The Ashes 2017-18: Dawid Malan’s unique feat and other stats from Australia vs England, 3rd Test
ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों ने एशेज सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है © Getty Images

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरे एशेज टेस्ट में मेजबान टीम ने एक पारी और 41 रनों से जीत हासिल की है। इसी जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया ने पांच मैचों की इस सीरीज में 3-0 से कब्जा कर लिया है। एक बार फिर एशेज की ट्रॉफी ऑस्ट्रेलिया लौट आई है। मेहमान टीम शुरुआत से ही मुकाबले से बाहर दिख रही थी। इस पूरी सीरीज में इंग्लैंड के सबसे अहम खिलाड़ी एलेस्टर कुक और जो रूट पूरी तरह फ्लॉप रहे। पहली पारी में 403 का स्कोर बनाने के बाद भी इंग्लैंड टीम ये मैच हार गई।

पर्थ में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इंग्लिश बल्लेबाज

बल्लेबाजों में डेविड मलान ने दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी की। पहली पारी में मलान ने शानदार शतक जड़ा, वहीं दूसरी पारी में भी उन्होंने अर्धशतक बनाया। इसी के साथ मलान इंग्लैंड के लिए पर्थ में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाले खिलाड़ी बने। मलान ने दोनों पारियों को मिलाकर कुल 194 रन बनाए हैं। उनसे पहले ये रिकॉर्ड डेरेक रैंडल के नाम था, जिन्होंने 1982 में पर्थ टेस्ट में 193 रन बनाए थे। इस दौरान इंग्लैंड टीम ने भी कई रिकॉर्ड बनाए हैं, जिन पर टीम को बिल्कुल भी खुशी नहीं होगी।

पहली पारी में 400 से ज्यादा रन बनाने के बाद एक पारी के अंतर से सबसे ज्यादा बार टेस्ट मैच हारने वाली टीम

पर्थ टेस्ट: इंग्लैंड को एक पारी, 41 रनों से हरा ऑस्ट्रेलिया ने एशेज सीरीज पर कब्जा किया
पर्थ टेस्ट: इंग्लैंड को एक पारी, 41 रनों से हरा ऑस्ट्रेलिया ने एशेज सीरीज पर कब्जा किया

पर्थ टेस्ट की पहली पारी में इंग्लैंड टीम ने 403 का स्कोर बनाया था। जिसके बाद लग रहा था कि टीम मैच जीत सकती है लेकिन इंग्लिश गेंदबाज ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ को रोकने में नाकाम रहे। नतीजा ये रहा कि स्मिथ ने दोहरा शतक जड़ दिया और ऑस्ट्रेलिया ने 662 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया। ये पहला मौका नहीं है जब पहली पारी में 400 के करीब स्कोर बनाकर भी एक पारी के बड़े अंतर से इंग्लैंड कोई टेस्ट मैच हारी हो। इंग्लैंड टीम 1930 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, 2016 में दो बार भारत के खिलाफ इसी तरह से हार चुकी है। पर्थ टेस्ट में हार के बाद इंग्लैंड पहली पारी में 400 से ज्यादा का स्कोर बनाने के बाद एक पारी के अंतर से सबसे ज्यादा बार हारने वाली टीम बन गई है।

एक ही मैदान पर सबसे ज्यादा बार हारने वाली टीम

इंग्लैंड के लिए पर्थ का वाका स्टेडियम कभी भी लकी नहीं रहा है। इंग्लैंड ने पर्थ के मैदान पर 1974 से लेकर अब तक इस मैदान पर इंग्लैंड ने कुल 10 टेस्ट मैच हारे हैं। सभी मैचों में विपक्षी टीम ऑस्ट्रेलिया ही थी। एशेज सीरीज की बात करें तो इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में 13 टेस्ट मैच खेले गए हैं। यहां भी कंगारू टीम का पलड़ा भारी है, ऑस्ट्रेलिया ने 13 में से 9 मैच जीते हैं, वहीं 3 मैच ड्रॉ रहे हैं। इंग्लैंड के खाते में केवल एक ही मैच आया है। इसी के साथ इंग्लैंड पर्थ के मैदान पर सबसे ज्यादा टेस्ट मैच हारने वाली टीम बन गई है। साथ ही इंग्लैंड पर्थ पर हारे हुए मैच में सबसे ज्यादा 403 रन बनाने वाले टीम बन गई है। इससे पहले ये रिकॉर्ड टीम इंडिया (402) के नाम था।

ऑस्ट्रेलिया में सबसे ज्यादा एशेज टेस्ट मैच हारने वाला इंग्लिश खिलाड़ी

इंग्लैंड टीम के पूर्व कप्तान और सबसे अहम बल्लेबाज एलेस्टर कुक ने अपने टेस्ट करियर में ऑस्ट्रेलिया में कुल 14 एशेज मैच सीरीज हार चुके हैं। कुक जैक होब्स के साथ ऑस्ट्रेलिया की जमीन पर सबसे ज्यादा एशेज टेस्ट हारने वाले इंग्लिश क्रिकेटरों की सूची में टॉप पर हैं। कुक ने इस सीरीज में अब तक खेले 3 मैचों में केवल 83 रन बनाए हैं।