IPL 2019, KKR vs RCB: Virat Kohli’s ton, Dale Steyn’s comeback and other talking points form Kolkata vs Bangalore match

इंडियन प्रीमियर लीग के 35वें मैच में फैंस को विराट कोहली का वो अंदाज देखने को मिला, जिसका वो सीजन की शुरुआत से इंतजार कर रहे थे। ईडन गार्डन्स के मैदान पर कोहली ने शानदार शतक जड़ा। जिसकी मदद से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने कोलकाता नाइट राइडर्स को 10 रनों से हराकर टूर्नामेंट की दूसरी जीत हासिल की। खिताबी दौड़ से लगभग बाहर हो चुकी बैंगलुरू टीम ने कल के मैच में हर विभाग में शानदार प्रदर्शन किया। मैच के कुछ अहम फैक्टर्स के बारे में जानते हैं।

कप्तान कोहली का शतक:

सात मैच हारकर अंकतालिका में आखिरी स्थान पर बैठी बैंगलुरू टीम के पास अब खोने के लिए कुछ नहीं है, इसी वजह से खिलाड़ी अपने खेल का आनंद लेकर खेलेंगे, ऐसा बयान कप्तान विराट कोहली ने पिछले मैच के बाद दिया था, जिस पर उन्होंने पूरी तरह अमल किया। कोलकाता के खिलाफ मैच में पारी की शुरुआत करने आए कोहली आखिरी गेंद पर क्रीज पर जमे रहे। 172.41 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए कोहली ने 9 चौके और 4 छक्के जड़े। कोहली ने 57 गेंदो पर 12वें सीजन का अपना पहला शतक पूरा किया और प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब जीता।

मोइन अली की विस्फोटक पारी:

कप्तान कोहली के शतक ने बैंगलोर के बड़े स्कोर की नींव जरूर रखी लेकिन उसे अंजाम तक पहुंचाया मोइन अली ने। एबी डिविलियर्स की गैर मौजूदगी में किसी बल्लेबाज को कोहली का दूसरे छोर पर साथ देना था और जब अक्षदीप नाथ इससे चूके तो मोइन अली ने ये जिम्मेदारी उठाई। दो विकेट गिरने के बाद क्रीज पर आए अली ने आते ही बड़े शॉट लगाना शुरू कर दिया। 200 से ज्यादा से स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए अली ने मात्र 28 गेंदो पर 60 रन जड़े। इस दौरान अली ने 5 चौके और 6 छक्के लगाए। अली की इस धमाकेदार पारी के दम पर बैंगलुरू ने कोलकाता के सामने 214 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। मैच के बाद कोहली और विपक्षी कप्तान दिनेश कार्तिक ने भी माना कि अली की पारी ने दोनों टीमों के बीच बड़ा अंतर पैदा किया।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने कहा- मोइन अली की बल्लेबाजी ने पूरा खेल बदला दिया

डेल स्टेन की वापसी:

साल 2016 के बाद आईपीएल में वापसी कर रहे डेल स्टेन ने पहले ही मैच में अपनी छाप छोड़ी। इस दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज ने बैंगलुरू के पेस अटैक की अगुवाई करते हुए 4 ओवर में 40 रन देकर 2 विकेट झटके। ‘स्टेन गन’ ने पहले ही ओवर में कोलकाता के खतरनाक सलामी बल्लेबाज क्रिस लिन को मात्र एक रन के स्कोर पर कैच आउट कराया। उसके बाद तीन नंबर पर खेलने आए शुभमन गिल (9) को भी सस्ते में पवेलियन भेजा। स्टेन के टीम में आने से बैंगलोर के कमजोर गेंदबाजी अटैक को मजबूती मिली है।

ये भी पढ़ें: शतक जड़ कोहली ने की टॉप-5 में इंट्री, बैंगलोर-कोलकाता के स्थान में कोई बदलाव नहीं

कोलकाता की बल्लेबाजी:

बैंगलोर के खिलाफ शुक्रवार को खेले गए मैच में एक बार फिर कोलकाता के बल्लेबाजी क्रम की आंद्रे रसेल पर जरूरत से ज्यादा निर्भरता नजर आई। रसेल ने हर बार की तरह एक और शानदार पारी खेली। उन्होंने 25 गेंदो पर 65 रन जड़े लेकिन एक खिलाड़ी आपको हर मैच नही जिता सकता। कल के मैच में नितीश राणा की पारी कोलकाता के लिए सकारात्मक रही। सीजन में अब तक कुछ खास नहीं कर पाए राणा ने कल 46 गेंदो पर 85 रन बनाए। रसेल और राणा की शतकीय साझेदारी के दम पर कोलकाता मैच को आखिरी ओवर तक ले जा सका और मात्र 10 रन से हारा।