IPL 2019, Chennai vs Kolkata: Things to look out for in 23rd Match

चेपॉक के एम ए चिदंबरम स्टेडियम में आज घरेलू टीम चेन्नई सुपर किंग्स का मुकाबला कोलकाता नाइट राइडर्स से होगा। इंडिनय प्रीमियर लीग के इस 23वें मैच में फैंस को कई बेहतरीन निजी प्रदर्शन देखने को मिलेंगे। आज के मैच का सबसे बड़ा सवाल है कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी कोलकाता की रन मशीन आंद्रे रसेल के खिलाफ क्या रणनीति तैयार करेंगे।

आंद्रे रसेल को कैसे रोकेंगे धोनी:

रसेल 12वें सीजन की शुरुआत से ही विपक्षी टीमों का सिरदर्द बने हुए हैं। अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से इस जमैकन खिलाड़ी ने कोलकाता को हारे हुए मैच जिताए हैं। रसेल के खिलाफ गेंदबाजी अटैक की बात करें तो वो अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर में दाएं हाथ के तेज गेंदबाजों के खिलाफ सबसे ज्यादा 9 बार आउट हुए हैं। वहीं बाएं हाथ के पेसर्स ने उन्हें सात बार चकमा दिया है। स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ रसेल कुल 8 बार आउट हुए हैं। तेज गेंदबाजों के खिलाफ रसेल के आउट होने के वजह ये है कि वो पेसर्स के खिलाफ बड़े शॉट खेलने जाते हैं लेकिन स्पिनर्स से वो बचने के प्रयास में विकेट गंवा देते हैं। ऐसा रसेल ने खुद कहा था।

ये भी पढ़ें: चेन्नई-कोलकाता मैच में ‘कैप्टन कूल’ धोनी के सामने आंद्रे रसेल को रोकने की चुनौती

खासकर कि लेग स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ रसेल ज्यादा कमजोर नजर आते हैं। कप्तान धोनी का ध्यान इस बात पर जरूर जाएगा। चेन्नई टीम के पास इमरान ताहिर और हरभजन सिंह जैसे सीनियर स्पिनर हैं, लेकिन दाएं हाथ के इस बल्लेबाज के खिलाफ ताहिर ज्यादा कारगर साबित हो सकते हैं। खासकर कि चेपॉक की धीमी पिच पर जो कि स्पिन गेंदबाजों की मददगार है ताहिर और हरभजन कप्तान धोनी के लिए रसेल को रोकने का हथियार बन सकते हैं।

डेथ ओवर गेंदबाजी:

रसेल डेथ ओवर में बल्लेबाजी के स्पेशलिस्ट हैं और यही एक एरिया है जहां चेन्नई टीम अब तक कमजोर दिखी है लेकिन पिछले मैच में स्कॉट कुग्‍गेलैन के आने से चेन्नई को मदद मिली है, साथ ही दीपक चाहर ने भी आखिरी ओवरों की जिम्मेदारी उठा ली है। केएल राहुल और सरफराज खान, दो सेट बल्लेबाजों के क्रीज पर रहते हुए भी चेन्नई टीम ने आखिरी पांच ओवरों में केवल रन 30 रन दिए और तीन विकेट भी निकाले। कोलकाता के खिलाफ मैच में भी इन दोनों गेंदबाजों से इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

ये भी पढ़ें: पंजाब के खिलाफ हार के बावजूद टीम के प्रदर्शन से खुश हैं भुवनेश्वर कुमार

फाफ डु प्लेसिस: 

12वें सीजन की शुरुआत से बेंच पर बैठे दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस को धोनी ने पंजाब के खिलाफ मैच में पहली बार प्लेइंग इलेवन में जगह दी। डु प्लेसिस के आने से चेन्नई टीम की सलामी बल्लेबाजी की परेशानी दूर हो गई। अंबाती रायडू और शेन वॉटसन की जोड़ी ने इस सीजन अब तक चेन्नई को अच्छी शुरुआत नहीं दिलाई थी लेकिन सीजन के अपने पहले ही मैच में डु प्लेसिस ने अर्धशतक जड़ चेन्नई से इस समस्या को हल कर दिया है।