© Getty Images
© Getty Images

दुनिया के सबसे महान बल्लेबाज सर डॉनल्ड ब्रेडमैन उर्फ डॉन ब्रैडमैन के लिए आज का दिन बहुत खास है। रन मशीन ब्रैडमैन ने आज के ही दिन साल 1928 में इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिसबेन टेस्ट में डेब्यू किया था। टेस्ट में सबसे ज्यादा 99.94 का औसत रखने वाले ब्रैडमैन ने वैसे तो अपने क्रिकेट करियर में किसी भी गेंदबाज की नहीं चलने दी। लेकिन उनके लिए उनका डेब्यू यादगार नहीं रहा था क्योंकि वह दोनों मैचों में छोटे स्कोर पर आउट हुए और उनकी टीम को 675 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। जाहिर है कि इस हार का असर इस महान बल्लेबाज के दिलो दिमाग पर गहराई से पड़ा और उन्होंने आने वाले सालों में दुनिया के सभी गेंदबाजों के परखच्चे उड़ा दिए। लेकिन ऐसा क्या हुआ था इस मैच में आइए आपको बताते हैं।

पहली पारी में ब्रैडमैन ने लगाए थे 4 चौके: मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया और पहली पारी में गजब की बल्लेबाजी करते हुए 521 का स्कोर बनाया। इंग्लैंड के पैटसी हैंड्रेन ने सबसे ज्यादा 169 न बनाए। वहीं हेरॉल्ड लारवुड ने 70 और पर्सी चैंपमेने 50 रनों की पारी खेली। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों के आगे नतमस्तक नजर आई और उनके विकेट आनन-फानन में गिरने लगे। डॉन ब्रैडमैन जो अपना पहला मैच खेल रहे थे वह सातवें क्रम पर बल्लेबाजी करने आए।

ब्रैडमैन जिनकी उम्र उस वक्त 20 साल थी उन्होंने 40 गेदों में 18 रन बनाए और 4 चौके लगाने के बाद वह आउट हो गए। ऑस्ट्रेलिया पहली पारी में 122 रनों पर ऑलआउट हो गई। इंग्लैंड ने तेज गेंदबाज लारवुड ने 6 और टेट ने 3 विकेट झटके। इस तरह से इंग्लैंड ने पहली पारी के आधार पर 399 रनों की बढ़त हासिल कर ली थी। लेकिन इसके बावजूद इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोआन नहीं खिलाया और बल्लेबाजी करना मुनासिब समझा। इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी 342/8 के स्कोर के साथ घोषित कर दी। इस तरह से ऑस्ट्रेलिया को जीतने के लिए 742 रनों का लक्ष्य मिला।

जवाब में ऑस्ट्रेलिया 66 रनों पर ऑलआउट हो गई और 675 रनों से मैच हार गई। इस पारी में ब्रैडमैन 1 रन बनाकर आउट हुए थे। इस पारी में इंग्लैंड के गेंदबाज जैक वाइट ने सबसे ज्यादा 4 विकेट झटके थे। टेट और लारवुड ने 2-2 विकेट झटके।

भले ही ब्रैडमैन अपने पहले मैच में फेल रहे लेकिन एक महीने बाद मेलबर्न में खेले गए मैच में उन्होंने धमाका मचा दिया और दोनों पारियों में 79 और 112 रनों की पारी खेली। इसके बाद वह कभी नहीं रुके और उन्होंने रनों का अंबार लगा दिया। ब्रैडमैन ने अपने पूरे करियर में 52 मैचों की 80 पारियों में 6,996 रन बनाए जिसमें 29 शतक और 13 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं दिलचस्प बात ये है कि वह 7 बार शून्य पर भी आउट हुए हैं। ब्रैडमैन 1928 से 1948 तक क्रिकेट खेले।