महेन्द्र सिंह धोनी तीन आईसीसी खिताब जीतने वाले अकेले कप्तान हैं© Getty Images
महेन्द्र सिंह धोनी तीन आईसीसी खिताब जीतने वाले अकेले कप्तान हैं© Getty Images

बुधवार की शाम महेन्द्र सिंह धोनी के चाहने वालों के लिए एक काली शाम की तरह थी। फैंस के चहेते कप्तान धोनी ने भारत की वनडे और टी20 टीम की कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया। धोनी के इस्तीफे के साथ ही खत्म हो गया ‘कैप्टन कूल’ की कप्तानी का सुनहरा दौर। बतौर कप्तान भारत को नई ऊचांईयों तक पहुंचाने वाले धोनी ने अपनी कप्तानी में कई ऐसे मुकाम पाए जो आज तक कोई और कप्तान नहीं पा सका। तो आइए जानते हैं कप्तान के रूप में धोनी के कुछ ऐसे कीर्तिमानों पर जिसे सुनकर या पढ़कर हर भारतीय का सीना गर्व से फूल जाता है।

तीनों आईसीसी खिताब जीतने वाले एकलौते कप्तान:

धोनी विश्व के एकलौते ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने तीनों आईसीसी खिताब पर कब्जा जमाया है। धोनी ने टी20 विश्व कप 2007 जीतने के साथ आईसीसी ट्रॉफी जीतने का जो सिलसिला शुरू किया, वह विश्व कप 2011 से होता हुआ चैंपियंस ट्रॉफी 2013 तक पहुंचा। भारत को दो विश्व कप जीताने में धोनी की कप्तानी का बड़ा योगदान रहा। 2007 में उन्होंने जोगिंदर शर्मा पर दांव खेल कर सबको चौंका दिया था तो 2011 विश्व कप फाइनल में उन्होंने उपरी क्रम में बल्लेबाजी करने का फैसला कर विजयी छक्का लगाया।

सबसे ज्यादा इंटरनेशनल टी20 मैच जीतने वाले कप्तान:

धोनी की कप्तानी का सफर भी टी20 विश्व कप के साथ शुरू हुआ। एक युवा कप्तान के लिए इससे बेहतर क्या होगा कि वह पहली बार कप्तानी करते हुए देश को विश्व कप जैसा बड़ा खिताब दिला दे। धोनी ने इस सफलता को आगे भी जारी रखा और टी20 इंटरनेशनल मैचों में भारत के दबदबे को बरकरार रखा। धोनी सबसे ज्यादा टी20 इंटरनेशनल मैच जीतने वाले कप्तान हैं। धोनी की कप्तानी में भारत ने कुल 41 टी20 इंटरनेशनल मैच जीते हैं। धोनी की सफलता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उनके बाद टी20 इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा जीत डैरेन सैमी(27 जीत) के नाम दर्ज है। यानी धोनी मीलों आगे हैं। [Also Read: महेन्द्र सिंह धोनी के इस्तीफा देते ही ट्विटर पर ट्रोल हुए योगराज सिंह]

सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी करने वाले विकेटकीपर:

धोनी एक विकेटकीपर के रूप में कप्तानी करते हुए सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी भी हैं। धोनी ने बतौर विकेटकीपर कप्तान सबसे ज्यादा 199 वनडे मैच खेले हैं। इसके बाद अगला नंबर जिंबाब्वे के पूर्व विकेटकीपर एंडी फ्लावर का है, फ्लावर ने कुल 46 वनडे मैचों में कप्तानी की थी। तीसरे नंबर पर श्रीलंका के कुमार संगाकारा हैं। संगाकारा ने 45 वनडे मैचों में कप्तान और विकेटकीपर की भूमिका निभाई थी। मतलब यहां भी धोनी अपने प्रतिद्वंदियों को बहुत पीछे छोड़ देते हैं।[Also Read: महेन्द्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने पर ट्विटर रिएक्शन]

विकेटकीपर कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज:

बतौर विकेटकीपर कप्तान धोनी की बल्लेबाजी क्षमता को जरा भी प्रभावित नहीं किया। बल्कि विकेटकीपिंग और कप्तान रहते हुए उन्होंने बल्ले से 6633 रन बनाए। जो दूसरे नंबर पर संगाकारा द्वारा बनाए गए 1756 रनों से तीन गुने से भी ज्यादा है। [Also Read: महेंद्र सिंह धोनी के इस्तीफे के बाद पत्नी साक्षी की पहली प्रतिक्रिया]

टी20 इंटरनेशनल में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा नाबाद रहने वाले खिलाड़ी(जब टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए जीती है):

कप्तान धोनी एक बल्लेबाज के तौर पर लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम को जीत दिलाने के बाद नाबाद रहने के मामले में भी सबसे आगे हैं। धोनी कुल 12 मौकों पर जब टीम को लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत मिली है नाबाद लौटे हैं। इसके बाद सबसे ज्यादा बार यह कारनामा जॉर्ज बेली ने अंजाम दिया है। बेली कुल 5 बार नाबाद लौटे हैं।