली हैं। इसके साथ ही टीम इंडिया ने तीनों फॉर्मेट को मिलाकर किसी भी साल सबसे ज्यादा जीत हासिल करने का रिकॉर्ड बना डाला। इससे पहले तीनों फॉर्मेट को मिलाकर सबसे ज्यादा जीत हासिल करने का भारत का रिकॉर्ड 2016 में (31) था लेकिन अब भारत ने उस रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया।

दूसरे टेस्ट में भारत ने श्रीलंका को एक पारी 239 रनों से रौंदा
दूसरे टेस्ट में भारत ने श्रीलंका को एक पारी 239 रनों से रौंदा

श्रीलंका की 100वीं टेस्ट हार: इस हार के साथ ही श्रीलंका ने टेस्ट क्रिकेट में हार का शतक लगा दिया है। भारत के खिलाफ नागपुर में मिली हार श्रीलंका की टेस्ट इतिहास की कुल 100वीं हार है। इसके अलावा ये हार श्रीलंका की अब तक की सबसे बड़ी हार है। श्रीलंका को कभी भी इतनी बड़ी हार का सामना नहीं करना पड़ा था लेकिन भारत के खिलाफ उनके नाम ये अनचाहे रिकॉर्ड दर्ज हो गए।