Indian Selectors to keep close tabs on key India players
players to watch out

इंडियन टी20 लीग के ठीक बाद भारतीय टीम इंग्लैंड में विश्व कप खेलने जाएगी। कुछ खिलाड़ी अपने हालिया प्रदर्शन से चयनकर्ताओं का ध्यान खींचना चाहेंगे। चलिए, जानते हैं कौन- कौन से खिलाड़ी है इस लिस्ट में शामिल।

श्रेयस अय्यर

इंडियन टी20 लीग में दिल्ली की कप्तानी करने वाले श्रेयस अय्यर विश्व कप के लिए अपनी दावेदारी पेश करना चाहेंगे। कोच रिकी पोंटिंग भी कह चुके हैं कि चौथे नंबर पर उनको भी मौका दिया जाना चाहिए था। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खेले 10 मुकाबलों में अय्यर ने 60.50 की औसत से रन बनाए थे जिसमें दो शतकीय पारी शामिल थी।

दिनेश कार्तिक

निदहास ट्रॉफी में बांग्लादेश के खिलाफ आतिशी पारी खेलकर भारत को जीत दिलाने वाले दिनेश कार्तिक भी विश्व कप टीम में जगह बनाने की दावेदारी पेश करना चाहेंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हालिया वनडे सीरीज में उनको मौका नहीं मिला था और रिषभ पंत भी कुछ खास करने में नाकाम रहे थे। कोलकाता की कप्तानी करने वाले इस बल्लेबाज की नजर बेहतर प्रदर्शन से चयनकर्ताओं का दरवाजा खटखटाने की रहेगी।

रविंद्र जडेजा

टेस्ट टीम में खेलने वाले ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा को विश्व कप की संभावित टीम में चुने जाने की उम्मीद है। हार्दिक पांड्या को चोटिल होने की वजह से उनको वनडे टीम में वापसी की मौका मिला। एशिया कप और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम में उन्होंने औसत प्रदर्शन किया और चार मैच में महज 45 रन बनाने के साथ तीन ही विकेट हासिल कर पाए। चेन्नई की तरफ से खेलते हुए वह गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी में भी छाप छोड़ना चाहेंगे ताकि विश्व कप के लिए चुनी जाने वाली टीम में उनको जगह मिल सके।

खलील अहमद

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद को विश्व कप के लिए मजबूत दावेदार माना जा रहा था लेकिन मोहम्मद शमी के शानदार प्रदर्शन ने उनकी उम्मीदों को झटका दिया। एशिया कप में वनडे डेब्यू करने वाले खलील ने पहले मुकाबले में तीन विकेट हासिल किए थे। वहीं वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में 13 रन देकर तीन विकेट हासिल करने के बाद उनकी काफी तारीफ हुई थी। उनके प्रदर्शन में गिरावट और अनुभवी शमी की शानदार गेंदबाजी की वजह से विश्व कप में उनकी जगह पर सवाल खड़ा कर दिया।

उमेश यादव

भारतीय टीम की तेज गेंदबाजी में उमेश यादव एक अहम कड़ी साबित हो सकते हैं। उनके पास अनुभव भी है और रफ्तार भी जिसकी वजह से उनके नाम पर चर्चा होती है। पिछले कुछ महीनों में तेज गेंदबाजी के विकल्प में खलील अहमद, मोहम्मद सिराज, सिद्दार्थ कौल और शार्दुल ठाकुर को मौका दिया गया। इंडियन टी20 लीग में पिछले सीजन धारदार गेंदबाजी करने वाले उमेश इस बार भी लय बरकरार रख विश्व कप की टीम के लिए अपने नाम की दावेदारी रखना चाहेंगे।