IPL 2019, Hyderabad vs Delhi: Kagiso Rabada, Khaleel Ahmed and other talking points from SRH-DC clash

दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला गया इंडियन प्रीमियर लीग का 30वां मैच पूरी तरह गेंदबाजों के नाम रहा। चाहे दिल्ली के कगीसो रबाडा हों या हैदराबाद के खलील अहमद इस मुकाबले में गेंदबाज बल्लेबाजों को पूरी तरह हावी रहे। हालांकि हैदराबाद के बल्लेबाजों का प्रदर्शन दिल्ली के बल्लेबाजों से भी बदतर रहा और सनराइजर्स लगातार तीसरा मैच हार गई। दिल्ली टीम ने राजीव गांधी स्टेडियम में टूर्नामेंट की अपनी लगातार तीसरी जीत दर्ज की और अंकतालिका में चेन्नई के बाद दूसरे नंबर पर आ गई है।

खलील अहमद:

12वें सीजन में अपना पहला मैच खेल रहे तेज गेंदबाज खलील अहमद ने दिल्ली के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया। खलील ने शुरुआती अटैक में पृथ्वी शॉ (4) और शिखर धवन (7) को सस्ते में आउट किया और केवल चार ओवर के अंदर 20 रन के स्कोर पर दिल्ली के दोनों सलामी बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया।

दूसरी बार अटैक में लौटे खलील ने दिल्ली के सबसे अहम बल्लेबाज रिषभ पंत को 23 के स्कोर पर आउट कर हैदराबाद को बड़ी सफलता दिलाई। खलील ने 4 ओवर में 30 रन देकर तीन विकेट लिए। गौरतलब है कि इस पेसर का ये प्रदर्शन विश्व कप स्क्वाड चयन से ठीक एक दिन पहले आया है। देखना होगा इसका चयनकर्ताओं की बैठक पर क्या असर पड़ेगा।

कॉलिन मुनरो:

खलील की ही तरह न्यूजीलैंड के कॉलिन मुनरो भी कल 12वें सीजन का अपना पहला मैच खेल रहे थे और उनके प्लेइंग इलेवन में शामिल होने दिल्ली के शीर्ष क्रम को अतिरिक्त मजबूती मिली। शॉ और धवन के जल्दी आउट होने के बाद मुनरो ने कप्तान श्रेयस अय्यर के साथ मिलकर 49 रनों की साझेदारी बनाई। मुनरो ने 166.67 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 24 गेंदो पर 40 रन जड़े। जिसी मदद से दिल्ली टीम 155 का सम्मानजनक स्कोर बना सकी। टूर्नामेंट में आगे बढ़ते हुए भी मुनरो दिल्ली टीम को कई मैच जिताने का दम रखते हैं।

ये भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के विश्व कप स्क्वाड का ऐलान, स्मिथ-वार्नर की हुई वापसी

कगीसो रबाडा-कीमो पॉल-क्रिस मॉरिस:

दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा और वेस्टइंडीज के कीमो पॉल ने रविवार को खेले गए मैच में हैदराबाद टीम के बल्लेबाजी क्रम को पूरी तरह बिखेर दिया। रबाडा ने 3.5 ओवर में केवल 22 रन देकर चार विकेट झटके, जिसमें अर्धशतक जड़ने वाले डेविड वार्नर का अहम विकेट शामिल है। वहीं पॉल ने 4 ओवर में 17 देकर तीन विकेट हासिल किए। रबाडा और पॉल ने मिलकर हैदराबाद के शीर्ष और मध्यक्रम को संभाला जबकि क्रिस मॉरिस ने निचले क्रम के बल्लेबाजों को आउट कर हैदराबाद को 116 पर समेटा। मॉरिस ने अपना 4 ओवर का स्पेल पूरा नहीं किया। उन्होंने 3 ओवर में 22 रन देकर तीन विकेट झटके।

ये भी पढ़ें: क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के केंद्रीय अनुबंध में शामिल हुए स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर

हैदराबाद का कमजोर मध्यक्रम:

ऐसा इस टूर्नामेंट में पहली बार नहीं हुआ है जब वार्नर और जॉनी बेयरस्टो के आउट होने के बाद हैदराबाद टीम छोटे स्कोर पर ढेर हो गई हो। लेकिन ये उम्मीद जरूरी थी कि कप्तान केन विलियमसन की वापसी के बाद ऐसा नहीं होगा। चोट के बाद कमबैक कर रहे विलियमसन केवल तीन रन बनाकर आउट हुए और फिर पूरी टीम 116 रन पर सिमट गई। हैदराबाद ने दिल्ली के खिलाफ मैच में मध्यक्रम को मजबूती देने के लिए रिकी भुई को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया था लेकिन ये दांव भी फेल रहा। लगातार तीसरा मैच हारने के बाद हैदराबाद टीम को बल्लेबाजी क्रम में बड़े बदलाव करने की जरूरत है।