IPL 2019 team review: with new name Delhi Capitals shows new hopes in new season
DELHI CAPITAILS PLAYERS

इंडियन प्रीमियर लीग के नए सीजन में नए नाम के साथ उतरी दिल्ली की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए प्लेऑफ में जगह बनाई। कोच रिकी पोंटिंग, कप्तान श्रेयस अय्यर और सलाहकार सौरव गांगुली की टीम ने इस सीजन तमाम दिग्गज टीमों को चौंकाया।

मुंबई, हैदराबाद और कोलकाता जैसी पूर्व चैंपियन टीम को दिल्ली की युवा ब्रिगेड ने मात देकर अपनी छाप छोड़ी। साल 2012 के बाद पहली बार टीम ने प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाबी हासिल की। भले ही दिल्ली क्वालीफायर से हारकर बाहर हो गई लेकिन दिग्गजों ने टीम के प्रदर्शन को काफी सराहा और भविष्य में टीम के चैंपियन बनने की उम्मीद जताई।

Ishant Sharma @IANS

आईपीएल 2019 में दिल्ली का प्रदर्शन

युवा कप्तान अय्यर के नेतृत्व में टीम ने पिछले 7 साल में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया। लीग स्टेज में टीम में 14 मुकाबले खेलकर दिल्ली ने 9 मैच में जीत हासिल की। प्वाइंट्स टेबल पर टीम आखिरी मुकाबले तक दूसरे स्थान पर बनी हुई थी लेकिन मुंबई की कोलकाता पर जीत ने उसे तीसरे नंबर पर पहुंचा दिया।

टीम के टॉप बल्लेबाज

ओपनर शिखर धवन ने भले ही शुरुआती मुकाबलों में धीमी बल्लेबाजी की और उनको आलोचना का शिकार होना पड़ा लेकिन वह इस सीजन दिल्ली की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। धवन ने 16 मुकाबलों में 521 रन बनाए और उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 97 रन रहा। उनके बल्ले से 5 अर्धशतकीय पारी निकली।

Rishabh Pant @ IANS

टीम के आतिशी बल्लेबाज रिषभ पंत दिल्ली के लिए रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर रहे। उन्होंने 16 मैच में 488 रन बनाए जिसमें मुंबई के खिलाफ 27 गेंद पर खेली गई उनकी 78 रन की नाबाद पारी सर्वश्रेष्ठ रही। रिषभ ने इस सीजन में तीन अर्धशतकीय पारी खेली।

दिल्ली की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर कप्तान श्रेयस अय्यर रहे। अय्यर ने 16 मुकाबले खेलकर कुल 463 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने तीन अर्धशतक बनाए और उनका सर्वाधिक स्कोर 67 रन रहा।

टीम के टॉप गेंदबाज

दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा ने इस सीजन में टीम के लिए शानदार गेंदबाजी की। चोट की वजह से प्लेऑफ से पहले टूर्नामेंट से बाहर होने वाले रबाडा ने 12 मुकाबलों में कुल 25 विकेट चटकाए। टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में वह दूसरे नंबर पर रहे। फाइनल में चेन्नई के इमरान ताहिर ने 26वां विकेट हासिल कर रबाडा को पीछे छोड़ा।

दिल्ली के लिए क्रिस मॉरिस दूसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे उन्होंने महज 9 मुकाबले खेले जिसमें 13 बल्लेबाजों को आउट किया। 22 रन देकर 3 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा।

Ishant Sharma @IANS

तीसरे नंबर पर अनुभवी इशांत शर्मा का नाम आता है। शर्मा ने भी दिल्ली के लिए 13 विकेट हासिल किए लेकिन उन्होंने इसके लिए 13 मैच खेले। इशांत का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 38 रन देकर 3 विकेट रहा।

श्रेयस अय्यर की जिम्मेदारी भरी कप्तानी

टीम में शिखर धवन, इशांत शर्मा और अमित मिश्रा जैसे अनुभवी खिलाड़ी होने के बाद भी अय्यर को दिल्ली का कप्तान बनाए रखना कारगर साबित हुआ। ना सिर्फ मैदान पर गेंदबाजी और फील्डिंग में बदलाव करने बल्कि मुश्किल वक्त में संयमभरी पारी से भी उन्होंने काफी परिपक्वता का परिचय दिया। अय्यर की कप्तानी में वो बात नजर आई जो टीम को चैंपियन बना सकता है।