मुंबई इंडियंस बनाम कोलकाता नाइटराइडर्स © getty Images
मुंबई इंडियंस बनाम कोलकाता नाइटराइडर्स © getty Images

रविवार को जब मुंबई इंडियंस कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ आईपीएल 10 के दूसरे मैच में उतरेगी तो उसके गेंदबाजों के जेहन में क्रिस लिन की तूफानी बल्लेबाजी का डर झूल रहा होगा। पहले मैच में अजिंक्य रहाणे और स्टीवन स्मिथ के आगे पंगु नजर आने वाली मुंबई इंडियंस की गेंदबाजी की एक बार फिर से अग्निपरीक्षा केकेआर के तूफानी बल्लेबाजी क्रम के खिलाफ होगी जिसमें गौतम गंभीर, क्रिस लिन, रॉबिन उथप्पा, मनीष पांडे और युसुफ पठान जैसे दिग्गज बल्लेबाज भरे पड़े हैं।

मुंबई इंडियंस: इस मैच में जब मुंबई टीम उतरेगी तो उनका मुख्य उद्देश्य एक ऐसे गेंदबाजी आक्रमण को चुनने का होगा जो रनों का बहाव रोकते हुए विकटों की झड़ी लगा सके। पहले मैच में मुंबई इंडियंस ने आरपीएस के खिलाफ बल्लेबाजी तो अच्छी की थी लेकिन गेंदबाजी ने उन्हें मात दे दी थी। लेकिन इस बीच सवाल पैदा होता है कि क्या मुंबई इंडियंस हरभजन सिंह को अंतिम एकादश में शामिल करेगी? बहरहाल ये तो समय ही तय करेगा। वहीं मुंबई इंडियंस को एक बड़ा झटका अंबाती रायडू के रूप में लग सकता है जो पुणे सुपरजाइंट के खिलाफ चोटिल हो गए थे और वह 10 दिनों के लिए अब क्रिकेट से दूर रहेंगे। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि मुंबई इंडियंस टीम किस अंतिम एकादश संयोजन के साथ मैदान पर उतरती है।

जोस बटलर को शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी के लिए भेजना एक अच्छा निर्णय है क्योंकि वह उस क्रम पर अपने शबाब पर नजर आ रहे थे। जाहिर है कि मुंबई एक बार फिर से पार्थिव के साथ उनसे ही ओपनिंग करवाएगी। नितिश राणा जो पिछले मैच में अच्छी बल्लेबाजी करते हुए नजर आए थे उन्हें इस मैच में एक बार फिर से मौका दिया जा सकता है। अगर अतिरिक्त स्पिनर भी मुंबई इंडियंस खिलाती है तो राणा को रायडू की जगह टीम में शामिल किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: हैदराबाद सनराइजर्स की मजबूत बल्लेबाजी को कैसे रोक पाएगी गुजरात लायंस की कमजोर गेंदबाजी?]

विदेशी तेज गेंदबाजों की बात करें तो पिछले मैच में टिम साउदी और मेचेल मैकलेनिघन खासे महंगे साबित हुए थे। जैसा कि लसिथ मलिंगा वापस आ चुके हैं और लाइन में मिचेल जॉनसन भी हैं तो जाहिर है कि मुंबई इंडियंस इन दोनों को इस मैच में मौका दे सकती है। मलिंगा ने हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ टी20I मैच में हैट्रिक ली थी और उनके हौंसले बुलंद हैं।

मुंबई इंडियंस संभावित प्लेइंग इलेवन: जोस बटलर, पार्थिव पटेल(विकेटकीपर), रोहित शर्मा(कप्तान), अंबाती रायडू, क्रुणाल पांड्या, हार्दिक पांड्या, कायरॉन पोलार्ड, हरभजन सिंह, लसिथ मलिंगा, मिचेल जॉनसन, जसप्रीत बुमराह।

कोलकाता नाइटराइडर्स टीम: कोलकाता नाइटराइडर्स ने पहले मैच में 10 विकेट से जीत दर्ज की और इससे बढ़िया शुरुआत किसी टीम के लिए नहीं हो सकती। लिन ने 41 गेंदों में 93 रन ठोंक दिए और कोलकाता के शीर्ष क्रम पर विस्फोटक बल्लेबाज की जरूरत पूरी कर दी है। लिन के टीम में होने से आंद्रे रसेल की भी कमी काफी हद तक पाट दी गई है। कुलदीप यादव शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं और उनके स्पिन विभाग में और मजबूती देने के लिए सुनील नरेन और पीयूष चावला तो हैं ही। शाकिब अल हसन जो कुछ दिन पहले बांग्लादेश की ओर से टी20 सीरीज खेल रहे थे अब वह केकेआर टीम में जुड़ चुके हैं। ऐसे में अगर केकेआर एक अतिरिक्त ऑलराउंडर के साथ खेलना चाहे तो उन्हें अंतिम एकादश में शामिल कर सकती है। लेकिन केकेआर का तेज गेंदबाजी आक्रमण कमजोर है और ऐसे में वे शायद ही अंतिम एकादश में कोई परिवर्तन करें।

केकेआर की सबसे बड़ी परेशानी उनका विदेशी तेज गेंदबाजी आक्रमण है। उनके दोनों तेज गेंदबाजों ट्रेंट बोल्ट और क्रिस वोक्स ने पिछले मैच में 75 रन 7 ओवरों में लुटाए थे और सिर्फ एक विकेट लिया। इसके अलावा रोहित शर्मा भी उन्हें खटक रहे होंगे जिन्होंने उनके खिलाफ पिछले चार मैचों में तीन नाबाद अर्धशतक लगाए हैं।

कोलकाता नाइटराइडर्स संभावित प्लेइंग इलेवन: क्रिस लिन, गौतम गंभीर(कप्तान), रॉबिन उथप्पा(विकेटकीपर), मनीष पांडे, यूसुफ पठान, सूर्यकुमार यादव, क्रिस वोक्स, पीयूष चावला, कुलदीप यादव, सुनील नरेन, ट्रेंट बोल्ट।

वानखेड़ स्टेडियम में मुंबई इंडियंस हमेशा ही केकेआर पर हावी रही है। उसने छह मैचों में पांच मैच केकेआर के खिलाफ यहां जीते हैं। सारे मुकाबलों को देखें तो इन दोनों टीमों के बीच हुए 18 मुकाबलों में मुंबई ने 13 में जीत दर्ज की है।

वानखेड़े की पिच की बात करें तो यहां हमेशा से बैटिंग के लिए अनुकूलित पिच रही है। ऐसे में यहां रन बरसें तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। पिछले सीजन में वानखेड़े में जितने मैच खेले गए हैं सभी मैच स्कोर का पीछा करने वाली टीम ने जीते हैं। जो बताता है कि जो भी कप्तान टॉस जीतेगा तो वह गेंदबाजी का फैसला लेना चाहेगा।