IPL 2019: Kolkata Knight Riders Team review
Kolkata Knight Riders @ BCCI

दो बार आईपीएल खिताब पर कब्‍जा कर चुकी कोलकाता नाइट राइडर्स का सफर इस सीजन में एक बुरे सपने से कम नहीं रहा। स्‍टार ऑलराउंडर आंद्रे रसेल अपने दम पर टीम को जीत दिलाते रहे। दूसरे छोर पर उन्‍हें किसी खिलाड़ी का साथ नहीं मिला। दिनेश कार्तिक बल्‍ले से कुछ कमाल नहीं कर पाए। उनकी सबसे ज्‍यादा आलोचना खराब कप्‍तानी के लिए हुई।

पढ़ें:- एमएस धोनी खेल के सबसे स्मार्ट लोगों में से एक: विराट कोहली

आलम ये रहा कि शुरुआती पांच में से चार मुकाबले जीतने के बाद कोलकाता को लगातार अगले छह मैचों में हार का सामना करना पड़ा। आखिरी नौ मैचों में टीम केवल दो मुकाबले ही जीत पाई। सवाल उठ रहे हैं कि अगले सीजन में फ्रेंचाइजी कार्तिक को रिटेन करेगी भी या नहीं।

खराब कप्‍तानी से टीम को हुआ नुकसान

निदहास ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन के आधार पर पिछले सीजन में कोलकाता फ्रेंचाइजी ने कार्तिक को कप्‍तानी सौंपने का निर्णय लिया था। गौतम गंभीर के दिल्‍ली टीम से जुड़ने के बाद कार्तिक को बड़ी जिम्‍मेदारी सौंपी गई। पिछले सीजन में कार्तिक ने बतौर बल्‍लेबाज और कप्‍तान अच्‍छी भूमिका निभाई, लेकिन इस सीजन वो ना तो बल्‍ले से कुछ कमाल दिखा पाए और ना ही उनकी कप्‍तानी कोई असर छोड़ पाई।

बड़ा सवाल ये उठता है कि आखिरी क्‍यों शानदार फॉर्म में चल रहे आंद्रे रसेल को बल्‍लेबाजी क्रम में ऊपर नहीं भेजा गया ? क्‍यों शुभमन गिल को बतौर सलामी बल्‍लेबाज खिलाने का निर्णय लेने में इतना समय लगा। न्‍यूजीलैंड के तेज गेंदबाज लोकी फर्ग्यूसन को नजरअंदाज क्‍यों किया गया। इन सवालों के जवाब कार्तिक के साथ-साथ मुख्‍य कोच जैक कैलिस और बल्‍लेबाजी कोच साइमन कैटिच को भी देना चाहिए।

पढ़ें:- महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में एक बार फिर प्लेऑफ तक पहुंची चेन्नई पर खिताब से चूकी

हद तो तब हो गई जब पोस्‍ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान आंद्रे रसेल को खुलकर अपनी बात रखनी पड़ी। उन्‍होंने कहा कि गलत निर्णयों के कारण टीम को काफी नुकसान हो रहा है।

टूर्नामेंट में सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन

आईपीएल 2019 के 17वें मुकाबले में कोलकाता की टीम ने बैंगलुरू द्वारा दिए गए 205 रन के लक्ष्‍य को भी पांच गेंद पहले ही बना दिया था। इस मैच में आंद्रे रसेल का बल्‍ला चला। आखिरी चार ओवर में कोलकाता को जीत के लिए 66 रन की दरकार था। मैच बैंगलुरू के हाथों में था। मैदान पर आए नए बल्‍लेबाज रसेल ने यहां से 13 गेंद पर 48 रन की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिलाई।

सबसे खराब प्रदर्शन

जब कोलकाता की टीम को जीत की सबसे अधिक जरूरत थे, उसे सीजन की सबसे बुरी हार का सामना करना पड़ा। अपने आखिरी मुकाबले में कोलकाता करो या मरो की स्थिति में था। मैच जीतने पर टीम के पास प्‍लेऑफ में जगह बनाने का मौका होता, लेकिन उसके बाद भी कोलकाता को अन्‍य टीमों के प्रदर्शन पर निर्भर रहना होता। कार्तिक की टीम मैच में महज 133/7 रन ही बना पाई थी। टीम के स्‍टार बल्‍लेबाज रसेल शून्‍य पर आउट हुए। कार्तिक ने तीन और शुभमन गिल ने नौ रन बनाए। मुंबई ने 17वें ओवर में ही नौ विकेट से मैच जीत लिया।