×

' इनकी आँखें नम थी दिल में गम था। मैंने जब टटोला तो जाना मेरा गम तो बहुत कम था!'

ओपनर गौतम गंभीर ने हाल में आईपीएल में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की कप्‍तानी छोड़ दी थी।

Gautam gambhir © IANS

भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे बाएं हाथ के ओपनर गौतम गंभीर का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है। गंभीर ने पिछले साल छत्‍तीसढ़ के सुकमा में शहीद हुए 25 सीआरपीएफ जवानों के परिजनों से गुरुवार को मुलाकात की।

आईपीएल-11 में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की ओर से खेल रहे गंभीर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शहीद के परिजनों से मुलाकात का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘इनकी आंखें नम थीं, दिल में गम था। मैंने जब टटोला तो जाना मेरा गम कम था!’ बीती शाम सीआरपीएफ के शहीदों के परिजनों के साथ बिताई। गंभीर फाउंडेशन इन बहादुर बच्चों की शिक्षा का खर्च उठा रहा है। आज कोटला में होने वाले दिल्ली डेयरडेविल्स के मैच में ये बच्चे मौजूद रहेंगे।’

गंभीर के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया पर काफी सकारात्मक प्रतिक्रिया मिल रही है और लोगों ने गंभीर के इस कदम को जमकर सराहा। गौरतलब है कि पिछले साल अप्रैल में सुकमा में हुए नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे। इस हादसे पर दुख जताते हुए गंभीर ने इन शहीदों के बच्चों की पूरी शिक्षा का खर्च उठाने का एलान किया था।

गंभीर पहले भी भारतीय सुरक्षा बलों के समर्थन में अपनी आवाज उठा चुके हैं। गंभीर बलिदान और देश के प्रति समर्पण के कारण ही सुरक्षा बलों का बहुत सम्मान करते
हैं। वह देश के जवानों को सच्चा हीरो मानते हैं। गंभीर ने हाल में टीम के लगातार हार के बाद दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की कप्‍तानी छोड़ दी थी।

 

trending this week