Umpire Wilson’s decision is overturned On hanuma Vihari

इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी मैच में हनुमा विहारी ने अपना टेस्ट डेब्यू किया। अपना पहला मैच खेल रहे हनुमा को शून्य पर आउट दे दिया गया था लेकिन रिव्यू के बाद थर्ड अंपायर ने फैसला बदल दिया।

भारतीय टीम की तरफ से सीरीज के आखिरी मैच में हार्दिक पांड्या को बाहर कर हनुमा विहारी को प्लेइंग इलेवन में जगह दी गई। हनुमा भारत की तरफ से टेस्ट खेलने वाले 292वें खिलाड़ी बनें।

फील्ड अंपायर ने दे दिया था आउट

घरेलू क्रिकेट में धमाकेदार प्रदर्शन करने के बाद हनुमा विहारी को टीम में जगह मिली थी। हनुमा 36वें ओवर की पांचवीं गेंद पर स्टुअर्ट ब्रॉड ने जोरदार अपील किया लेकिन रिप्ले में देखने पर पता चला गेंद स्टंप के उपर लगती। 37.1 ओवर में ब्रॉर्ड ने अपील की और अंपायर विल्सन ने आउट दे दिया। एक रन पर पहुंचे हनुमा ने रिव्यू लिया और थर्ड अंपायर ने फील्ड अंपायर का फैसला बदल दिया।

कोहली के साथ निभाई अर्धशतकीय साझेदारी

हनुमा ने अजिंक्य रहाणे का विकेट गिरने के बाद मैदान पर कदम रखा था। भारत की स्कोर 4 विकेट के नुकसान पर 103 रन था। इस नाजुक हालात में हनुमा ने कप्तान विराट कोहली के साथ मिलकर टीम को संभाला। कोहली के साथ मिलकर डेब्यू कर रहे हनुमा ने 51 रन की साझेदारी निभाई। इस साझेदारी में कोहली ने 27 तो हनुमा ने 22 रन बनाए।

हनुमा ने खुलकर की बल्लेबाजी

चार विकेट गिरने के बाद मैदान पर आए हनुमा ने भले ही शुरुआत 9वीं गेंद पर की हो लेकिन उसके बाद उन्होंने बड़े आराम के इंग्लिश गेंदबाजों का सामना किया। हनुमा ने दूसरे दिन 50 गेंद पर 25 रन बनाए जिसमें तीन चौके के साथ एक छक्का भी शामिल था।