मिडिल आर्डर बैट्समैन जिन्होने ओपनर के रूप में धमाल मचाया
फोटो साभार: financialexpress.com

स्टीवन स्मिथ ने जब ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलना शुरू किया तो वो एक लेग स्पिनर थे लेकिन टीम में आने के बाद उनका रोल बदला और आज वो एक विश्वस्तरीय बल्लेबाज हैं। इसी तरह ऐसे बहुत से बल्लेबाज है जिन्होने मध्यक्रम में खेलना शुरू किया लेकिन बाद में उनका रोल बदला गया और उन्हे सलामी बल्लेबाज की भूमिका दी गई और इन बल्लेबाजों ने इस भूमिका में भी शानदार प्रदर्शन करते हुए बेहतरीन ओपनर बने। तो आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ बल्लेबाजों के बारे में जिन्होने शुरूआत तो मिडिल ऑर्डर बैट्समैन के रूप में की लेकिन उनको असली सफलता ओपनर के रूप में मिली।

1. सचिन तेंदुलकर:

Middle order batsmen who turn into superb openers
फोटो साभार: sundaresanthinks.com
मध्य क्रम के बल्लेबाज जिन्होने सलामी बल्लेबाजी करते हुए सफलता के नए आयाम खड़े किये उनमें सबसे पहला नाम सचिन तेंदुलकर का आता है। सचिन अपने करियर के शुरूआत में चौथे या पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी करते थे, लेकिन बाद में उन्होने वनडे क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलना शुरू किया और बाकि सब इतिहास है। हालांकि टेस्ट क्रिकेट में उन्होने नंबर 4 पर ही खेलना जारी रखा। सचिन ने वनडे क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के तौर पर 340 मैचों में 15310 रन बनाए।

2. वीरेन्द्र सहवाग:

Middle order batsmen who turn into superb openers
फोटो साभार: allindiaroundup.com
सचिन तेंदुलकर की तरह ही वीरेन्द्र सहवाग ने भी अपने करियर की शुरूआत मिडिल आर्डर बल्लेबाज के रूप में की थी। लेकिन जो सफलता उनको सलामी बल्लेबाज के रूप में मिली वो उनको मिडिल आर्डर बल्लेबाज के रूप में कभी नहीं मिल पाती। सहवाग को पहली बार ओपनिंग के लिए सौरव गांगुली ने भेजा था उसके बाद उन्होने टेस्ट क्रिकेट में भी ओपनिंग करना शुरू कर दिया। सहवाग ने वनडे में सलामी बल्लेबाज के तौर पर 7 हजार से ज्यादा रन बनाए तो टेस्ट क्रकिेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में उन्होने 8 हजार से ज्यादा रन बनाए।

3. रोहित शर्मा:

Middle order batsmen who turn into superb openers
फोटो साभार: financialexpress.com
मिस्टर टैलेंटेड के नाम से मशहूर रहे रोहित शर्मा का असली टैलेंट भी ओपनर के रूप में उभर कर आया। मध्य क्रम के बल्लेबाज के रूप में उनको सफलता नहीं मिली इसलिये उनको सलामी बल्लेबाज के तौर पर आजमाया गया और ये प्रयोग सफल रहा। आज रोहित जिस मिस्टर टैलेंटेड के अपने नाम को मिस्टर परफॉर्मर में बदल चुके हैं।

4. सनथ जयसूर्या:

Middle order batsmen who turn into superb openers
फोटो साभार: thecricketmonthly.com
वनडे क्रिकेट में सलामी बल्लेबाजी की परिभाषा बदलने वाले सनथ जयसूर्या टीम में एक लोवर आर्डर बल्लेबाज के रूप में आए थे, लेकिन उनकी गेंद को हिट करने की क्षमता से प्रभावित होकर अर्जुन रणतुंगा ने उनको वनडे क्रिकेट में सलामी बल्लेबाजी की जिम्मेदारी दी और जयसूर्या को ये जिम्मेदारी खूब रास आई। उन्होने अपने विस्फोटक अंदाज से शुरूआती 15 ओवरों में तेज रन बनाने की परंपरा शुरू कर दी।

5. ब्रैंडन मैकुलम:

Middle order batsmen who turn into superb openers
फोटो साभार: theguardian.com
न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज रहे ब्रैंडन मैकुलम ने भी अपने करियर की शुरूआत मिडिल आर्डर बैट्समैन के रूप में की थी। बाद में उन्होने भी ओपनर की भूमिका पकड़ी और न्यूजीलैंड को कई जीत दिलाई। 2015 विश्व कप के दौरान मैकुलम ने न्यूजीलैंड को लगभग हर मैच में बेहतरीन शुरूआत दी। फाइनल में उनका असफल होना न्यूजीलैंड पर भारी पड़ा।