On this day, May 15th 1999: Hansie Cronje wore an earpiece to ICC World Cup match against India
पूर्व प्रोटियाज कप्तान हैन्सी क्रोनिए (Getty images)

क्रिकेट के मैदान पर खिलाड़ियों का नियम तोड़ना गलत भले ही हो लेकिन दुर्लभ नहीं है। अक्सर क्रिकेटर मैदान पर गलतियां करते हैं जिसका नतीजा उन्हें भुगतना पड़ता है। चाहे वो कैमरून बैनक्रॉफ्ट का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ न्यूलैंड्स टेस्ट के दौरान गेंद से छेड़छाड़ करना हो या पाकिस्तानी क्रिकेटरों का मैदान पर एप्पल वॉच पहनकर उतरना। ये सारी चीजें आईसीसी के नियमों के खिलाफ है। ऐसा ही कुछ आज से 21 साल पहले क्रिकेट के मैदान पर हुआ था, जिसने विश्व कप जैसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट का मजा किरकिरा कर दिया।

15 मई 1999 को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहा विश्व कप टूर्नामेंट के दूसरे मैच के दौरान प्रोटियाज टीम के कप्तान हैन्सी क्रोनिए कान में इयरपीस लगाकर ड्रेसिंग रूम से बात करते पकड़े गए। क्रोनिए जो कि आगे चलकर क्रिकेत इतिहास के सबसे कलंकित फिक्सिंग विवाद का हिस्सा बने थे, इयरपीस के जरिए तत्कालीन कोच बॉब वूल्मर से बात कर रहे थे।

कोच बॉब वूल्मर की थी पूरी योजना

वूल्मर उन लोगों में से एक थे जो क्रिकेट की दुनिया को विज्ञान और तकनीकि से जोड़ने की वकालत करते थे। इसलिए जब वो मैच के दौरान कप्तान क्रोनिए और टीम के प्रमुख गेंदबाज एलेन डोनाल्ड से संपर्क करते पाए गए तो लोगों को उतनी हैरानी नहीं हुई।

हालांकि कोच-कप्तान की ये चोरी मैच रेफरी तलत अली ने पकड़ ली। और जब मैच का पहला ड्रिंक्स ब्रेक लिया गया तो अली सीधा दक्षिण अफ्रीकी टीम के ड्रेसिंग रूम में घुसे और कोच वूल्मर की ये हरकत बंद करवाई।

ये पूरी योजान कोच वूल्मर का था जिन्होंने अमेरिकी खेलों से प्रेरित होकर इसे आजमाया था। उस समय आईसीसी के कोड ऑफ कंडक्ट में ऐसा कोई नियम नहीं था जो तकनीकी रूप से इसे गलत साबित करना हो हालांकि बाद में आईसीसी ने पूरे टूर्नामेंट में इस तरह के किसी भी उपकरण के इस्तेमाल को बैन कर दिया।

गांगुली पर भारी पड़े कैलिस

काउंटी ग्राउंड, ब्राइटन में खेले गए इस मैच में भारत की ओर से सौरव गांगुली ने 97 रनों की शानदार पारी खेली थी, हालांकि जोन्टी रोड्स और जैक कैलिस की शानदार फील्डिंग की बदौलत वो शतक पूरा नहीं कर सका। गांगुली के अलावा राहुल द्रविड़ ने भी अर्धशतक बनाया, जिसके दम पर भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 254 रनों का लक्ष्य रखा। दिग्गज ऑलराउंडर कैलिस की 96 रनों की मैचविनिंग पारी के दम पर दक्षिण अफ्रीका टीम ने 16 गेंद बाकी रहते भारत को 4 विकेट से हराया।

हार से गुस्साए फैन ने किया टीम पर हमला

हालांकि टीम इंडिया की ये हार फैंस के गले नहीं उतरी। मैच के दौरान जब खिलाड़ी ड्रेसिंग रूम की तरफ जा रहे थे, तब एक भारतीय फैन ने टीम इंडिया के कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन को पकड़ने की कोशिश की लेकिन उन्होंने फैन को धक्का दे दिया। जिसके बाद गुस्सैल फैन द्रविड़ की ओर दौड़ा लेकिन भारतीय बल्लेबाज ने उसे पीछे हटाया।

लेकिन द्रविड़ के पीछे खड़े वेंकटेश प्रसाद इस बल्लेबाज जैसे शांत स्वभाव के नहीं थे। प्रसाद गुस्से में उस फैन के पीछे भागे और इस तेज गेंदबाज को अपनी तरफ आता देख घबराया फैन लड़खड़ाकर नीचे गिर गया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने उसे हिरासत में ले लिया।