रोहित शर्मा तीसरे आईपीएल खिताब पर नजर जमाए हुए हैं © Getty Images
रोहित शर्मा तीसरे आईपीएल खिताब पर नजर जमाए हुए हैं © Getty Images

आईपीएल की अगर कोई ऐसी टीम है जिसमें विश्व क्रिकेट के कई दिग्गज एक साथ खेलें हैं तो वो टीम है मुंबई इंडियंस। साल 2008 तक सचिन तेंदुलकर, सनथ जयसूर्या और शॉन पोलाक जैसे खिलाड़ी मुंबई टीम का हिस्सा हुआ करते थे। वहीं ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल कप्तान रिकी पॉन्टिंग भी इस टीम के साथ लंबे समय तक जुड़े रहे। मुंबई टीम की कप्तानी भी लगभग हर सीजन में अलग अलग खिलाड़ी के हाथ में रही। सचिन तेंदुलकर से शुरू होकर यह विरासत पहले शॉन पोलाक फिर हरभजन सिंह से होकर पॉन्टिंग के बाद रोहित शर्मा तक पहुंची। दो बार आईपीएल खिताब जीत चुकी इस टीम के लिए यह सीजन तीसरी बार ट्रॉफी जीतकर दुनिया हिलानेका सुनहरा मौका है।

मुंबई इंडियंस का अब तक का सफर: साल 2008 में इस टीम ने आईपीएल की सबसे मंहगी टीम के रूप में अपना सफर शुरू किया। बड़े सितारों से सजी इस टीम ने पहले सीजन की शुरुआत तो धमाकेदार की लेकिन सेमीफाइनल से पहले ही मुंबई का सफर खत्म हो गया। पहले सीजन में हरभजन सिंह, शॉन पोलाक और सचिन तेंदुलकर ने बारी बारी से टीम की कप्तानी संभाली थी। दूसरे सीजन में भी मुंबई का सिक्का नहीं जमा। आखिरकार तीसरे सीजन में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर सचिन तेंदुलकर मुंबई इंडियंस को फाइऩल तक ले आए। मुंबई के डी वाई पाटिल स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेले गए फाइनल मैच में मुंबई को 22 रन से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि मैन ऑफ दी सीरीज सचिन तेंदुलकर रहे थे। 2011 के आईपीएल सीजन में मुंबई टीम को बैंगलौर के हाथों दूसरे क्वालिफायर मैच में हारकर टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा था। हालांकि 2011-12 की चैम्पियंस लीग में मुंबई को खिताबी जीत हासिल हुई। [ये भी पढ़ें: आईपीएल 2017: दसवें सत्र का पूरा शेड्यूल]

साल 2013 में मुंबई की कप्तानी रोहित शर्मा को सौंप दी गई और बतौर कप्तान अपने पहले ही सीजन में रोहित ने मुंबई को उसका पहला आईपीएल खिताब दिलाया। कोलकाता के मशहूर ईडन गार्डन में खेले गए इस मैच में एक बार मुंबई के सामने महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स थी लेकिन यहां मुंबई टीम 23 रन से बाजी मार ले गई। इसी के साथ 2013 की चैम्पियंस लीग भी मुंबई ने ही जीती। मुंबई इंडियंस को अपने अगले खिताब के लिए दो साल का इंतजार करना पड़ा। साल 2015 में 2013 का इतिहास फिर से दोहराया गया। एक बार फिर ईडन गार्डन के मैदान पर मुंबई और चेन्नई टीम आमने सामने आई। पिछली बार फ्लॉप रहे कप्तान रोहित शर्मा ने इस बार शानदार अर्धशतक जड़ा। वहीं मिचेल मैक्क्लेनघन की बेहतरीन गेंदबाजी की बदौलत मुंबई 41 रनों से मैच जीत गई। मैन ऑफ द मैच कप्तान रोहित शर्मा को बनाया गया।

आईपीएल 10 में मुंबई टीम का शेड्यूल:

#

टीम

शहर

तारीख

समय

दिन

1

राइजिंग पुणे सुपरजाइन्टस

मुंबई इंडियंस

 पुणे

6-अप्रैल

8:00 PM

गुरुवार

2

मुंबई इंडियंस

कोलकाता नाइट राइडर्स

 मुंबई

9-अप्रैल

8:00 PM

रविवार

3

मुंबई इंडियंस

सनराइजर्स हैदराबाद

 मुंबई

12-अप्रैल

8:00 PM

बुधवार

4

रॉयल चैलेंजर बैंगलौर

मुंबई इंडियंस

 बैंगलूरू

14-अप्रैल

4:00 PM

शुक्रवार

5

मुंबई इंडियंस

गुजरात लॉयंस

 मुंबई

16-अप्रैल

4:00 PM

रविवार

6

किंग्स इलेवन पंजाब

मुंबई इंडियंस

 इंदौर

20-अप्रैल

8:00 PM

गुरुवार

7

मुंबई इंडियंस

दिल्ली डेयरडेविल्स

 मुंबई

22-अप्रैल

8:00 PM

शनिवार

8

मुंबई इंडियंस

राइजिंग पुणे सुपरजाइन्टस

 मुंबई

24-अप्रैल

8:00 PM

सोमवार

9

मुंबई इंडियंस

रॉयल चैलेंजर बैंगलौर

 मुंबई

1-मई

4:00 PM

सोमवार

10

दिल्ली डेयरडेविल

मुंबई इंडियंस

 दिल्ली

6-मई

8:00 PM

शनिवार

11

सनराइजर्स हैदराबाद

मुंबई इंडियंस

 हैदराबाद

8-मई

8:00 PM

सोमवार

12

मुंबई इंडियंस

किंग्स इलेवन पंजाब

 मुंबई

11-मई

8:00 PM

गुरुवार

13

कोलकाता नाइट राइडर्स

मुंबई इडियंस

 कोलकाता

13-मई

8:00 PM

शनिवार

14

दिल्ली डेयरडेविल

रॉयल चैलेंजर बैंगलौर

 दिल्ली

14-मई

8:00 PM

रविवार

15

तय होना बाकी

तय होना बाकी

 घोषित करना बाकी

16-मई

8:00 PM

मंगलवार

16

तय होना बाकी

तय होना बाकी

 घोषित करना बाकी

17-मई

8:00 PM

बुधवार

17

तय होना बाकी

तय होना बाकी

 घोषित करना बाकी

19-मई

8:00 PM

शुक्रवार

18

तय होना बाकी

तय होना बाकी

हैदराबाद

21-मई

8:00 PM

रविवार

मुंबई इंडियंस की ताकत: मुंबई इंडियंस कोलकाता और चेन्नई टीम के अलावा तीसरी ऐसी टीम है जो दो बार आईपीएल की ट्रॉफी जीत चुकी है। यह एक ऐसा कारण है जो इस टीम को खिताब की मजबूत दावेदार बनाता है। मुंबई के पास कई बड़े बल्लेबाज और बेहतरीन गेंदबाजों की पूरी पलटन है। जिसमें बिग हिटर्स, मजबूत मध्यक्रम बल्लेबाज और टी20 स्पेशलिस्ट गेंदबाज शामिल हैं। अगर संक्षेप में कहे तो दूसरी टीमों के मुंबई से डरने के कई सारे कारण हम यहां आपको बताने वाले हैं।

रोहिटमैनशर्मा: आईपीएल का दसवां सीजन शुरू होने से पहले मुंबई टीम के लिए सबसे बड़ी परेशानी की वजह थी कप्तान रोहित शर्मा की फिटनेस। रोहित के लिए यह घरेलू सीजन चोटों से भरा रहा। पहले तो वह पिछले साल न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी वनडे मैच के दौरन चोटिल हो गए। जिसके बाद उन्हें अपनी सर्जरी करवानी पड़ी और वह लंबे समय के लिए मैदान से दूर हो गए। रोहित ने हाल ही में विजय हजारे टूर्नामेंट से मैदान पर वापसी की लेकिन एक बार फिर वह चोटिल हो गए। हालांकि अब रोहित और मुंबई इंडियंस के फैंस के लिए अच्छी खबर यह है कि रोहित शर्मा को फिट घोषित कर दिया गया है और वह एक बार फिर से आईपीएल में खेलते नजर आएंगे। [ये भी पढ़ें: दूसरे सीजन में पहला खिताब जीतने पर होंगी गुजरात लॉयंस की नजरें]

रोहित मुंबई इंडियंस टीम की जान है, उनकी कप्तानी में ही मुंबई ने अपने दोनो खिताब जीते हैं। रोहित के टीम में रहने से बल्लेबाजी को अतिरिक्त मजबूती मिलती है। रोहित वह अब तक खेले सभी सीजन में आईपीएल के तीसरे सबसे ज्यादा रन (3874) बनाने वाले बल्लेबाज है। वहीं 2011 में मुंबई टीम का हिस्सा बनने वाले रोहित इस टीम से सर्वाधिक रन (2977) बनाने वाले बल्लेबाज भी हैं। रोहित की वापसी मुंबई इंडियंस के लिए बहुत मायने रखती है।

मजबूत बल्लेबाजी चौकड़ी: मुंबई टीम के पास काइरन पोलॉर्ड, जॉस बटलर, पार्थिव पटेल और अंबाती रायडू जैसे चार उम्दा शीर्ष क्रम के बल्लेबाज है। इन चारों के फॉर्म में रहने से टीम की बल्लेबाजी किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं करेगी। पोलॉर्ड आईपीएल की शुरुआत से मुंबई इंडियंस का हिस्सा नहीं थे। साल 2010 में वह मुंबई में शामिल हुए लेकिन कुछ खास कमाल नहीं कर पाए। पोलॉर्ड ने 2011 की चैम्पियंस लीग में लगभग 200 की स्ट्राइक रेट से 146 रन बनाकर अपनी मौजूदगी जाहिर की। इसके बाद से वह मुंबई के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं। उन्होंने अब तक खेले सात सीजनों में 147.36 की स्ट्राइक रेट से कुल 2461 रन बनाए हैं। वह रोहित शर्मा, सचिन तेंदुलकर और अंबाती रायडू के बाद मुंबई के चौथे शीर्ष स्कोरर बल्लेबाज हैं।

अब तक तो आप जान गए हैं कि रायडू मुंबई के तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। रायडू ने भी 2010 में मुंबई टीम के लिए खेलना शुरू किया था और 2015 में मुंबई की खिताबी जीत में उनका अहम योगदान था। वहीं जॉस बटलर भी मुंबई टीम के विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक हैं। हालांकि वह पिछले सीजन में ही मुंबई टीम का हिस्सा बने हैं लेकिन एक ही सीजन में उन्होंने 138.58 की स्ट्राइक रेट से 255 रन जड़ दिए। मुंबई के चौथे सबसे अहम बल्लेबाज हैं पार्थिव पटेल। पटेल बल्लेबाजी के साथ साथ विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी भी संभालते हैं। पटेल साल 2015 में मुंबई इंडियंस टीम में शामिल हुए, केवल दो ही सीजन में उन्होंने 129.64 के स्ट्राइक रेट से 516 रन बनाए। पटेल ने कई बार अपनी टीम के लिए संघर्षपूर्ण पारी खेली है।

यॉर्कर अटैक: मुंबई टीम की बल्लेबाजी ही नहीं बल्कि गेंदबाजी भी कहीं ज्यादा मजबूत है। मुंबई के पास टी20 में विश्व का सबसे बेहतरीन गेंदबाज है- लसिथ मलिंगा। अगर विपक्षी टीम को आखिरी ओवर में 6 रन चाहिए होगें तो इस बात को कोई दो राय नहीं कि कोई भी कप्तान मलिंगा को गेंद थमाएगा। मलिंगा अपनी खतरनाक यॉर्कर्स के लिए मशहूर हैं और इस बात पर किसी को शक नहीं होना चाहिए कि वह मु्ंबई के शीर्ष विकेट टेकर गेंदबाज है। इस श्रीलंकन दिग्गज ने आठ सीजन में कुल 168 विकेट लिए हैं जो कि आईपीएल में रिकॉर्ड है। मलिंगा केवल मुंबई के ही नहीं बल्कि पूरे आईपीएल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। [ये भी पढ़ें: रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू(प्रिव्यू), आईपीएल 2017: चोटों से जूझ रही आरसीबी को पहले खिताब की तलाश]

मुंबई टीम के पास एक नहीं बल्कि दो-दो यॉर्कर किंग हैं। भारतीय टीम के यॉर्कर स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह भी मलिंगा के रास्ते पर ही चल रहे हैं। बुमराह साल 2013 में मुंबई टीम का हिस्सा बने थे। अपने चार सीजन के आईपीएल करियर में उन्होंने 34 मैच खेले और कुल 29 विकेट चटकाए है। बुमराह-मलिंगा शुरुआती और अंतिम ओवरों में विपक्षी टीम के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं।

ऑलराउंडर्स पांड्या ब्रदर्स: हार्दिक पांड्या और कृुणाल पांड्या मुंबई इंडियंस टीम के दो अहम हरफनमौला खिलाड़ी हैं। हार्दिक जहां साल 2015 में आईपीएल का हिस्सा बने वहीं बड़े भाई कृुणाल ने साल 2016 में आईपीएल में पर्दापण किया। ये दोनों ही खिलाड़ी बल्ले और गेंद दोनों से साथ प्रदर्शन कर सकते हैं। पांड्या ने अपने पहले ही आईपीएल मैच में बिग हिटर के रूप में अपनी पहचान बनाई। हालांकि पिछला सीजन उनके लिए कुछ खास नहीं रहा। [ये भी पढ़ें: राइजिंग पुणे सुपरजाइंट(प्रिव्यू), आईपीएल 2017: स्टीवन स्मिथ की अगुआई में कमाल करना चाहेगी आरपीएस]

दूसरी ओर कृुणाल पिछले साल तब सुर्खियों में आए जब मुंबई टीम ने उन्हें 2 करोड़ रुपए में खरीदा। कृुणाल ने पहले ही सीजन में अपनी छाप छोड़ी, उन्होंने 191.12 के स्ट्राइक रेट से 237 रन बनाए साथ ही छह विकेट भी चटकाए। पिछले सीजन के बाद हार्दिक ने टीम इंडिया में शानदार वनडे डेब्यू किया। इसके बाद उनके प्रदर्शन में काफी सुधार आया है। दोनो भाई गेंद और बल्ले दोनों से ही कारगल साबित हो चुके हैं और इस सीजन पांड्या ब्रदर्स विपक्षी टीमों पर कहर बरसाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

बेहतरीन गेंदबाजी: आईपीएल की शुरुआत भले ही चौके-छक्कों से भरे टूर्नामेंट के रूप में हुई थी लेकिन जल्द ही सभी टीमों को ये समझ आ गया कि गेंदबाजी भी इस प्रारूप का अहम हिस्सा है। मुंबई इंडियंस के प्रमुख स्पिनर हरभजन सिंह हैं। हालांकि उनके लिए यह घरेलू सीजन कुछ खास नहीं रहा। विजय हजारे और देवधर ट्रॉफी में भज्जी वह कमाल नहीं कर पाए जिसके लिए वह जाने जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ उनकी फिटनेस भी परेशानी का कारण बनी हुई है। [ये भी पढ़ें: कोलकाता नाइटराइडर्स(प्रिव्यू): तीसरी बार खिताब जीतने के लिए बेकरार केकेआर]

मुंबई इंडियंस टीम के पास तेज तर्रार पेसर्स और बेहतरीन फिरकी गेंदबाज हैं। मलिंगा और बुमराह के साथ तेज गेंदबाजी के लिए मुंबई के पास मिशेल मैक्क्लेनघन और मिचेल जॉनसन हैं। मैक्क्लेनघन साल 2015 में ही मुंबई टीम का हिस्सा बने और इस सीजन मिली खिताबी जीत में उनका बड़ा योगदान रहा। उन्होंने दो सत्रों में कुल 29 विकेट चटकाए हैं। वहीं ऑस्ट्रेलियन तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन ने साल 2012 में 24 विकेट लेकर शानदार आईपीएल डेब्यू किया था। शुरुआती सीजन में मुंबई मे रहने के बाद जॉनसन किंग्स इलेवन पंजाब टीम में शामिल हो गए। दसवें सीजन में ज़ॉनसन फिर से मुंबई टीम में वापसी कर रहे हैं। उम्मीद है उनकी शुरुआत की तरह उनकी वापसी भी शानदार होगी।

मुंबई इंडियंस टीम: रोहित शर्मा (कप्तान), जॉस बटलर (विकेटकीपर), पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), निकोलस पुरण (विकेटकीपर), कृष्णप्पा गोथम (विकेटकीपर), अंबाती रायडू (विकेटकीपर), लेंडल सिमंस (विकेटकीपर), कुलवंत खेजरोलिया, कर्ण शर्मा, सौरभ तिवारी , एसला गुणरत्ने, मिशेल जॉनसन, हरभजन सिंह, मिशेल मैक्क्लेनघन, श्रेयस गोपाल, सिद्धेश लाड, विनय कुमार, काइरान पोलार्ड, कृणाल पंड्या, टिम साउथी, लसिथ मलिंगा, जगदीश सुचित, नीतीश राणा, हार्दिक पंड्या, जसप्रित बुमराह, जितेश शर्मा, दीपक पुनिया।

मुंबई टीम के पास कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो टीम में दोहरी भूमिका निभा सकते हैं और यही इस टीम की सबसे बड़ी ताकत है। वहीं खिलाड़ियों के अंदर तीसरे खिताब को जीतने को लेकर काफी उत्साह है। कप्तान रोहित शर्मा के फिट होने से मुंबई इंडियंस टीम और भी मजबूत हो गई है। उम्मीद है कि इस साल मुंबई इंडियंस खिताबी जंग में सभी टीमों को कड़ी टक्कर देगी।

संभावित अंतिम एकादश: रोहित शर्मा (कप्तान), पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), अंबाती रायडू, जॉस बटलर, काइरान पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, कुृणाल पांड्या, हरभजन सिंह, मिशेल जॉनसन, लसिथ मलिंगा, जसप्रित बुमराह।