भारतीय टेस्ट टीम से बाहर होने के बाद सीमित ओवर फॉर्मेट में अपने करियर को नई ऊंचाईओं पर पहुंचाया। अब राहुल ने टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक और नया कीर्तिमान हासिल किया है। न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की टी20 सीरीज में 224 रन बनाकर राहुल किसी बाईलैटरल टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।

राहुल ने पांच पारियों में 56 की औसत से 224 रन बनाए हैं, जिसके साथ उन्होंने डैमियो कुआना और कॉलिन मुनरो के 223 रन के रिकॉर्ड को तोड़ा। मोजाम्बिक के कुआना ने मलावी के खिलाफ सात मैचों की टी20 सीरीज में 223 रन बनाए। वहीं न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मुनरो ने 2017-18 में वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में 223 रन बनाए थे।

पिछले 12 महीनों में राहुल के टी20 आंकड़ों पर नजर डालें तो उन्होंने 17 मैचों की 16 पारियों में 48.50 की औसत और 143.55 की स्ट्राइक रेट से 679 रन बनाए। जिसमें सात अर्धशतक शामिल हैं।

रोहित-राहुल की जोड़ी ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 96 रन की शानदार साझेदारी बनाई। लेकिन 12वें ओवर में कीवी गेंदबाज हेमिश बेनेट ने एक बार फिर अपनी धीमी गेंद के दम पर राहुल को मात दी। 33 गेंदो पर 45 रन की पारी खेलकर राहुल मिशेल सैंटनर के हाथों कैच आउट हुए।

राहुल के आउट होने के बाद तकलीफ में दिख रहे रोहित ने भी मैदान से बाहर जाने का फैसला किया। दोनों सेट बल्लेबाजों के आउट होने के बाद श्रेयस अय्यर ने पारी को संभाला। अय्यर ने 31 गेंदो पर 33 रन की तेज पारी खेली लेकिन दूसरे छोर पर शिवम दुबे ने रनों की रफ्तार को धीमा किया।

दुबे को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजने का फैसला एक बार फिर फ्लॉप रहा और वो मात्र 5 रन बनाकर कैच आउट हुए। आखिरी ओवरों में मनीष पांडे और अय्यर ने मिलकर भारत को 163 के स्कोर तक पहुंचाया, जो कि बे ओवल स्टेडियम के औसत स्कोर के हिसाब से 30-40 रन कम है।