© AFP
भारतीय टीम चौथे टेस्ट में जीत हासिल कर सीरीज में 3-0 की बढ़त बनाना चाहेगी © AFP

भारत और वेस्टइंडीज के बीच पोर्ट ऑफ स्पेन में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट मैच में भारतीय टीम में किन ग्यारह खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरेगी इस पर संशय बना हुआ है। पिछले टेस्ट में लोकेश राहुल और अजिंक्य रहाणे को छोड़कर भारतीय टॉप ऑर्डर फ्लॉप साबित हुआ। हालांकि निचले क्रम में रविचन्द्रन अश्विन और ऋृद्धिमान साहा ने अच्छा खेल दिखाया, लेकिन कमजोर वेस्टइंडीज के आगे टॉप ऑर्डर का फेल होना चिंता का विषय है। ऐसे में विराट कोहली चौथे टेस्ट में टीम में कुछ फेरबदल कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं चौथे टेस्ट में भारतीय टीम किन ग्यारह खिलाड़ियों को मौका दे सकती है।

टॉप ऑर्डर:
भारतीय टॉप ऑर्डर में शिखर धवन की खराब फॉर्म चिंता का विषय है। पहले टेस्ट में 84 रनों की पारी खेलने के बाद उनके बल्ले से एक भी बड़ी पारी नहीं निकली है। चौथे टेस्ट में उनसे भारतीय टीम को बड़ी पारी की उम्मीद होगी। दूसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में लोकेश राहुल ने अपनी शानदार बल्लेबाजी का सिलसिला जारी रखा है। ऐसे में विराट उनको अंतिम ग्यारह में जरूर रखना चाहेंगे, इस स्थिति में मुरली विजय फिर से बेंच की शोभा बढ़ाएंगे। विराट भी पहले टेस्ट के बाद से बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे हैं। ऐसे में चौथे टेस्ट में वो अपनी लय में लौटना चाहेंगे साथ ही विराट एक बार फिर से नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए उतर सकते हैं।

मिडिल ऑर्डर:
टीम इंडिया के मध्यक्रम की जिम्मेदारी अजिंक्य रहाणे ने संभाल रखी है। दूसरे टेस्ट में शतक जमाने के बाद तीसरे टेस्ट में भी उनके बल्ले से 78 रनों की शानदार पारी निकली। चेतेश्वर पुजारा और रोहित शर्मा के बीच विराट रोहित पर एक बार फिर से भरोसा दिखा सकते हैं। इसका मतलब ये होगा कि पुजारा को अंतिम ग्यारह में जगह मिल पाना मुश्किल है। निचले क्रम में अश्विन और साहा ने कमाल की बल्लेबाजी की है। दोनों ने तीसरे टेस्ट में शतक जमाकर भारत को मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकाला। निचले क्रम में रविन्द्र जडेजा ने अपनी बल्लेबाजी से निराश किया है तो गेंद से भी उनका प्रदर्शन औसत ही रहा है, लेकिन फिर भी विराट उनको अंतिम ग्यारह में मौका दे सकते हैं।

पेस अटैक:
इस सीरीज में भारतीय तेज गेंदबाजों ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है। मोहम्मद शमी शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं तो ईशांत शर्मा भी लय में लौट रहे हैं। तीसरे टेस्ट में भुवनेश्वर कुमार ने भी 5 विकेट झटक कर टीम इंडिया की पेस अटैक को और मजबूती दी है। तीनों ही तेज गेंदबाजों ने बाउंसर का प्रयोग कर विंडीज बल्लेबाजों को अच्छा खासा परेशान किया है। ऐसे में विराट पेस की इस तिकड़ी के साथ शायद ही कोई छेड़छाड़ करेंगे।

स्पिन अटैक:
बात करें भारतीय स्पिन अटैक की तो अश्विन ने बल्ले के साथ गेंद से भी पूरी जिम्मेदारी निभाई है। इस सीरीज में अश्विन 2 बार 5 विकेट झटक चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर से उनसे अच्छी गेंदबाजी की उम्मीद भारतीय टीम को रहेगी। तीसरे टेस्ट में जडेजा ने गेंद से ठीक ठाक प्रदर्शन किया। पहली पारी में 1 विकेट लेने के बाद दूसरी पारी में जडेजा ने 2 विकेट झटके। विराट चाहें तो अमित मिश्रा को मौका दे सकते हैं लेकिन उम्मीद है कि वो जडेजा को एक और मौका देना चाहेंगे।

संभावित अंतिम ग्यारह खिलाड़ी इस प्रकार हैं।

भारत:
शिखर धवन, लोकेश राहुल, विराट कोहली(कप्तान), अंजिक्य रहाणे, रोहित शर्मा, रविचन्द्रन अश्विन, ऋृद्धिमान साहा(विकेटकीपर), रविन्द्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी।