सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली में बेहतर बल्लेबाज कौन?

क्रिकेट के खेल में हमेशा दो महान बल्लेबाजों की तुलना की जाती रही है। सचिन तेंदुलकर की तुलना ब्रायन लारा और रिकी पोंटिंग जैस महान बल्लेबाजों से होती रही है और ज्यादातर समीक्षकों ने इन तीनों खिलाड़ियों में सचिन को ही बेस्ट माना है। सचिन ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में इतने रिकॉर्ड बनाएं है कि किसी एक खिलाड़ी का इनको तोड़ पाना लगभग नामुमकिन है। तो क्या सचिन से बेहतर कोई बल्लेबाज नहीं होगा? क्या विश्व क्रिकेट में कोई ऐसा बल्लेबाज नहीं है जो सचिन के रिकॉर्ड को चैलेंज कर सके। इसका जवाब भी सचिन ने ही दे दिया था। एक समारोह के दौरान सचिन ने कहा कि विराट कोहली और रोहित शर्मा उनके 100 शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ने की काबिलियत रखते हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे चौथे वनडे में शतक लगाने वाले विराट कोहली के बारे में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि विराट कोहली की बल्लेबाजी में सचिन जैसी चमक दिखती है। ब्रेट ली की इस बात से कई समीक्षक इत्तेफाक रखते हैं तो कई इस तुलना को सही नहीं मानते क्योंकि उनके हिसाब से कोहली अभी युवा हैं। लेकिन अगर गौर करें तो विराट अब जीवन के 27 वसंत देख चुके हैं और अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में लगभग 8 साल का वक्त गुजार चुके हैं। विराट खुद को एक परिपक्व बल्लेबाज के रूप में स्थापित भी कर चुके है। तो अब विराट को युवा की श्रेणी में नही रखा जा सकता। अब रिकॉर्ड की समीक्षा के आधार पर सचिन के साथ विराट की तुलना को अतार्किक नहीं कहा जा सकता है।

Statistical comparison of Virat Kohli and Sachin Tendulkar after 170 ODIs
फोटो साभार: Getty Images
अपने शानदार खेल की बदौलत विराट कोहली खुद को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के महान बल्लेबाजों की शुमार में शामिल करा चुके हैं। खासकर वनडे क्रिकेट में विराट कोहली का प्रदर्शन लाजवाब है। विराट मौजूदा वनडे क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है। लेकिन क्या कोहली को वनडे क्रिकेट इतिहास का बेस्ट बल्लेबाज कहा जा सकता है? आइए सचिन और विराट के आंकड़ों पर नजर डालते हैं और तुलना करते हैं कि बेहतर कौन है?

    ODI

Mat 

 Inns 

 NO 

 Runs  

HS  

Ave  

BF  

SR  

100

 50 

 VIRAT

170 

 162 

23 

7204  

 183  

 51.82 

 8005 

89.99 

25 

36 

 SACHIN

170 

 165 

15 

5746  

137  

38.30 

6971 

82.42 

12 

35 

विराट कोहली अब तक खेले 170 मैचों में लगभग 52 की शानदार औसत से 7,204 रन बना चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 25 शतक लगाए हैं, मतलब वो कुमार संगाकारा के शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी कर चुके हैं और सचिन के 49 शतकों के रिकॉर्ड की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर 170 मैचों में सचिन के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो विराट सचिन से कही बेहतर बल्लेबाज नजर आते हैं। सचिन ने 170 वनडे मैचों तक अपने वनडे करियर में 38.30 की औसत से कुल 5,746 रन बनाएं थे, जिनमें उन्होने 12 शतक और 35 अर्धशतक लगाए थे। वनडे के 170 मैचों तक के सफर में विराट सचिन से कही बेहतर नजर आते हैं। रन बनाने के मामले में सचिन विराट से लगभग 1,500 रन पीछे हैं तो रन बनाने की औसत में भी 14 रन प्रति मैच का अंतर है।

Statistical comparison of Virat Kohli and Sachin Tendulkar after 170 ODIs
फोटो साभार: Getty Images
सबसे महत्वपूर्ण सचिन ने 170 मैचों तक सिर्फ 12 शतक जमाए थे जबकि इतने ही मैचों में विराट ने 25 शतक लगाए हैं। इस लिहाज से देखें तो सचिन का ये मानना की उनके शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ने की काबिलियत विराट के पास है बिल्कुल सही साबित होता दिख रहा है। मौजूदा दौर के एक और बल्लेबाज हाशिम अमला का जिक्र जरूरी है क्योंकि उनका रिकॉर्ड भी काबिलेतारीफ है। अमला ने अब तक खेले अपने 126 वनडे मैचों में 52.70 की औसत से 6,008 रन बनाए हैं। शतक लगाने के औसत को देखे तो हाशिम अमला, सचिन और विराट दोनो से बेहतर हैं। हाशिम अमला ने 126 मैचों में 21 शतक लगाए हैं। लेकिन अमला की उम्र लगभग 33 साल है इस लिहाज से अंतराष्ट्रीय करियर ज्यादा नहीं बचा है। तो उनको इस तुलना में शामिल करना बेमानी होगी।

Statistical comparison of Virat Kohli and Sachin Tendulkar after 170 ODIs
फोटो साभार: IANS
विराट जिस तेजी से अपने खेल के स्तर को ऊपर ले जा रहे हैं इससे कई लोगों को ये भरोसा हो चुका है कि वो सचिन के वनडे के रनों और शतकों को तोड़ सकते है। सौरव गांगुली और सुनिल गावस्कर जैसे महान खिलाड़ियों को भरोसा है कि विराट के लिए सचिन का रिकॉर्ड तोड़ना बहुत बड़ी चुनौती नहीं है। टीम को जीत दिलाने में भी विराट का कोई सानी नहीं है। विराट ने कुल 25 शतक जमाएं हैं जिनमें 21 मौकों पर टीम इंडिया ने जीत का स्वाद चखा है, जबकि 4 मौकों पर हार का सामना करना पड़ा। लक्ष्य का पीछा करते हुए विराट और भी विराट हो जाते हैं। वनडे के 25 शतकों में 15 उन्होने लक्ष्य का पीछा करते हुए लगाए हैं। जो लक्ष्य का पीछा करते हुए लगाए गए सचिन के 17 शतकों के रिकॉर्ड से ज्यादा दूर नहीं दिखता। बाद में बल्लेबाजी करते हुए टीम को जीत दिलाने की ये क्षमता भी विराट को एक बेहतर बल्लेबाज साबित करती है। [इसे भी पढ़ें-]

इन आंकड़ों को देखने पर यही लगता है कि विराट सचिन से बेहतर बल्लेबाज हैं और सचिन के रिकॉर्ड तोड़ने का दमखम रखते है, लेकिन ये इतना आसान भी नही होने वाला है सचिन के शतकों का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए विराट को अभी 25 शतक और बनाने होंगे, तो रनों के रिकॉर्ड को तोड़ना तो सपनों सरीखा है। विराट वनडे में अभी 7 हजार रन तक पहुंचे हैं तो इस हिसाब से सचिन के रनों के रिकॉर्ड के आस-पास भी नहीं हैं। इस लिहाज से 24 साल तक क्रिकेट की सेवा करने वाले सचिन की बराबरी करना इतना आसान भी नही है।

Statistical comparison of Virat Kohli and Sachin Tendulkar after 170 ODIs
फोटो साभार: Getty Images
हां, विराट ने इसकी काबिलियत जरूर दिखाई है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में कमेंट्री कर रहे अकरम ने विराट के बारे में एक खुलासा किया। अकरम ने बताया कि पहले मैच के दौरान जब विराट शतक से चूक गए थे तो उन्होंने विराट से बात की थी और विराट ने कहा था कि आज मैं शतक से चूक गया लेकिन सीरीज में दो शतक जरूर बनाऊंगा और विराट ने अपनी इस बात को पूरा किया। विराट के अंदर रन बनाने की जो जिद है वो इस बात से साफ जाहिर होता है।

Statistical comparison of Virat Kohli and Sachin Tendulkar after 170 ODIs
फोटो साभार: Getty Images
विराट किस तेजी से अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में आगे बढ़ेंगे और वनडे क्रिकेट के कौन-कौन से रिकॉर्ड अपने नाम करेंगे ये तो आने वाला वक्त बताएगा, लेकिन वो वनडे के महानतम बल्लेबाज बनने में की राह पर निकल चुके हैं और मौजूदा समय में वनडे क्रिकेट के महानतम खिलाड़ी हैं। विराट के चाहने वालों को उस दिन का इंतजार है जब वो सचिन के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर विश्व के महानतम बल्लेबाज का खिताब हासिल करेंगे।