© AFP
© AFP

पहला मैच महज एक रन से हारने के बाद भारतीय टीम रविवार को होने वाले दूसरे टी20 मैच को जीतकर सीरीज 1-1 से बराबर करने के लिए उतरेगी। भारतीय बल्लेबाजों ने 246 के पहाड़ जैसे स्कोर को चेज करने में जिस तरह का साहस दिखाया उससे एक समय लग रहा था कि भारतीय टीम इस स्कोर को आसानी से चेज कर लेगी लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा हो नहीं पाया और टीम इंडिया को एक रन से हार का सामना करना पड़ा। रविवार के मैच में भी रनों की बरसात एक बार फिर से हो सकती है ऐसी उम्मीदें जताई जा रही हैं। अगर भारतीय टीम दूसरा मैच भी हार जाती है तो उसे टी20I में दूसरा स्थान गंवाना पड़ सकता है। इसके साथ ही वेस्टइंडीज दूसरे पर और भारत तीसरे स्थान पर खिसक जाएगा।

पहले मैच में जीत का पूरा श्रेय ड्वेन ब्रावो के अंतिम ओवर को जाना चाहिए। दोनों टीमों के ही गेंदबाज रन बहाव को रोकने में नाकाम नजर आ रहे थे। सिर्फ दो गेंदबाज भारत से रविचंद्रन अश्विन और वेस्टइंडीज से ड्वेन ब्रावो इस बहाव को रोकने में कुछ हद तक कामयाब हो पाए। दोनों ने 10 रन प्रति ओवर की दर से ही रन दिए।

आमतौर पर बहुत किफायती रहने वाले सुनिल नरैन बहुत महंगे साबित हुए और 16.66 के इकॉनमी रेट से रन दे डाले। वहीं टी20I नंबर एक गेंदबाज सैमुअल बद्री की भी खूब धुनाई हुई और इसलिए उनके कप्तान ने उनसे महज दो ओवर ही फिकवाए। भारत के जसप्रीत बुमराह ने 4 ओवरों में 47 रन दिए। वहीं स्टुअर्ट बिन्नी ने एक ओवर में 32 रन दे डाले। पहले मैच में बल्लेबाजों ने जबरदस्त प्रदर्शन किया और दर्शकों को एक बार फिर से उम्मीद है कि रविवार को होने वाले दूसरे टी20 मुकाबले में भी ऐसी ही कुछ आतिशबाजी देखने को मिलेगी। बरिश इस मैच का मजा जरूर किरकिरा कर सकती है। ऐसे में फैन्स जरूर चाहेंगे कि इंद्र भगवान इस मैच पर मेहरबान न हों।

मौसम: मैच के दौरान बारिश होने की बहुत ज्यादा आशंकाएं हैं। लेकिन पहले दिन भी बारिश की आशंकाएं थीं लेकिन खेल बिल्कुल भी नहीं रुका।

टीम न्यूज

भारत: एमएस धोनी अजिंक्य रहाणे की जगह शिखर धवन को टीम में लाने की सोच सकते हैं। इससे शीर्ष क्रम में एक और तेजी से रन बनाने वाला बल्लेबाज जुड़ जाएगा। पहले मैच में इविन लुईस ने स्टुअर्च बिन्नी के ओवर में 32 रन बटोरे थे। जिसके बाद उन्हें गेंदबाजी का मौका नहीं दिया गया। उन्हें बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला। इस तरह अगर उन्हें पहले मैच के बाद बाहर कर दिया जाता है तो यह उनके साथ ज्यादती होगी। जाहिर है कि इस मैच को ज्यादातर गेंदबाज भूलना चाहेंगे।

वेस्टइंडीज: वेस्टइंडीज टीम में परिवर्तन शायद ही किए जाएं। अगर क्रिस गेल ठीक हो जाते हैं तो किसी एक को टीम से बाहर होना पड़ सकता है। लुईस ने टीम में गेल की जगह ली थी। लेकिन शतक जड़ने के बाद उनकी जगह गेल को टीम में नहीं लिया जाएगा। गेल के लिए किसी दूसरे खिलाड़ी को टीम से बाहर होना पड़ेगा।

क्या आप जानते हैं?

1. एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा रन बनाने के लिए विराट कोहली को 52 और रनों की दरकार है। उनके नाम अभी 1614 रन हैं और वह क्रिस गेल के द्वारा साल 2015 में बनाए गए 1665 रनों से पीछे हैं।

2. केएल राहुल ने तीनों फॉर्मेटों में शतक जड़ने के लिए 20 से कम पारियां खेली हैं जो विश्व में किसी भी खिलाड़ी के द्वारा सबसे कम हैं।

धोनी ने कहा, “मुझे राहुल पर भी अब भरोसा है। राहुल हर तरह के शॉट खेल सकता है। वह एक संपूर्ण क्रिकेटर है।”

ब्रेथवेट ने कहा,”सभी से सुझावों ने मेरे कप्तानी की भूमिका को आसान बना दिया है।”
टीमें इस प्रकार हैं:

वेस्ट इंडीज: जॉनसन चार्ल्स, आंद्रे फ्लेचर(विकेटकीपर), इविन लुईस, मार्लन सैमुएल्स, लेंडल सिमंस, कीरोन पोलार्ड, आंद्रे रसेल, ड्वेन ब्रावो, कार्लोस ब्रेथवेट(कप्तान), सुनील नारायण, सैमुअल बद्री, जेसन होल्डर, क्रिस गेल।

भारत: रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, लोकेश राहुल, महेंद्र सिंह धोनी(कप्तान/विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, स्टुअर्ट बिन्नी, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, अमित मिश्रा।