15 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने बनाया था CV, जानें क्या खास था सीवी में
फोटो साभार: www.mid-day.com

जब कोई व्यक्ति अपने जीवन का पहला सीवी तैयार करता है तो उसके मन में बड़े भ्रम छुपे हुए होते हैं। जैसे कि क्या सीवी का फॉर्मेट सही है या फॉर्मेट के साथ तथ्य की गलती तो नहीं जा रही। बहरहाल, ये बात तो रही एक आम आदमी की। जरा सोचिए कि जब सचिन तेंदुलकर ने अपना पहला सीवी बनाया होगा तो उस समय उनका सीवी कैसा रहा होगा। आज हम आपको सचिन के पहले सीवी के बारे बताएंगे जो अपने आपमें खासा दिलचस्प है।

फोटो साभार: theringsideview.com
फोटो साभार: theringsideview.com

यह बात आज से पूरे 28 साल पुरानी है। सचिन तेंदुलकर की उम्र उस वक्त महज 15 साल थी और वह स्कूल क्रिकेट में सक्रिय थे। सचिन उस समय बढ़िया प्रदर्शन कर रहे थे इसलिए वह रणजी ट्रॉफी में जल्दी ही डेब्यू करने को लेकर आश्वस्त थे। इसी दौरान सचिन ने अपना पहला सीवी बनाया था। सचिन का यह सीवी पूरे सात पेज का था। सचिन ने अपने सीवी के पहले पेज पर लिखा है, “मैंने 11 साल की उम्र में सीजन बॉल से क्रिकेट खेला।” सीजन बॉल से खेलना किसी भी बच्चे के लिए एक बड़ी बात होती है जो क्रिकेटर बनने के सपने देख रहा हो औ सचिन में बचपन से ही क्रिकेटर बनने के गुण मौजूद थे। 

फोटो साभार: theringsideview.com
फोटो साभार: theringsideview.com

सचिन ने आगे लिखा है, “मैंने डॉन बॉक्सो हाई स्कूल के खिलाफ क्वार्टरफाइनल में 50 रन बनाए थे।” सचिन ने सीवी के दूसरे पन्ने में बताया है कि उन्होंने 12 साल की उम्र में अपना पहला शतक जड़ा था। साथ ही उन्होंने लिखा है कि उन्होंने बॉम्बे को पहली बार इंटर- जोनल विजय मर्चेंट क्रिकेट टूर्नामेंट में(जो अंडर- 15 लड़को के लिए था) का प्रतिनिधित्व किया है।

फोटो साभार: theringsideview.com
फोटो साभार: theringsideview.com

तीसरे पन्‍ने में सचिन ने अपनी कप्‍तानी में जाइल्‍स शील्‍ड टूर्नामेंट जीतने के बारे में बताया है। साथ ही लिखा है कि अंडर-15 में उन्‍हें नेशनल कैंप के लिए चुना गया। चौथे पन्‍ने में सचिन के 13 साल की उम्र में हासिल की गई उपलब्धियों का उल्‍लेख किया गया। इसमें बताया कि 1986-87 के दौरान उन्‍होंने दो दोहरे शतक समेत 9 सेंचुरी लगाईं और 27 विकेट लिए।

फोटो साभार: theringsideview.com
फोटो साभार: theringsideview.com

इस सीजन में उन्होंने 2,336 रन बनाए। इसके बाद उन्होंने अपने द्वारा जड़े गए प्रत्येक शतक का जिक्र किया है। सचिन के सीवी में पांचवें पन्‍ने पर विनोद कांबली के साथ की गई वर्ल्‍ड रिकॉर्ड 664 रन की साझेदारी को जगह दी है। उस समय सचिन की उम्र 14 साल थी। उन्‍होंने लिखा कि उनके नाम बॉम्‍बे की टीम में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी का रिकॉर्ड है।

फोटो साभार: theringsideview.com
फोटो साभार: theringsideview.com

14 साल की उम्र में उन्‍होंने रणजी ट्रॉफी खेली। छठे पेज पर भी सचिन की उपलब्धियां जारी रहती हैं। लेकिन आखिरी के हिस्‍से में वे बताते हैं कि 1986-87 में शानदार प्रदर्शन पर उन्‍हें सुनील गावस्‍कर ने प्रशंसा पत्र भेजा। साथ ही भारतीय टीम के कप्‍तान दिलीप वेंगसरकर ने ‘गन एंड मूर’ का क्रिकेट बैट गिफ्ट किया। सचिन तेंदुलकर भले ही आज 15 साल के ना होकर 43 साल के हो गए हैं, लेकिन जब भी वह अपना ये सीवी देखते होंगे तोजरूर उनके होठों पर मुस्कान बिखर जाती होगी।