रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर बनाम आरपीएस  © AFP
रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर बनाम आरपीएस © AFP

आईपीएल 2017 प्वाइंट टेबल पर क्रमशः छठवें और आठवें नंबर पर बरकरार रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राइजिंग पुणे सुपरजायंट रविवार को एक दूसरे से दो- दो हाथ करेंगी। दोनों ही टीमों ने अपने चार में से एक- एक मैच जीते हैं। ऐसे में इस मैच के साथ वापसी करने का दोनों का उद्देश्य होगा। पिछले साल आरपीएस ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ जीत के साथ शुरुआत की थी जिसके बाद उन्होंने लगातार चार हार झेलीं और उसके बाद उनकी मटिया पलीत हो गई जाहिर है कि इस सीजन में वे ऐसा कुछ नहीं होने देना चाहेंगे क्योंकि इस सीजन में भी उन्होंने पिछले तीन मैचों में हार झेली है। वहीं दूसरी ओर आरसीबी जो पिछले सीजन में टॉप पर नजर आई थी इस बार शुरुआती हार के बाद भी ज्यादा चिंता में नहीं है क्योंकि टीम में विराट कोहली और एबी डीविलियर्स लौट चुके हैं और उन्हें जीत नजर आ रही है।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर: आरसीबी की सबसे बड़ी चिंता है कि वे अपेक्षा के अनुरूप बैट से अच्छा प्रदर्शन करते हुए बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पा रहे हैं। हैदराबाद के खिलाफ पहले मैच को छोड़ दें तो उनके बल्लेबाज हर मौके फ्लॉप नजर आए हैं और उन्होंने 157, 148 और 142 रन बनाए हैं। जिसकी वजह से उनके गेंदबाज दबाव में आ गए और उन्हें हार झेलनी पड़ी। भले ही कोहली की टीम में वापसी हो गई हो लेकिन आरसीबी केएल राहुल की टीम में भरपाई नहीं कर पाई है। राहुल 2016 में तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे थे। मनदीप सिंह ने इस साल घरेलू सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन आरसीबी की ओर से वह वो नहीं कर पाए हैं जिसकी दरकार थी। जाधव अच्छी फॉर्म में नजर आए हैं और टीम चाहेगी कि वह वैसे ही लगातार अच्छा प्रदर्शन करें। आरसीबी जिसकी सबसे बड़ी मजबूती बल्लेबाजी है उसे कोहली और डीविलियर्स के साथ की जरूरत है।

क्रिस गेल सिर्फ धीमी बल्लेबाजी ही नहीं कर रहे बल्कि विकटों के बीच दौड़ने में भी वह उतने तेज नजर नहीं आ रहे हैं जो मेजबान टीम के लिए चिंता की बात है क्योंकि इससे उनपर दबाव बढ़ जाता है। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि उन्हें टीम अंतिम एकादश में बरकरार रखती है या ट्रेविस हेड, शेन वॉटसन को टीम में जगह देती है। वहीं टीम अन्य कोई भी परिवर्तन नहीं करना चाहेगी। तेज गेंदबाजी की जिम्मेदारी टाइमल मिल्स, श्रीनाथ अरविंद और स्टुअर्ट बिन्नी के कंधों पर होगी। स्पिन विभाग की जिम्मेवारी एक बार फिर से पिछले मैच में हैट्रिक लगाने वाले सैमुअल बद्री, युजवेंद्र चहल और पवन नेगी पर होगी।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की संभावित प्लेइंग इलेवन: क्रिस गेल/ ट्रैविस हेड, विराट कोहली, एबी डीविलियर्स, मनदीप सिंह, केदार जाधव, स्टुअर्ट बिन्नी, पवन नेगी, टाइमल मिल्स, श्रीनाथ अरविंद, युजवेंद्र चहल, सैमुअल बद्री।

राइजिंग पुणे सुपरजायंट: वहीं, दूसरी ओर अजिंक्य रहाणे छोटी बाउंड्री का इस्तेमाल करना चाहेंगे और मुंबई इंडियंस के खिलाफ 34 गेंदों में 60 रन के बाद फिर से वैसी ही पारी खेलना चाहेंगे। पिछली तीन पारियों में वह 19, 10 और 0 के स्कोर के साथ आउट हुए हैं जो सही तो कतई नही है। हां, इस बात से जरूर वह अपना विश्वास हासिल कर सकते हैं कि पिछली बार जब आरपीएस, आरसीबी के खिलाफ खेली थी तब उन्होंने 48 गेंदों में 74 रन ठोंके थे। एमएस धोनी लगातार फेल हो रहे हैं और अब तक का उनका सर्वोच्च स्कोर 12 नाबाद है जो आरपीएस के लिए सबसे बड़ी चिंता वाली बात है। वहीं सबसे महंगे बेन स्टोक्स भी कमाल नहीं दिखा पाए हैं। हां, कप्तान स्मिथ ने जरूर बैट से अच्छा प्रदर्शन किया है।

टीम चाहेगी की भले ही इमरान ताहिर राजकोट में फ्लॉप रहे हों लेकिन फॉर्म में लौटते हुए उनके गेंदबाजी विभाग को मजबूती दें। गेंदबाजी सुपरजायंट की सबसे कमजोर कड़ी है। पिछले मैचों में इस विभाग में उन्होंने खूब बदलाव भी किए हैं। यहां तक कि अशोक डिंडा जिन्हें उनके तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई करनी चाहिए थी- पिछले मैच में अंतिम एकादश से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। उन्होंने 10 ओवरों में 119 रन लुटाए थे। दीपक चाहर, राहुल चाहर और एडम जंपा को परिस्थिति को देखते हुए भीतर और बाहर किया गया है। वहीं लॉकी फर्ग्युसन, शार्दुल ठाकुर और अंकित शर्मा पिछले दिनों ही टीम में देखे गए। बेन स्टोक्स ने चार मैचों में एक विकेट ही लिया है जो बड़ी परेशानी है।

राहुल त्रिपाठी गुजरात लायंस के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी करते नजर आए थे। ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि उन्हें मयंक अग्रवाल के आगे अंतिम एकादश में शामिल किया जाता है कि नहीं। वहीं, फाफ डू प्लेसी को बल्लेबाजी के लिए चुना जाएगा या फर्ग्युसन को बल्लेबाजी के लिए चुना जाएगा ये भी देखने वाली बात होगी। इसके अलावा क्या एमएस धोनी पर कोई निर्णय लिया जाएगी। अगर ऐसा कुछ हुआ तो बवाल देखने को मिल सकता है। कहीं और नहीं तो सोशल मीडिया पर जरूर देखने को मिलेगा।

पिच के हाल चाल: धीमें गेंदबाजों को पिच से मदद मिल सकती है।

राइजिंग पुणे सुपरजायंट की संभावित प्लेइंग इलेवन: अजिंक्य रहाणे, राहुल त्रिपाठी, स्टीवन स्मिथ, बेन स्टोक्स, एमएस धोनी, मनोज तिवारी, इमरान ताहिर, अंकित शर्मा, शार्दुल ठाकुर, राहुल चहर, लॉकी फर्ग्यूसन।

दोनों टीमें

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर: क्रिस गेल, विराट कोहली(कप्तान), एबी डिविलियर्स, केदार जाधव(विकेटकीपर), पवन नेगी, मनदीप सिंह, स्टुअर्ट बिन्नी, टाइमल मिल्स, श्रीनाथ अरविंद, सैमुअल बद्री, युजवेंद्र चहल, हर्षल पटेल, एडम मिलने, सरफराज खान, शेन वॉटसन, इकबाल अब्दुल्ला, ट्रैविस हेड, सचिन बेबी, आवेश खान, तबरीज शमसी, प्रवीण दुबे, अनिकेत चौधरी, बिली स्टेनलाक, विष्णु विनोद।

राइजिंग पुणे सुपरजायंट: अजिंक्य रहाणे, राहुल त्रिपाठी, स्टीवन स्मिथ(कप्तान), बेन स्टोक्स, मनोज तिवारी, एमएस धोनी(विकेटकीपर), अंकित शर्मा, शार्दुल ठाकुर, लॉकी फर्ग्यूसन, राहुल चाहर, इमरान ताहिर, अशोक डिंडा, अंकुश बैंस, फफ डू प्लेसी, रजत भाटिया, ईश्वर पांडे, एडम जंपा, जसकरण सिंह, बाबा अपराजित, दीपक चहर, उस्मान ख्वाजा, मयंक अग्रवाल, जयदेव उनादकट, डैनियल क्रिश्चियन, सौरभ कुमार, मिलिंद टंडन, वॉशिंगटन सुंदर।