IPL 2020: RCB skipper Virat Kohli’s decision to bowl Shivam Dube in the death overs cost him the match
विराट कोहली (BCCI)

एक बार फिर नए उत्साह और पुराने लक्ष्य के साथ इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीजन खेलने उतरी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम ने पहले ही मैच में सनराइजर्स हैदराबाद जैसी चैंपियन टीम को हराकर अपने कैंपेन का शानदार आगाज किया।

पहले मुकाबले में विराट कोहली की टीम के लिए सब कुछ सही रहा। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग हर विभाग में आरसीबी चुस्त दिखी लेकिन गुरुवार को दुबई में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेले मैच में एक बार आरसीबी का वो पुराना अंदाज देखने को मिला जिसे फैंस देखना नहीं चाहते हैं। तो आखिर दो मैचों के बीच ऐसा क्या हुआ, जिस वजह से आरसीबी को 97 रनों की भारी हार का सामना करना पड़ा, आइए जानते हैं….

पंजाब के खिलाफ मैच में कप्तान कोहली ने वही रणनीति अपनानी चाही जो उन्होंने हैदराबाद के खिलाफ मैच में इस्तेमाल की थी लेकिन इस बार नतीजा बिल्कुल उल्टा रहा।

खराब डेथ ओवर गेंदबाजी

जब पंजाब टीम ने केएल राहुल की अर्धशतकीय पारी की मदद से 12 ओवर में मात्र एक विकेट खोकर 100 रन बना लिए थे, तब कोहली अपने सबसे सफल गेंदबाजों युजवेंद्र चहल और नवदीप सैनी को अटैक में लाए जो कि सही फैसला था। दोनों गेंदबाजों ने रनों की रफ्तार को रोका जब रन रेट 12 से ऊपर जा रहा था। लेकिन कोहली ने यहां पर चहल और सैनी के सारे ओवर खत्म करवा दिए यानि कि डेथ ओवरों के लिए उनके पास डेल स्टेन और शिवम दुबे बचे थे।

IPL 2020, CSK vs DC, Preview: दिल्ली-चेन्नई मैच में युवा प्रतिभा से होगा अनुभव का मुकाबला

हालांकि यहां पंजाब टीम की भी तारीफ करनी होगी, जिन्होंने वो गलती नहीं दोहराई जो हैदराबाद ने की थी। कप्तान राहुल और करुण नायर ने चहल और सैनी के ओवरों में कोई खतरा नहीं उठाया क्योंकि वो भी जानते थे कि आखिरी ओवर में वो स्टेन और दुबे के खिलाफ बड़ा शॉट लगा सकते हैं और ऐसा ही हुआ। आखिरी दो ओवर में नायर और राहुल ने मिलकर स्टेन और दुबे के खिलाफ 49 रन बनाए, जिसकी बदौलत पंजाब टीम 200 का आंकड़ा पार कर गई।

कोहली से छूटे कैच

कोहली का हैदराबाद और पंजाब के खिलाफ समान रणनीति अपनना आरसीबी के लिए नुकसानदायक साबित हुआ। वैसे कोहली की दुबे और स्टेन को डेथ ओवर में गेंदबाजी करवाने की रणनीति सफल हो सकती थी, अगर वो राहुल का कैच पकड़ लेते तो।

कोहली को समझना होगा कि भले ही दुबे ने पिछले दो मैचों में कुछ अहम विकेट लिए हों लेकिन वो किसी भी सूरत में डेथ ओवर के गेंदबाज नहीं हैं। आरसीबी के कप्तान जानते हैं कि उनके पास विकल्प कम हैं चूंकि उमेश यादव और स्टेन लगातार रन लुटा रहे हैं और क्रिस मॉरिस अभी चोटिल हैं, ऐसे में सफलता हासिल करने के लिए उन्हें अपने गेंदबाजों को बेहतर तरीके से इस्तेमाल करना होगा।