शाहबाज नदीम
शाहबाज नदीम

बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम इन दिनों भारतीय क्रिकेट में खूब सुर्खियां बटोर रहे हैं। नदीम ने पिछली कई सीरीज में बेहद ही शानदार प्रदर्शन किया है। अभी हाल ही में न्यूजीलैंड ए के खिलाफ नदीम ने इंडिया ए के लिए कुल 14 विकेट झटके, द.अफ्रीकी सरजमीं पर भी उन्होंने द.अफ्रीका के खिलाफ 11 विकेट झटके थे। यही नहीं नदीम पिछले दो सालो से रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी हैं। 2015 में नदीम ने 9 मुकाबलों में 51 विकेट लिए तो वहीं 2016 में उन्होंने 56 विकेट ले डाले।

इतने अच्छे प्रदर्शन के बावजूद इस बाएं हाथ के स्पिनर को टीम इंडिया में जगह नहीं मिल पाई है। अब नदीम जैसा प्रतिभाशाली गेंदबाज न्यूजीलैंड ए के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज में उतरने वाला है और इसके बाद वो झारखंड के लिए रणजी ट्रॉफी भी खेलेंगे। ये सीरीज शाहबाज नदीम के लिए बेहद ही अहम होंगी। इतने अहम मुकाबलों से पहले क्रिकेट कंट्री हिंदी के असिस्टेंट एडिटन अनूप देव सिंह ने शाहबाज नदीम से एक्सक्लूसिव बातचीत की। आइए डालते हैं इंटरव्यू की कुछ बड़ी बातों पर एक नजर:

क्रिकेट कंट्री हिंदी- आप पिछले काफी समय से जबर्दस्त फॉर्म में हैं, आईपीएल, रणजी ट्रॉफी और अभी हाल ही में आपने इंडिया ए के लिए फिरकी का दम दिखाया है। पिछले 3-4 सालों में आपकी गेंदबाजी में खासा पैनापन आया है। इसका राज क्या है?

शाहबाज नदीम- मैंने 15 साल की उम्र में फर्स्ट क्लास क्रिकेट शुरू कर दिया था। धीरे-धीरे 10-12 सालों में मैंने बहुत कुछ सीखा। जितना आप मैच खेलते हो, आप सीखते हो। मैंने जल्दी खेलना शुरू किया, मुझे अनुभव हुआ और अब मैं बल्लेबाजों की मानसिकता पढ़ सकता हूं। मुझे जल्दी समझ आ जाता है कि बल्लेबाज को कैसे गेंदबाजी करनी है, ये सब पहले नहीं आता था। 4-5 साल पहले मुझे इतनी समझ नहीं थी, लेकिन अब मुझे समझ आ गया है कि बल्लेबाज को कैसे गेंदबाजी करनी है।

क्रिकेट कंट्री हिंदी- हर फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद आपको टीम इंडिया में जगह क्यों नहीं मिल रही है? इसके पीछे आपको क्या वजह नजर आती है?

शाहबाज नदीम-मेरा काम है कि मैं अच्छा प्रदर्शन करता रहूं। टीम इंडिया में इस वक्त जितने भी स्पिनर्स खेल रहे हैं वो सभी अच्छा कर रहे हैं, लेकिन लक फैक्टर भी होता है। जिस जगह के लिए आप प्रदर्शन कर रहे हो वो जगह भी खाली होनी जरूरी है।

क्रिकेट कंट्री हिंदी- टीम इंडिया में जितने बाएं हाथ के स्पिनर्स हैं वो बल्लेबाजी भी कर सकते हैं, ऐसा तो नहीं लगता आपको कि टीम इंडिया में आने के लिए बल्लेबाजी करनी भी जरूरी है?

शाहबाज नदीम- बीच में मुझे ऐसा लग रहा था कि शायद स्पिनर के लिए बल्लेबाजी करनी भी जरूरी है, लेकिन अब युजवेंद्र चहल टीम में आए हैं, कुलदीप यादव भी टीम इंडिया में हैं जो सिर्फ गेंदबाजी कर सकते हैं उनकी बल्लेबाजी इतनी अच्छी नहीं है। हां ये सोच होती है कहीं न कहीं कि स्पिनर्स हैं तो बल्लेबाजी भी आनी चाहिए। वैसे मैं बल्लेबाजी कर लेता हूं। द.अफ्रीका पर मैंने 30-35 रनों की अहम पारियां खेली थी। रणजी ट्रॉफी में भी मैं 40-45 रन बना लेता हूं। मेरा मानना है कि अगर मैं विकेट ले रहा हूं तो मुझे स्पेशलिस्ट गेंदबाज के तौर पर टीम में जगह मिलेगी। मैं एक ऑलराउंडर तो नहीं हूं लेकिन 25-30 रन बना लेता हूं और मेरी फील्डिंग भी अच्छी है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

क्रिकेट कंट्री हिंदी- रणजी ट्रॉफी में आप पिछले दो सीजन से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हो, इस बार हैट्रिक लगेगी और साथ ही न्यूजीलैंड ए के खिलाफ सीरीज के लिए कैसी तैयारी है?

शाहबाज नदीम- मेरी पिछली दो साल की अच्छी फॉर्म बरकरार है। मैंने हर जगह प्रदर्शन किया है। अभी कोशिश रहेगी कि जो 5 वनडे हैं वहां अच्छा प्रदर्शन करूं। उसके बाद रणजी ट्रॉफी खेलने जाऊंगा और वहां कोशिश रहेगी कि ज्यादा से ज्यादा विकेट ले सकूं। बतौर गेंदबाज आप यही कर सकते हो कि ज्यादा से ज्यादा विकेट लो। मौजूदा फॉर्म के मुताबिक मैं अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा।

क्रिकेट कंट्री हिंदी- टीम इंडिया में जगह पाने के लिए आपको बेहद फिट होना जरूरी है। इंडिया ए में फिटनेस को लेकर क्या सोच है?

शाहबाज नदीम- इंडिया ए में भी सबसे पहले फिटनेस को ही देखा जाता है। आप कितने भी बड़े खिलाड़ी हों आपका फिट होना जरूरी है। आप अगर फिट नहीं हो तो कितने भी अच्छे बॉलर हों या बैट्समैन हो इससे आपके प्रदर्शन पर असर पड़ता है। हमे एक ही चीज कही जाती है कि पहले फिट होना होगा उसके बाद देखेंगे कि आप कितनी अच्छी बल्लेबाजी करते हैं या गेंदबाजी करते हैं। फिटनेस पर बहुत ज्यादा तवज्जो दी जाती है। इंडिया ए में अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो टीम इंडिया में मौका मिलता है। यहां आप फिट नहीं रहोगे तो टीम इंडिया में सेलेक्शन नहीं होगा।

© IANS
© IANS

क्रिकेट कंट्री हिंदी- एम एस धोनी आपके ही राज्य झारखंड से हैं, वो कभी आपका हौसला बढ़ाते हैं, आपका मार्गदर्शन करते हैं?

शाहबाज नदीम- माही भाई मेरी गेंदबाजी पर मुझसे बात करते हैं। माही भाई का ऐसा स्वभाव है कि जब आप उनसे पूछोगे तभी वो कुछ बताएंगे। मैं उन्हें तब से जानता हूं जब वो टीम इंडिया के लिए नहीं खेले थे। हमने साथ में रणजी ट्रॉफी खेली, अंडर 25 क्रिकेट खेली। धोनी झारखंड के सभी खिलाड़ियों को एक ही बात बताते हैं कि अगर तुम टीम इंडिया में आना चाहते हो तो तुम्हें ये करना होगा। मतलब वो बताते हैं कि टीम इंडिया में कैसे एंट्री ली जा सकती है। टीम को क्या चाहिए।

क्रिकेट कंट्री हिंदी- वनडे सीरीज में टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया, 4-1 से जीत हासिल की। आपको लगता है कि टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया का टी20 में क्लीन स्वीप करेगी ?

शाहबाज नदीम- टी20 में टीम इंडिया को हराना मुश्किल है। वो ऑस्ट्रेलिया का क्लीन स्वीप कर सकती है। आईपीएल में खिलाड़ी सभी विदेशी खिलाड़ियों के खिलाफ खेले हुए हैं, जिससे आसानी होती है। टीम इंडिया गजब का खेल दिखा रही है ऐसे में कुछ भी मुमकिन है।