भारत बनाम श्रीलंका  © Getty Images
भारत बनाम श्रीलंका © Getty Images

इक्का-दुक्का मैचों कों छोड़कर चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का अमूमन हर मैच बारिश के कारण बाधित हुआ है। आज टीम इंडिया जब ओवल के मैदान पर अपने दूसरे मैच में श्रीलंका से दो-दो हाथ करेगी तो एक बार फिर से बारिश की आशंका सबके दिलो- दिमाग में छाई होगी। बारिश होने के कारण कई टीमों को मौजूदा टूर्नामेंट में घाटा झेलना पड़ा है क्योंकि टूर्नामेंट छोटा होने के कारण हर मैच के परिमाण को गिना जा रहा है। ऐसे में डकवर्थ लुईस नियम से निकलने वाले परिणाम अच्छी टीमों को गर्त में धकेल देते हैं। मौसम विभाग के मुताबिक आज के दिन लंदन में पूरे दिन छिट-पुट बारिश होने की आशंकाएं हैं।

हालांकि, आसमान दोपहर के बाद खुल सकता है लेकिन इस दौरान पहली पारी प्रभावित होगी। इस पिच में हरियाली छाई हुई है इस तरह तेज गेंदबाजों को अपार मदद मिलने की संभावनाएं हैं। प्वाइंट टेबल की बात करें तो टीम इंडिया अपना पहला मैच जीतकर ग्रुप बी में टॉप पर है। वहीं, श्रीलंका पहला मैच हारने के साथ प्वाइंट टेबल में अंतिम स्थान पर है। जाहिर है कि अगर श्रीलंका यह मैच हारती है तो वह टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी।

श्रीलंका टीम की बात करें तो मैथ्यूज सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर खेलने के लिए फिट हैं। वहीं निलंबन के कारण उपुल थरंगा टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं। भारत के खिलाफ मैच के पहले चमारा कपूगेदरा अपना घुटना घायल कर बैठे और इस तरह से वह टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं। श्रीलंका इस मैच में अपने ओवर-रेट पर ख्याल रखना चाहेंगे जिसकी वजह से थरंगा को निलंबित होना पड़ा। हालांकि, इसके चलते उनके संयोजन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। ओपनिंग में निरोशन डिकवेला और कुसल परेरा नजर आ सकते हैं।

श्रीलंका वैसे तो आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी (पूर्व में आईसीसी नॉकआउट) में 1998 से ही प्रतिभागी रहा है लेकिन इन सालों में वह सिर्फ एक बार ही छाप छोड़ पाया। साल 2002 में इस टू्र्नामेंट का आयोजन श्रीलंका में किया गया था। श्रीलंका ने पूरे टूर्नामेंट में गजब का प्रदर्शन किया था और फाइनल में जगह बनाई थी। लेकिन यहां उनकी किस्मत खराब हो गई और फाइनल मैच बारिश में धुल गया और भारत और श्रीलंका को आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2002 का संयुक्त रूप से विजेता घोषित कर दिया गया। तबसे श्रीलंका इस टूर्नामेंट को जीतने में कभी सफलता अर्जित नहीं कर पाया।

[ये भी पढ़ें: आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017(प्रिव्यू): युवाओं के दम पर चैंपियंस ट्रॉफी जीतने की कोशिश में श्रीलंका]

मौजूदा चैंपियंस ट्रॉफी में श्रीलंका टीम की बात करें तो उनके पास पहले के दिनों जैसे बड़े खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन, कुमार संगकारा, तिलकरत्ने दिलशान व चमिंडा वास नहीं है। बल्कि अनुभव के नाम पर उनकी उम्मीदें एंजलो मैथ्यूज, नुवान कुलशेखरा, थिसारा परेरा, दिनेश चंडीमल, लसिथ मलिंगा पर ही समाप्त हो जाती हैं। श्रीलंका टीम इस समय पुर्ननिर्माण के दौर से गुजर रही है।

श्रीलंका के लिए अच्छी बात ये है कि उनके सबसे सफल गेंदबाज लसिथ मलिंगा एक बार फिर से टीम में वापस आ चुके हैं। वह पिछले 19 महीनों बाद कोई वनडे सीरीज खेल रहे हैं। इसके अलावा श्रीलंका ने कुछ ऐसे खिलाड़ियों को टीम में जगह दी है जिन्होंने हाल- फिलहाल में सीमित ओवर क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन किया है। इनमें कुसल और नुवान प्रदीप प्रमुख हैं। श्रीलंका ने इस टूर्नामेंट के लिए अपनी टीम में महज दो स्पिनरों को शामिल किया है बाकी सभी तेज गेंदबाज हैं।

टीम इंडिया की बात करें तो वे अंतिम एकादश में कोई बदलाव नहीं करना चाहेंगे और उसी टीम के साथ उतरना चाहेंगे जिसने उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ जीत दिलवाई थी। ओवल की पिच एजबेस्टन से अलग नहीं है। ऐसे में टीम इंडिया के बल्लेबाज रनों का अंबार लगाना चाहेंगे। मैच के पहले कप्तान विराट कोहली ने रविचंद्रन अश्विन को अंतिम एकादश में जगह न दिए जाने को लेकर कहा, “अश्विन उच्च स्तरीय गेंदबाज हैं। हर कोई इसे जानता है। वह काफी पेशेवर भी हैं। जो टीम हमने पिछले मैच में चुनी वे उसके कारण से रूबरू हैं और उन्हें उससे कोई समस्या नहीं है। उन्होंने मुझसे कहा, जो तुम करोगे मैं तुम्हारा साथ दूंगा। कोहली ने कहा कि हमारे बीच यही हमेशा से समीकरण रहा है।”

क्या कहते हैं आंकड़े:

– इस मैच के साथ भारत और श्रीलंका 150 वनडे मैच एक- दूसरे के खिलाफ खेलने वाली टीमें बन जाएंगी। भारत ने श्रीलंका के खिलाफ 83 मैच जीते हैं और 54 हारे हैं। वहीं साल 2008 से अब तक भारत ने श्रीलंका के खिलाफ 34 मैच जीते हैं और 17 हारे हैं।

– मलिंगा ने अपने वनडे करियर में कुल 7 बार 80 से ज्यादा रन खाए हैं। जो किसी भी अन्य गेंदबाज के मुकाबले तीन बार ज्यादा हैं। भारत के खिलाफ वह तीन बार 90 से ज्यादा रन दे चुके हैं

– विराट कोहली को वनडे में अपने 8,000 रन बनाने के लिए 164 रनों की दरकार है। अगर वह यह कारनामा करने में सफल हो जाते हैं तो वह वनडे में एबी डीविलियर्स को पीछे छोड़ते हुए सबसे तेज 8,000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज बन जाएंगे।

टीम इंडिया की संभावित प्लेइंग इलेवन: शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, युवराज सिंह, एमएस धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रित बुमराह, उमेश यादव।

श्रीलंका की संभावित प्लेइंग इलेवन: निरोशन डिकवेला, कुसल मेंडिस, दिनेश चंडिमल, एंजलो मैथ्यूज, कुसल परेरा, एसेला गुणरत्ने, थिसारा परेरा, सेकुगे प्रसन्ना, सुरंगा लकमल, लसिथ मलिंगा, नुवान प्रदीप।

दोनों टीमें:

श्रीलंका: निरोशान डिकवेला (विकेटकीपर), एंजलो मैथ्यूज (कप्तान), कुसल मेंडिस, दिनेश चंदिलाल, दानुस्का गुनाथिलका, कुसल परेरा, एसेला गुणरत्ने, सेकुगे प्रसन्ना, सुरंगा लकमल, लसिथ मलिंगा, नुवान प्रदीप, नुवान कुलशेखरा, थिसारा परेरा, लक्षन संदाकन।

भारत: रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली (कप्तान), युवराज सिंह, हार्दिक पंड्या, एमएस धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, रविचंद्रन अश्विन, दिनेश कार्तिक, अजिंक्य रहाणे।