मोहम्मद कैफ अपने दौर के सर्वश्रेष्ठ फील्डरों में एक थे
मोहम्मद कैफ अपने दौर के सर्वश्रेष्ठ फील्डरों में एक थे

अपने दौर में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डरों में गिने जाने वाले मोहम्मद कैफ आज 36 साल के हो गए हैं। अंडर-19 विश्व कप 2000 में शानदार प्रदर्शन के बाद टीम इंडिया में जगह बनाने वाले कैफ ने टीम में आने के बाद भारतीय फील्डिंग की दशा बदल दी थी। कैफ की कप्तानी में ही भारत ने पहली बार अंडर-19 विश्व कप खिताब जीता था। कैफ को नेटवेस्ट ट्रॉफी 2002 के फाइनल में खेली गई उनकी शानदार पारी के लिए जाना जाता है, जब उन्होंने अंडर-19 के साथी खिलाड़ी युवराज सिंह के साथ मिलकर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई थी और कप्तान सौरव गांगुली को शर्ट उतारकर खुशी जताने का मौका दिया था। तो आइए जानते हैं कैफ से जुड़ी कुछ बातें।

1. क्रिकेटिंग फैमिली:

मोहम्मद कैफ को क्रिकेट विरासत में मिली थी। उनके पिता मोहम्मद तारिफ भी क्रिकेट खिलाड़ी थे और रेलवे के लिए खेल चुके थे। कैफ के बड़े भाई मोहम्मद सैफ भी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की ओर से खेल चुके हैं। क्रिकेट खिलाड़ियों के परिवार में जन्में कैफ की भी रूचि इस खेल में पैदा हुई और उन्होंने अपने परिवार के अन्य सदस्यों को पीछे छोड़ते हुए भारत के लिए खेलने का गौरव पाया।

2. लखनऊ स्पोर्ट्स हॉस्टल:

कैफ ने क्रिकेट की बारिकियां लखनऊ स्पोर्ट्स हॉस्टल में सीखी। इसी हॉस्टल से कई और खिलाड़ी(सुरेश रैना, रूद्र प्रताप सिंह, ज्ञानेन्द्र पांडे) निकले जिन्होंने क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व किया। [Also Read: गलत शॉट खेलने पर विराट कोहली को पड़ते थे थप्पड़]

3. अंडर-19 विश्व कप की कप्तानी और जीत:

अंडर-19 विश्व कप 2000 के दौरान भारतीय टीम की कमान कैफ के हाथों में सौंपी गई। उनकी कप्तानी में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और फाइनल मुकाबले में श्रीलंका को हराकर विजेता बने। कैफ भारतीय क्रिकेट इतिहास के पहले ऐसे कप्तान बने जिनके नेतृत्व में भारत ने अंडर 19 विश्व कप जीता। कैफ के अलावा इसी टीम से सुरेश रैना, युवराज सिंह, रतिंदर सिंह सोढ़ी जैसे खिलाड़ी आगे चलकर भारत के लिए खेले।

4. इंटरनेशनल करियर का शानदार आगाज:

कैफ ने भारत के लिए अपना पहला मैच खेलते हुए शानदार प्रदर्शन कर अपने करियर का जबरदस्त आगाज किया। इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में अपना करियर शुरू करने वाले कैफ ने अपने पहले ही मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए 46 रनों की बेहतरीन पारी खेली। हालांकि उनके इस प्रदर्शन के बाद भी भारत 2 रन से मैच हार गया था। [Also Read: वनडे क्रिकेट में एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज]

5. सबसे शानदार पारी:

कैफ ने भारत के लिए मुश्किल परिस्थितियों में कई बेहतरीन पारियां खेली, लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में खेली गई उनकी पारी करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी रही। 326 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत 146 पर 5 विकेट गंवा चुका कर मुश्किल में फंस चुका था। मगर यहां से कैफ ने युवराज के साथ मिलकर भारतीय पारी को आगे बढ़ाया और नाबाद 87 रनों की शानदार पारी खेलकर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई। इस जीत को भारतीय वनडे इतिहास की सर्वश्रेष्ठ जीत में एक माना जाता है। इस मैच में जीतने के बाद कप्तान सौरव गांगुली ने शर्ट उतारकर जश्न मनाया था।

6. आदर्श खिलाड़ी:

मोहम्मद कैफ भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन को अपना आदर्श मानते थे। वह अपनी बल्लेबाजी में भी अजहर की तरह कलाईयों का इस्तेमाल करते थे और मैदान पर फुर्तीले होने की प्रेरणा भी उनको अजहर से ही मिली। कैफ के दूसरे सबसे चहेते खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर रहे। कैफ ने जिस टेस्ट में अपना डेब्यू किया वह अजहर का अंतिम टेस्ट मैच था।

7. स्लेजिंग का मजाकिया अंदाज:

कैफ मैदान पर अपनी फुर्ती के अलावा विरोधियों को अपनी बातों से परेशान करने के लिए भी जानें जाते थे। शार्टलेग पर फील्डिंग के दौरान वह अक्सर बल्लेबाज को कुछ फनी बातें बोल कर परेशान करते थे। पाकिस्तान के खिलाफ एक मैच के दौरान गांगुली ने उनको शार्टलेग पर फील्डिंग के लिए बुलाया। उस समय मोहम्मद यूसुफ 87 गेंदों पर 22 रन बनाकर खेल रहे थे। जैसे ही कैफ फील्डिंग के लिए पहुंचे उन्होंने गांगुली को आवाज देते हुए कहा ये चौका नहीं मारने वाला 87 गेंद खेल डाली एक भी चौका नहीं मारा। इस पर यूसुफ अपनी हंसी नहीं रोक सके।

8. चीते जैसी फुर्ती:

कैफ को पूरी दुनिया उनकी बल्लेबाजी से ज्यादा चुस्त फील्डिंग के लिए जानती है। उन्होंने बल्ले से फ्लॉप रहते हुए भी भारत को सिर्फ अपनी फील्डिंग से कई मैच जिताए। कैफ गेंद पर चीते की तरह झपटते थे। युवराज सिंह के साथ मिलकर उन्होंने भारतीय टीम के फील्डिंग का स्तर काफी ऊंचा कर दिया था।

9. राजनीति:

क्रिकेट के बाद उन्होंने 2014 में राजनीति की नई पारी की शुरूआत की। उन्होंने उत्तर प्रदेश के फूलपुर से कांग्रेस के लिए चुनाव लड़ा। हालांकि उनको इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।

10.पत्नी:

कैफ 25 मार्च 2011 को शादी के बंधन में बंधे। उन्होंने पूजा जो कि दिल्ली की एक इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में काम करती हैं से शादी रचाई। कैफ और पूजा का एक बेटा भी है, जिसका नाम कबीर है।