IPL 2019, Bangalore vs Delhi: Things to watch out for in 20th Match

इंडियन प्रीमियर लीग के 20वें मैच में आज रॉयल चैलेजर्स बैंगलोर का मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स से होगा। एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मैच में हारने के बाद आरसीबी इसी मैदान पर छठां लीग मैच खेलेगी। विराट कोहली की टीम अब तक टूर्नामेंट में खाता नहीं खोल पाई है। वहीं दिल्ली टीम ने अब तक खेले पांच में से केवल दो मैच ही जीते हैं।

ये भी पढ़ें: दिल्ली के खिलाफ मैच में बैंगलुरू के पास टूर्नामेंट में वापसी का ‘आखिरी मौका’

दोनों ही टीमों के लिए आज का मुकाबला जीतना जरूरी है लेकिन बैंगलुरू अगर आज का मैच हारती है तो उसका खिताबी दौड़ से बाहर होना लगभग तय हो जाएगा। आज के मैच में दोनों टीमों कुछ खास खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर रहेगी, साथ ही दोनों कप्तानों को कुछ परेशानियों को भी हल करना होगा।

विराट कोहली:

कोलकाता के खिलाफ मैच में कप्तान विराट कोहली ने 12वें सीजन का अपना पहला अर्धशतक जड़ा था। कोहली ने 49 गेंदो पर 84 रनों की शानदार पारी खेली थी। हालांकि इसके बावजूद उनकी टीम मैच में हार गई थी लेकिन कोहली का लय में आना सकारात्मक है। दिल्ली के खिलाफ मैच भी चिन्नास्वामी स्टेडियम में ही खेला जाना है, ऐसे में कोहली से बड़ी पारी की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें: खिलाड़ियों के विश्व कप के लिए लौटने से पहले ज्यादा से ज्यादा मैच जीतना चाहते हैं रोहित शर्मा

एबी डिविलियर्स:

कोलकाता के खिलाफ पिछले मैच में कोहली के साथ साथ डिविलियर्स ने भी अर्धशतकीय पारी खेली थी। डिविलियर्स ने 32 गेंदो पर 63 रन जड़े। आज के मैच में कोहली और डिविलियर्स का बड़ी पारी खेलना बैंगलुरू टीम की जीत के लिए अहम है। लेकिन उससे भी जरूरी है बाकी बल्लेबाजों का उनका साथ देना। लगातार पांच मैच हारने के बाद बैंगलुरू टीम को ये एहसास तो हो गया होगा कि केवल दो खिलाड़ियों के भरोसे ना ही मैच जीता जा सकता और ना टूर्नामेंट।

तेज गेंदबाज:

टूर्नामेंट की शुरुआत से बैंगलुरू के स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और लगातार पर्पल कैप की दौड़ में बने हुए हैं। वहीं कोलकाता के खिलाफ मैच में पवन नेगी ने भी अच्छा स्पेल डाला था। बैंगलुरू टीम की असली परेशानी तेज गेंदबाजी विभाग में है। उमेश यादव, मोहम्मद सिराज और टिम साउदी ना तो शुरुआती ओवरों में विकेट निकालने में सफल रहे हैं और ना ही डेथ ओवरों में रन बचा पाए हैं। ऑस्ट्रेलियाई पेसर नाथन कुल्टर-नाइल अब तक स्क्वाड के साथ नहीं जुड़े हैं, ऐसे में कप्तान कोहली के पास ज्यादा विकल्प नहीं हैं। देखना होगा बैंगलुरू का टीम मैनेजमेंट इस परेशानी को कैसे हल करता है।

ये भी पढ़ें: अल्जारी जोसेफ का शानदार स्पेल बना मुंबई की जीत का कारण

रिषभ पंत:

मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच में शानदार अर्धशतक जड़ने के बाद से इस विकेटकीपर बल्लेबाज का बल्ला खामोश है। दिल्ली का बल्लेबाजी क्रम पंत पर काफी निर्भर करता है और उनके रन ना बनाने से टीम का स्कोर प्रभावित होता है। चिन्नास्वामी की पिच पर बैंगलुरू के कमजोर गेंदबाजी अटैक के खिलाफ पंत के पास बड़ी पारी खेलने का सुनहरा मौका है।

पृथ्वी शॉ:

पंत दिल्ली के अकेले बल्लेबाज नहीं हैं जो एक मैच में बड़ी पारी खेलकर खामोश हो गए। कोलकाता के खिलाफ मैच में 99 रन बनाने के अलावा शॉ ने कोई बड़ी पारी नहीं खेली है। शॉ के जोड़ीदार शिखर धवन भी लय में नहीं नजर आए हैं। इन दोनों खिलाड़ियों पर दिल्ली को अच्छी शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी रहती है। देखना होगा कि क्या आज के मैच में शॉ 90 के फेर को पार कर पाएंगे या नहीं।