IPL 2019, DC vs SRH: Talking points for Delhi Capitals vs Sunrisers Hyderabad, Eliminator match

मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच हुए रोमांचक क्‍वालीफायर मैच के बाद अब बारी है एलिमिनेटर की। इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन का नॉकआउट मैच आज दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच विशाखापत्तनम के वाई एस राजशेखर रेड्डी वीसीए एडीसीए स्टेडियम में खेला जाएगा। विशाखापत्तनम के मैदान पर ये इस सीजन का पहला मैच है और एलिमिनेटर की विजेता टीम 10 मई को चेन्नई के खिलाफ दूसरा क्‍वालीफायर भी इसी मैदान पर खेलेगी।

लंबे इंतजार और कई कप्तानों को बदलने के बाद आखिरकार युवा भारतीय क्रिकेटर श्रेयस अय्यर दिल्ली टीम को प्लेऑफ में पहुंचाने में कामयाब हुए हैं। छह सीजन के बाद (2012 के बाद) मिले इस मौके को दिल्ली टीम गंवाना नहीं चाहेगी। वहीं एक आईपीएल खिताब जीत चुकी सनराइजर्स भी 12वें सीजन में बड़ी मुश्किल से प्लेऑफ में पहुंच पाई है और इस मौके को हाथ से नहीं जाने देना चाहेगी। टूर्नामेंट के इतिहास में हैदराबाद अकेले ऐसी टीम है जो केवल 12 अंकों के साथ टॉप चार में जगह बना पाई है। वाईजैग में आज दोनों टीमों के बीच होने वाले इस दिलचस्प मुकाबले में कुछ खास खिलाड़ियों पर नजर रहेगी।

शिखर धवन:

दिल्ली टीम की सबसे खास बात ये है कि उनका बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह से भारतीय खिलाड़ियों क्रिकेटरों पर निर्भर है। 12वें सीजन में दिल्ली के टॉप चार रन स्कोरर भारतीय हैं और उनमें सबसे पहला नाम है टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का। धवन ने अब तक 14 मैचों में 486 रन बनाए हैं और ऑरेंज कैप के दावेदार बने हुए हैं। सीजन की शुरुआत में संघर्ष करने के बाद धवन कोलकाता के खिलाफ मैच से फॉर्म में लौटे और तब से उनके बल्ले से लगातार रन निकल रहे हैं।

ये भी पढ़ें: हमें अपनी घरेलू पिच को बेहतर पढ़ना चाहिए था: महेंद्र सिंह धोनी

पिछले दो मैचों में धवन सस्ते में आउट होने के बाद धवन आज के मैच में उसकी भरपाई करना चाहेंगे। भारतीय टीम के अहम खिलाड़ियों में से एक धवन दबाव भरे मैचों में अच्छा प्रदर्शन करना जानते हैं। हैदराबाद के खिलाफ मैच में दिल्ली की उम्मीदें इस घरेलू खिलाड़ी पर टिकी रहेंगी।

श्रेयस अय्यर:

धवन के बाद दिल्ली के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों में नाम आता है कप्तान अय्यर का। श्रेयस ने 14 मैचों में 442 रन बनाए हैं। धवन के साथ मिलकर अय्यर इस सीजन तीन अर्धशतकीय साझेदारियां बना चुके हैं। पृथ्वी शॉ के खराब फॉर्म के चलते धवन और अय्यर पर दिल्ली के शीर्ष क्रम की जिम्मेदारी है।

केन विलियमसन:

हैदराबाद टीम रॉयल चैंलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ खेला अपना आखिरी लीग मैच हार गई थी लेकिन इस मैच में केन विलियमसन की खेली 70 रनों की कप्तानी पारी ने टीम के लिए बड़ी राहत का काम किया। विलियमसन टूर्नामेंट में काफी समय तक फॉर्म को लेकर संघर्ष कर रहे थे, वहीं चोट और फिर निजी कारणों के वजह से उन्होंने कई मैच मिस किए। ऐसे में प्लेऑफ से पहले कप्तान का फॉर्म में आना हैदराबाद के लिए सकारात्मक संकेत है। वाइजैग की बल्लेबाजों की मददगार पिच पर विलियमसन जैसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी से आज एक बड़ी पारी की उम्मीद रहेगी।

ये भी पढ़ें: 10 दिन के ब्रेक के बाद पाकिस्तान टीम से जुड़े शोएब मलिक  

गप्टिल-साहा:

आईपीएल में हैदराबाद की सबसे बड़ी ताकत डेविड वार्नर और जॉनी बेयरस्टो की सलामी जोड़ी थी। हालांकि विश्व कप की तैयारियों की वजह से दोनों खिलाड़ी अपनी अपनी राष्ट्रीय टीम के पास लौट चुके हैं। वार्नर-बेयरस्टो की कमी को पूरा करना हैदराबाद की सबसे बड़ी चुनौती थी, जिस पर मार्टिन गप्टिल और ऋद्धिमान साहा काफी हद तक खरे उतरे हैं। साहा और गप्टिल ने पिछले दो मैचों में हैदराबाद को अच्छी शुरुआत दिलाई है। हालांकि दिल्ली के खिलाफ मैच में बड़ा स्कोर खड़ा करने के लिए 40-45 से कहीं ज्यादा रनों की साझेदारी की जरूरत होगी।

भुवनेश्वर कुमार-इशांत शर्मा :

वाईजग की पिच भले ही बड़े स्कोर के लिए जानी जाती है लेकिन तेज गेंदबाजों को भी यहां उतनी ही मदद मिलती है। ऐसे में सीनियर पेसर भुवनेश्वर कुमार दिल्ली के खिलाफ हैदराबाद के प्रमुख हथियार होंगे। दिल्ली के लिए यही काम इशांत शर्मा करेंगे, जिसमें ट्रेंट बोल्ट उनका साथ देंगे।