साल 2016 की चैंपियन और पिछले टूर्नामेंट की उप विजेता सनराइजर्स हैदराबाद की टीम 12वें सीजन में भी दमदार चुनौती के लिए तैयार है। टीम की गेंदबाजी मजबूत है और बल्लेबाजी में भी काफी ताकतवर है।

दिसंबर की नीलामी में टीम ने कम खिलाड़ियों पर पैसा लगाया लेकिन सटीक चुनाव किया, डेविड वार्नर की वापसी से टीम और भी खतरनाक हो जाती है।

कप्तान केन विलियमसन

न्यूजीलैंड की टीम केन विलियमसन की कप्तानी में तीनों ही फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन कर रही है। भले ही वो शांत स्वभाव रखते हों लेकिन मैदान पर उनकी आक्रामकता विरोधियों की प्लानिंग को बेकार करने का माद्दा रखती है।

2018 में कप्तानी करते हुए उन्होंने टीम को फाइनल तक पहुंचाया। इस सफर में उनकी भूमिका काफी अहम रही, टूर्नामेंट में 8 अर्धशतक के साथ उन्होंने 735 रन बनाए और टॉप पर रहते हुए ऑरेंज कैप को अपने नाम किया। उन्होंने 17 मैच में 52 की औसत से रन बनाए और स्ट्राइक रेट 142 से उपर का रहा।

बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उनको फील्डिंग के दौरान हल्की चोट लगी थी जिसकी वजह से शायद आईपीएल के शुरुआती मुकाबलों में वह ना खेलें। हालांकि चोट पर जानकारी दी गई थी कि चिंता की कोई बात नहीं हैं।

कोच टॉम मूडी

कोच टॉम मूडी की देख रेख में टीम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर मूडी पाकिस्तान के खिलाफ 1999 की विश्व कप फाइनल की धमाकेदार जीत में टीम का हिस्सा थे।

बतौर कोच भी मूडी शानदार रहे हैं। उनकी कोचिंग में श्रीलंका की टीम 2007 में फाइनल तक का सफर तय किया था जहां ऑस्ट्रेलिया के हाथों ही उसे हार मिली थी। बिग बैश लीग, बांग्लादेश प्रीमियर लीग और कैरेबियन प्रीमियर लीग में वह टीम से जुड़ चुके हैं।

टीम

केन विलियमसन, डेविड वार्नर, भुवनेश्वर कुमार, दीपक हुड्डा, बेसिल थंपी, मनीष पांडे, टी नटराजन, रिकी भुई, संदीप शर्मा, सिद्धार्थ कौल, श्रीवत्स गोस्वामी (विकेटकीपर), खलील अहमद, यूसुफ पठान, बिली स्टैनलेक, राशिद खान, मोहम्मद नबी और शाकिब अल हसन, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), मार्टिन गप्टिल।

आईपीएल का सफर

साल 2013 में सनराइजर्स ने प्लेऑफ तक का सफर तय किया था जबकि 2014 और 2015 के सीजन में टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। दोनों सीजन में उसे छठे स्थान से संतोष करना पड़ा।

साल 2016 में टीम ने जोरदार वापसी करते हुए डेविड वॉर्नर की कप्तानी में खिताब अपने नाम किया। 2017 में टीम चौथे जबकि पिछले सीजन में फाइनल तक पहुंचने में कामयाब रही।

2018 में टीम का प्रदर्शन

पिछले सीजन में टीम ने शानदार खेल दिखाते हुए फाइनल में जगह बनाई थी। 14 में 9 मुकाबलों को जीतकर टॉप पर रहते हुए टीम प्लेऑफ में पहुंची थी। क्वालीफायर में उसको चेन्नई सुपर किंग्स से हार मिली थी। हालांकि दूसरे क्वालीफायर में उसने कोलकाता को हरा फाइनल में जगह पक्की की थी। जहां लगातार दूसरी बार चेन्नई से हार वह दूसरा खिताब जीतने से चूक गई ।

नए खिलाड़ी

जॉनी बेयरस्टो, ऋद्धिमान साहा और मार्टिन गप्टिल

अहम खिलाड़ी

टीम की बल्लेबाजी काफी मजबूत दिख रही है कप्तान केन विलियमसन के अलावा बल्लेबाजी में मनीष पांडे, जॉनी बेयरस्टो मौजूद हैं जबकि डेविड वार्नर की वापसी सनराइजर्स को खिताब का प्रबल दावेदार बना रही है। गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार, सिद्दार्थ कौल, राशिद खान, खलील अहमद और मोहम्मद नबी किसी भी टीम की बल्लेबाजी क्रम को भेद सकते हैं।

आईपीएल 2019 में उम्मीद

टीम के पास दमदार बल्लेबाजी क्रम है और डेथ ओवर के माहिर गेंदबाज भी, ऐसे में उप विजेता से इस सीजन में भी शानदार प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी।